वर्तिका सिंह के आरोप पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का जवाब, कहा-प्यादों के सहारे साजिश रच रही कांग्रेस

केंद्रीय कपड़ा मंत्री ने कहा, ''तीनों FIR फर्जी हैं. यह सब कांग्रेस द्वारा किया जा रहा है. भारत सरकार के उपक्रम के आधार पर तीन फर्जीवाड़े के दस्तावेज लिखे गए. इस महिला पर पहले भी दो संदिग्ध मामलों में अयोध्या और लखनऊ में FIR दर्ज हैं. 

वर्तिका सिंह के आरोप पर केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का जवाब, कहा-प्यादों के सहारे साजिश रच रही कांग्रेस

अमेठी: अमेठी में अपने तीन दिवसीय दौरे के दूसरे दिन केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने एक बार फिर गांधी परिवार पर हमला बोला. उन्होंने सम्राट साइकिल का मुद्दा उठाते हुए गांधी परिवार पर तंज कसा. इसके अलावा केंद्रीय कपड़ा मंत्री ने उन पर इंटरनेशनल शूटर वर्तिका सिंह द्वारा लगाए आरोपों पर सफाई दी. अमेठी सांसद ने कहा कि ये कांग्रेस की रची गयी साजिश है और उन्होंने ऐसे प्यादे खड़े किए हैं. वर्तिका सिंह के कांग्रेस पार्टी से घनिष्ठ संबंध हैं. 

केंद्रीय कपड़ा मंत्री ने कहा, ''तीनों FIR फर्जी हैं. यह सब कांग्रेस द्वारा किया जा रहा है. भारत सरकार के उपक्रम के आधार पर तीन फर्जीवाड़े के दस्तावेज लिखे गए. इस महिला पर पहले भी दो संदिग्ध मामलों में अयोध्या और लखनऊ में FIR दर्ज हैं. उन्होंने कहा कि भले ही अमेठी कांग्रेस पार्टी गढ़ रहा था, लेकिन कांग्रेस ऐसे प्यादों को न खड़ा करे, जिनका डायरेक्ट संबंध कांग्रेस से है.''

इंटरनेशनल शूटर ने केन्द्रीय मंत्री पर लगाया ठगी का आरोप, दर्ज कराया मुकदमा

क्या है पूरा मामला
प्रतापगढ़ की रहने वाली इंटरनेशनल शूटर वर्तिका सिंह ने आरोप लगाया है कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के करीबियों ने केंद्रीय महिला आयोग की सदस्य बनाने का फर्जी लेटर जारी किया. पहले महिला आयोग की सदस्य बनाने के लिए एक करोड़ रुपए का रेट बताया गया था. वर्तिका ने आरोप लगाया कि इसके बाद उनकी अच्छी प्रोफाइल का हवाला देते हुए उनसे 25 लाख रुपए की डिमांड की गई. उनका यह भी आरोप लगाया कि मंत्री के करीबी ने उनसे सोशल साइट पर लूज-टॉक भी की. जब उन्होंने भ्रष्टाचार को उजागर करने की धमकी दी तो इससे बौखलाकर विजय गुप्ता ने उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा दिया. 

2 जनवरी को कोर्ट में सुनवाई
वर्तिका का आरोप है कि उसने इस मामले की शिकायत कई जिम्मेदार अफसरों से भी की, लेकिन सुनवाई नहीं होने के चलते उन्होंने कोर्ट की शरण ली. वर्तिका सिंह की ओर से कोर्ट में अश्लील चैट और वीडियो के सबूत भी सौंपे गए हैं. इस मामले पर आगामी 2 जनवरी, 2021 को एमपी-एमएलए कोर्ट में सुनवाई होनी है. 

योगी सरकार ने रचा नया कीर्तिमान, मुख्यमंत्री कोष से 58 हजार गरीबों को दी नई जिंदगी

वर्तिका के खिलाफ दर्ज IAS ने दर्ज करवाया था मामला 
इस मामले में एक और FIR दर्ज होने की बात भी सामने आई है. इस FIR को सीनियर IAS अधिकारी एमसी जौहरी की तरफ से दर्ज करवाया गया. नवंबर में दर्ज इस FIR के मुताबिक उनके नाम से जो चिट्ठी प्रतापगढ़ एसपी को लिखी गई, वो फर्जी है. जिस चिट्ठी को आईएएस अधिकारी एमसी जौहरी द्वारा फर्जी बताया जा रहा है, उस चिट्ठी में लिखा गया था कि महिला आयोग में वर्तिका सिंह की बतौर सदस्य नियुक्ति की प्रक्रिया चल रही है. जिस संबंध में एसपी प्रतापगढ़ से वर्तिका सिंह का बैकग्राउंड चेक कराने की गुजारिश की गई थी.

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने भी दर्ज करायी शिकायत
बता दें की 20 नवंबर, 2020 को महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा दिल्ली में स्थित पार्लियामेंट स्ट्रीट थाने में शिकायत दर्ज कराई गयी थी. इस शिकायत में बताया गया था कि एक फर्जी दस्तावेज़ संज्ञान में आया है, जिस पर किसी वर्तिका सिंह को महिला आयोग का सदस्य बनाने को कहा गया है, वो फर्जी है. महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने अपनी शिकायत में इसकी जांच कराने की मांग की थी. अगले ही दिन मतलब 21 नवंबर, 2020 को IAS अधिकारी एमसी जौहरी ने भी पार्लियामेंट स्ट्रीट थाने में एक शिकायत दर्ज कराई, जिसमे उन्होने कहा कि उनके लेटरहेड का फर्जी तरीके से इस्तेमाल हुआ है, जिसकी जांच होनी चाहिए.

WATCH LIVE TV