उत्तराखंड में कोरोना महामारी घोषित, 31 मार्च तक बंद रहेंगे डिग्री कॉलेज और सिनेमा हॉल

शनिवार को कैबिनेट बैठक के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस करने आए सरकार प्रवक्ता मदन कौशिक ने बताया कि कोरोना को लेकर बजट की कोई दिक्कत नहीं है.

उत्तराखंड में कोरोना महामारी घोषित, 31 मार्च तक बंद रहेंगे डिग्री कॉलेज और सिनेमा हॉल

देहरादून: कोरोना के बढ़ते खतरे और उसकी रोकथाम को लेकर त्रिवेंद्र सरकार ने कोरोना वायरस को महामारी घोषित कर दिया है. सरकार अलर्ट मोड पर है. साथ ही कोरोना की प्रारंभिक रोकथाम राज्य स्तर पर हो इसके लिए सरकार ने 555 डॉक्टर की नियुक्ति के लिए वॉक इन इंटरव्यू रखा है. शनिवार को कैबिनेट बैठक के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस करने आए सरकार प्रवक्ता मदन कौशिक ने बताया कि कोरोना को लेकर बजट की कोई दिक्कत नहीं है. अपिडेमिक एक्ट के तहत राज्य में कोरोना महामारी घोषित की गई है. सरकार ने महत्वपूर्ण प्रोविजन किए है.

ये भी पढ़े: Corona: आइसोलेशन सेंटर से भागी संक्रमित लड़की, दिल्ली-आगरा तक संपर्क में आए लोगों की तलाश

कोरोना को लेकर बजट की कोई दिक्कत नहीं
सरकार ने ICU और आइसोलशन वार्ड के लिए 50 करोड़ का बजट रखा गया है. करोना को देखते हुए नर्सिंग स्टाफ के खाली पड़े पदों को भी भरा जाएगा. शासकीय मेडिकल कॉलेज में खाली पद भरे जाएंगे. 140 एंबुलेंस सेवा को भी आपात के लिए तैयार रहने का निर्देश दिए गए हैं. जरूरत पड़ने पर निजी भवनों का भी अस्पताल की तरह उपयोग होगा. 

बड़े आयोजनों पर 31 मार्च तक रोक
त्रिवेंद्र सरकार ने सभी बड़े आयोजनों पर 31 मार्च तक रोक लगा दी है. सभी डिग्री कॉलेज और सिनेमा घरों को भी 31 मार्च तक बंद किया गया. प्रदेश में केवल मेडिकल कॉलेज खुले रहेंगे. मदन कौशिक ने बताया कि प्रदेश में 22 संदिग्धों की रिपोर्ट जांच के लिए भेजी गई थी, जिसमें 15 लोगों की रिपोर्ट आई है. सभी की रिपोर्ट निगेटिव है. 183 लोगों को निगरानी में रखा गया है. बीमार व्यक्ति और डॉक्टर्स के लिए मास्क जरूरी है. बसों में भी सेनिटेशन की व्यवस्था की गई है.

लाइव टीवी देखें: