close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

यहां आधी रात में लोगों ने शुरू किया राशन इकट्ठा करना, जानें क्या है पूरा माजरा

सोशल मीडिया पर मैसेज हिंदी और उर्दू दोनों भाषाओं में किया गया था, जिसमें बुधवार से कर्फ्यू लगने की बात लिखी थी. डीएम ने निर्देश दिए हैं कि जिले में शांतिपूर्ण माहौल है और ऐसी अफवाहें बर्दाश्त नहीं की जाएंगी.  

यहां आधी रात में लोगों ने शुरू किया राशन इकट्ठा करना, जानें क्या है पूरा माजरा
फाइल फोटो

सहारनपुर: अयोध्या मामले (Ayodhya Case) में फैसले की घड़ी जैसे ही नजदीक आ रही है वैसे ही सोशल मीडिया (Social Media) पर अफवाहों का दौर भी गरमाने लगा है. ऐसी ही अफवाह सहारनपुर (Saharanpur) में सोशल मीडिया के जरिये फैली कि सभी लोग शाम तक जागते रहें. इस अफवाह के बाद लोगों ने अपने घरों में राशन इकट्ठा करना भी शुरू कर दिया. जब इस बात की खबर जिले के डीएम आलोक पाण्डेय को लगी तो उन्होंने सोशल मीडिया पर निगरानी के आदेश देते हुए अफवाह फैलाने वालों पर कार्रवाई की बात कही है.


डीएम आलोक पाण्डेय.

 

जानकारी के मुताबिक, सोशल मीडिया पर मैसेज हिंदी और उर्दू दोनों भाषाओं में किया गया था, जिसमें बुधवार से कर्फ्यू लगने की बात लिखी थी. इसके बाद व्यापारी वर्ग काफी चिंतित हो गया था. लेकिन डीएम ने निर्देश दिए हैं कि जिले में शांतिपूर्ण माहौल है और ऐसी अफवाहें बर्दाश्त नहीं की जाएंगी.

आपको बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मुद्दे पर फैसले की घड़ियां जैसे-जैसे नजदीक आती जा रही हैं, प्रदेश में कानून व्यवस्था कायम रखने वाली एजेंसियां भी पूरी तरह से मुस्तैद हो रही हैं. पुलिस वाहनों की मरम्मत की जा रही है, हथियारशालाओं का दोबारा दौरा कर यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि ये अंतिम समय में धोखा न दे जाएं और जन संवाद प्रणाली का भी परीक्षण किया जा रहा है. 

पुलिस मुख्यालय ने सांप्रदायिक रूप से संवेदनशील 34 जिलों के पुलिस प्रमुखों को भी निर्देश जारी कर दिए हैं. इन जिलों में मेरठ, आगरा, अलीगढ़, रामपुर, बरेली, फिरोजाबाद, कानपुर, लखनऊ, शाहजहांपुर, शामली, मुजफ्फरनगर, बुलंदशहर और आजमगढ़ आदि हैं.