close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पुलिस की गिरफ्त में R Sons कंपनी का PRO, प्लॉट दिलाने के नाम पर हड़पता था पैसे

गिरफ्तार शातिर जालसाज तरुण सिन्हा के खिलाफ पुलिस ने थाना गोमतीनगर में 41 मुकदमें और थाना गाजीपुर में 5 मुकदमे दर्ज किए हैं. 

पुलिस की गिरफ्त में R Sons कंपनी का PRO, प्लॉट दिलाने के नाम पर हड़पता था पैसे
प्रतीकात्मक तस्वीर

लखनऊ: जालसाजी और धोखाधड़ी (Fraud) करने वालो के विरुद्ध चलाए जा रहे ऑपरेशन 420 (Operation 420) के तहत लखनऊ पुलिस (Lucknow Police) के हाथ लगी एक और बड़ी सफलता, थाना गोमतीनगर पुलिस ने प्लॉट बेचने के नाम पर रुपए हड़पने वाला आरसन्स इंफ्रालैंड डेवलपर्स प्राइवेट लिमिटेड कंपनी का शातिर जालसाज गिरफ्तार (Arrest) कर लिया है. 

गिरफ्तार शातिर जालसाज तरुण सिन्हा आर सन्स कंपनी में जनसंपर्क अधिकारी था, जो आने वाले व्यक्तियों से संपर्क कर उन्हें झांसे में फंसा कर एमडी आशीष श्रीवास्तव से मिलवाकर प्लॉट दिलाने के नाम पर पैसे हड़पता था. 

पुलिस ने आरोपी के खिलाफ थाना गोमतीनगर में 41 मुकदमें और थाना गाजीपुर में 5 मुकदमे दर्ज किए हैं. 

इससे पहले पुलिस ने अक्टूबर में इसी कंपनी के दो अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया था. गिरफ्तार रामसेवक आर सन्स कंपनी में कार्यरत था और उसके एमडी आशीष श्रीवास्तव की गाड़ी चलाता था. एमडी दारा ने कुछ जमीन इसके नाम करवा रखी थी.

लाइव टीवी देखें

 जालसाज रामसेवक के एएमडी के नजदीकी होने के कारण आम लोग इसके झांसे में आ जाते थे और प्लॉट के नाम पर लोग कंपनी में रुपए लगाते थे. कुछ व्यक्तियों को प्लॉट की रजिस्ट्री भी जालसाज रामसेवक अपने हस्ताक्षर से कर देता था और रुपए ले लेता था.

 उसके गैंग के सरगना आशीष श्रीवास्तव को पूर्व में ही थाना गोमतीनगर पुलिस ने गिरफ्तार किया कर लिया है. गिरफ्तार किए गए शातिर जालसाज रामसेवक के विरुद्ध थाना गोमतीनगर पर 22 मुकदमें पंजीकृत हैं. जिन मुकदमों में रामसेवक वॉन्टेड था.