यूपी चुनाव के केंद्र में इस बार ब्राह्मण मतदाता, BSP के बाद सपा ने शुरू की लुभाने की तैयारी

बहुजन समाज पार्टी ने ब्राह्मणों को फोकस में रखकर अयोध्या से 'प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन' सम्मेलन की शुरुआत की. अब समाजवादी पार्टी ने भी ब्राह्मण मतदाताओं को लुभाने की कवायद शुरू कर दी है.

यूपी चुनाव के केंद्र में इस बार ब्राह्मण मतदाता, BSP के बाद सपा ने शुरू की लुभाने की तैयारी
अखिलेश यादव ने सपा कार्यालय में पार्टी के ब्राह्मण नेताओं से मुलाकात किया.

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में अगले साल की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक दल विभिन्न जातियों को अपने पक्ष में करने के लिए डोरे डालने लगे हैं. पहले ओबीसी, दलित व मुस्लिम वोट बैंक इन पार्टियों की नजर ज्यादा हुआ करती थी, लेकिन 2022 यूपी​ विधानसभा चुनाव के केंद्र में ब्राह्मण रहने वाले हैं ऐसा प्रतीत हो रहा है.

यूपी चुनाव 2022: दिग्गजों को चुनाव मैदान में उतारेगी भाजपा, इस सीट से लड़ सकते हैं CM योगी

कानपुर के बिकरू कांड के बाद सबसे पहले ब्राह्मण वोट बैंक को साधने की कवायद कांग्रेस ने शुरू की. जितिन प्रसाद ने 'ब्राह्मण चेतना मंच' बनाया. लेकिन भाजपा ने जितिन को अपने पक्ष में लाकर कांग्रेस को झटका दे दिया. इसके बाद बहुजन समाज पार्टी ने ब्राह्मणों को फोकस में रखकर अयोध्या से 'प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन' सम्मेलन की शुरुआत की. अब समाजवादी पार्टी ने भी ब्राह्मण मतदाताओं को लुभाने की कवायद शुरू कर दी है. 

UP Election 2022: आखिर ब्राह्मण इतना क्यों हैं खास, जिसे साधने में जुटे हैं सपा-बसपा और भाजपा

 

लखनऊ में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने रविवार को अपनी पार्टी के पांच बड़े ब्राह्मण नेताओं के साथ करीब ढाई घंटे तक मंथन किया. इस मीटिंग में तय हुआ कि समाजवादी पार्टी 15 अगस्त से बलिया की धरती से ब्राह्मण सम्मेलन शुरू करेगी. चूंकि इलाहाबाद हाई कोर्ट ने जातीय सम्मेलनों पर रोक लगाया है, इसलिए समाजवादी पार्टी इसको कोई दूसरा नाम दे सकती है. सपा पहले ही यह घोषणा कर चुकी है कि सरकार में आने पर वह भगवान परशुराम की 108 फीट ऊंची प्रतिमा लगवाएगी. 

क्या है 2007 वाली 'सोशल इंजीनियरिंग', जिसके सहारे मायावती खत्म करना चाहती हैं सत्ता का वनवास

समाजवादी पार्टी कार्यालय में रविवार को अखिलेश यादव के साथ पूर्व विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पाण्डेय, पूर्व मंत्री मनोज कुमार पाण्डेय व अभिषेक मिश्रा, पूर्व सपा विधायक संतोष कुमार पाण्डेय, बलिया से 2019 में पार्टी के लोकसभा प्रत्याशी रहे सनातन पाण्डेय ने करीब ढाई घंटे के गहन मंथन के बाद ब्राह्मण सम्मेलन की रूप रेखा तैयार की. तय हुआ कि ब्राह्मणों के साथ जहां भी कोई अत्याचार होगा, समाजवादी पार्टी के नेताओं का प्रतिनिधिमंडल वहां पहुंचकर उनके पक्ष में खड़ा होगा.

WATCH LIVE TV