पुलवामा आतंकी हमले में उत्तर प्रदेश के 12 जवान शहीद, सरकार ने की 25 लाख मुआवजे की घोषणा

शहीदों के परिजनों को 25-25 लाख अनुग्रह राशि और परिवार के एक व्यक्ति को राज्य सरकार की ओर से नौकरी और जवानों के पैतृक गांव के संपर्क मार्ग का नामकरण जवानों के नाम पर किए जाने की घोषणा की है.

पुलवामा आतंकी हमले में उत्तर प्रदेश के 12 जवान शहीद, सरकार ने की 25 लाख मुआवजे की घोषणा
शहीद जवानों का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ होगा.

लखनऊः जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद 44 जवानों में से 12 जवान उत्तर प्रदेश के हैं, जिनकी शहादत की खबर सुनने के बाद शहीदों के घरों में मातम पसरा हुआ है. परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है. बिहार के भागलपुर के रतन ठाकुर भी इस हमले में शहीद हो गए है. बेटे की शहादत की खबर मिलते ही पूरे इलाके में शोक की लहर है. वहीं आतंकी हमले में शहीद हुए सभी जवानों और उनके परिजनों की स्थिति के प्रति दुख जताते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दुख जताया है और शहीदों के परिजनों को 25-25 लाख अनुग्रह राशि और परिवार के एक व्यक्ति को राज्य सरकार की ओर से नौकरी और जवानों के पैतृक गांव के संपर्क मार्ग का नामकरण जवानों के नाम पर किए जाने की घोषणा की है.

जवानों की शहादत से गुस्‍से में CRPF, कहा- 'ना भूलेंगे और ना ही माफ करेंगे, हमले का बदला लेंगे'

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आतंकवादी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के वीर जवानों की शहादत को शत-शत नमन करते हुए उनके परिजनों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि 'शहीद होने वाले जवानों में उत्तर प्रदेश के 12 जवान हैं जो कि चन्दौली, महराजगंज, शामली, देवरिया, मैनपुरी, वाराणसी, कन्नौज, कानपुर देहात तथा उन्नाव के निवासी हैं. प्रदेश सरकार प्रत्येक शहीद जवान के परिवार को 25 लाख रुपये की अनुग्रह राशि तथा परिवार के एक व्यक्ति को नौकरी देगी.'

MFN का दर्जा छिनने से कंगाल पाकिस्‍तान की टूटेगी 'कमर', होगा खरबों का नुकसान

गृह विभाग की ओर से जारी एक बयान के मुताबिक चंदौली के अवधेश कुमार यादव, महाराजगंज के पंकज कुमार त्रिपाठी, शामली के अमित कुमार, शामली के ही प्रदीप कुमार, देवरिया के विजय कुमार मौर्य, मैनपुरी के राम वकील, इलाहाबाद के महेश कुमार, वाराणसी के रमेश यादव, आगरा के कौशल कुमार रावत, कन्नौज के प्रदीप सिंह, कानपुर देहात के श्याम बाबू तथा उन्नाव के अजित कुमार आजाद शामिल हैं. सूचना विभाग की ओर से जारी बयान के अनुसार शहीद जवानों का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ होगा जिसमें प्रदेश के मंत्री, जनप्रतिनिधि और जिला प्रशासन के अधिकारी मौजूद रहेंगे.