उत्तराखंड: आकर्षण का केंद्र बना पहाड़ों के बीच खुला ये 'नैनी विलेज मॅाल'

 मुक्तेश्वर क्षेत्र में पर्यटन गतिविधियां बढ़ती देख चंदन ने गुड़गांव की नौकरी छोड़ अपने गांव में एक छोटा सा मॉल खोलना बेहतर समझा. इस मॅाल में फल, सब्जी और खाने-पीने के साथ सभी जरूरी सामान मौजूद हैं. 

उत्तराखंड: आकर्षण का केंद्र बना पहाड़ों के बीच खुला ये 'नैनी विलेज मॅाल'
छोटा सा मॉल रिवर्स पलायन की कहानी पेश करता है

नैनीताल: नैनीताल जिले के मुक्तेश्वर इलाके में स्थित सुनकिया गांव में रोजमर्रा की जरूरत के सामानों के लिए एक छोटा मॉल खोला है. जो ना सिर्फ स्थानीय लोगों के लिए बल्कि सैलानियों के लिए भी आकर्षण का केंद्र बना हुआ है. ये छोटा सा मॉल रिवर्स पलायन की कहानी पेश करता है. 

पहाड़ के युवा दिल्ली, गुड़गांव, नोएडा और मैदानी शहरों में रोजगार के लिए जाते हैं, ठीक वैसे ही चंदन बिष्ट भी पिछले 12 वर्षों से महानगरों में नौकरी कर रहे थे. मुक्तेश्वर क्षेत्र में पर्यटन गतिविधियां बढ़ती देख चंदन ने गुड़गांव की नौकरी छोड़ अपने गांव में एक छोटा सा मॉल खोलना बेहतर समझा. इस मॅाल में फल, सब्जी और खाने-पीने के साथ सभी जरूरी सामान मौजूद हैं. 

चंदन बताते है गांव में भटेलिया के पास उनकी एक छोटी दुकान थी. उन्होंने थोड़ी रिसर्च की और फिर ये छोटा मॉल खोल दिया. चंदन बिष्ट का कहना है कि उन्होंने ना सिर्फ गांव में अपने लिए स्वरोजगार शुरू किया है बल्कि इससे वे अपने साथ गांव के एक दर्जन युवाओं को रोजगार भी मुहैया करा रहे हैं. चंदन की इस कोशिश से गांव के युवा भी काफी उत्साहित हैं. 

इस मॉल के खुलने से ना केवल स्थानीय लोगों और पर्यटकों को बल्कि साथ ही मुक्तेश्वर के आस पास लगभग 10 किमी के दायरे में स्थित करीब 20 से 25 गांवों को भी फायदा मिल रहा है. अब बड़ी संख्या में रिजॉर्ट और होटल कारोबारियों को समान के लिए हल्द्वानी और नैनीताल जाने की जरूरत नही पड़ती. चंदन सिंह बिष्ट बताते हैं कि पीएम मोदी के स्टार्टअप योजना से उन्हें काफी प्रेरणा मिल रही है और अब वे कई युवाओं को मार्गदर्शन भी दे रहे हैं.