सीतापुर: खेत पर गया था मासूम, कुत्तों के झुंड ने नोंच-नोंचकर मार डाला

प्रियांशु को खेत में बैठाकर जब पिता काम करने लगे, तभी अचानक खेत में आधा दर्जन से ज्यादा आवारा कुत्ते पहुंच गए और 5 साल के मासूम प्रियांशु को अकेला देखकर कुत्तों ने उस पर हमला बोल दिया.

सीतापुर: खेत पर गया था मासूम, कुत्तों के झुंड ने नोंच-नोंचकर मार डाला
घटना के बाद मासूम के घर में लगी लोगों की भीड़. इनसेट में मृतक प्रियांशु.

सीतापुर, (राजकुमार दीक्षित): उत्तर प्रदेश का सीतापुर एक बार फिर आवारा कुत्तों के के चलते चर्चा में आ गया है. इस बार आवारा कुत्तों ने महमूदाबाद कोतवाली क्षेत्र में एक मासूम को अपना निवाला बनाया. घटना उस समय हुई जब मासूम प्रियांशु अपने पिता के साथ सुबह खेत पर गया हुआ था. प्रियांशु को खेत में बैठाकर जब पिता काम करने लगे, तभी अचानक खेत में आधा दर्जन से ज्यादा आवारा कुत्ते पहुंच गए और 5 साल के मासूम प्रियांशु को अकेला देखकर कुत्तों ने उस पर हमला बोल दिया.

मासूम प्रियांशु के चिल्लाने की आवाज सुनकर उसका पिता डंडा लेकर दौड़ पड़ा, लेकिन अपने बेटे के पास पहुंचते-पहुंचते उसे काफी देर हो चुकी थी. जब तक प्रियांशु को बचाने के लिए उसका पिता मौके पर पहुंचता, उससे पहले ही आवारा कुत्तों के हमले में प्रियांशु की मौत हो गई थी. इस घटना की जानकारी जैसे ही इलाके के लोगों को हुई वैसे ही लोग घटनास्थल पर पहुंच गए. आवारा कुत्तों के हमले की घटना को लेकर बेहटी  गांव से लेकर आस-पास के इलाकों में दहशत का माहौल व्याप्त हो गया. यह पूरा मामला महमूदाबाद कोतवाली इलाके के बेहटी का है.

 

महमूदाबाद के बेहटी में आवारा कुत्तों के हमले में हुए मासूम की मौत की घटना से राजधानी से सटे जनपद सीतापुर एक बार फिर सुर्खियों में आ गया है. आपको बताते कि पिछले साल सीतापुर में आदमखोर कुत्तों के हमले में 14 मासूम बच्चों की मौतें हो गई थी, जबकि आवारा कुत्तों के हमले में 35 मासूम घायल हो गए थे. आवारा कुत्तों के हमले को लेकर पूरे जनपद को हिला कर रख दिया था. इतना ही नहीं घटना को संज्ञान लेते हुए सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भी सीतापुर में आना पड़ा था. 

वहीं, इस घटना को लेकर एडीएम विनय कुमार पाठक का कहना है कि सूचना मिली है कि प्रियांशु नाम के एक बच्चे की मौत हो गई है. उसके लिए हम लोगों ने डीएफओ और वेटनरी अफसर व एसडीएम को मौके पर भेजा है. उन्होंने कहा कि पूरे मामले की जांच की जा रही है, उसके बाद ही आगे कुछ कहा जा सकता है.