UP: पराली जलाना पड़ रहा भारी, पीलीभीत में 100 लोगों पर हुई FIR, लगाया 6 लाख का जुर्माना

पीलीभीत में पिछले दस दिन में पराली जलाने पर 100 FIR दर्ज की गई हैं.

UP: पराली जलाना पड़ रहा भारी, पीलीभीत में 100 लोगों पर हुई FIR, लगाया 6 लाख का जुर्माना
पराली जलाने की घटनाओं पर रोक लगाने में लापरवाही बरतने वाले 8 लेखपालों और एक कानूनगो पर भी कार्रवाई हुई है.(फाइल फोटो)

पीलीभीत: बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए उत्तरप्रदेश में पराली जलाने वालों के खिलाफ प्रशासन की कार्रवाई जारी है. पीलीभीत में पिछले दस दिन में ताबड़तोड़ कार्रवाई करते हुए 100 FIR दर्ज की गई हैं. जिसमें करीब 300 किसानों को नामजद किया गया है. वहीं 50 से ज्यादा किसानों को गिरफ्तार कर जेल भेजने की कार्रवाई की गई है. किसानों से करीब 6 लाख से ज्यादा का जुर्माना भी वसूला गया है.

पराली जलाने की घटनाओं पर रोक लगाने में लापरवाही बरतने वाले 8 लेखपालों और एक कानूनगो पर भी कार्रवाई हुई है. जिलाधिकारी ने इन सभी को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है. उधर SP ने एक दारोगा को लाइन हाजिर और 4 कॉन्स्टेबल को नोटिस जारी किया है. एक कोतवाल का ट्रांसफर भी कर दिया गया है.

गौरतलब है कि पराली की घटनाओं को रोकने के लिए प्रशासनिक अधिकारी खुद ग्राउंड पर हैं. जिलाधिकारी खुद किसानों से बात कर रहे हैं. वहीं एसडीएम किसानों से पराली न जलाने की अपील कर रहे हैं. डीएम वैभव श्रीवास्तव का कहना है कि किसानों पर भले ही कार्रवाई की गयी हो, लेकिन प्रशासन का मकसद पर्यावरण को लेकर किसानों को जागरूक करना है. डीएम ने सभी ग्राम प्रधानों को भी निर्देशित किया है, कि किसानों को पराली जलाने से रोकें, वरना ग्राम प्रधानों के अधिकार सीज़ कर दिए जाएंगे.

मथुरा में भी पराली जलाने वालों के खिलाफ जिला प्रशासन सख्त
बता दें कि मथुरा में भी बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए पराली जलाने वालों के खिलाफ जिला प्रशासन ने कार्रवाई की है. जिले में अब तक 16 किसानों को जेल भेजा चुका है. वहीं लापरवाही बरतने के मामले में छाता तहसील के 2 लेखपालों को निलंबित कर दिया है.