close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

केंद्र से मंजूरी मिलते ही CBI ने शुरू की जांच, FIR में सेंगर उसके भाई सहित 10 नामजद आरोपी

सीबीआई ने हत्या (धारा 302), हत्या का प्रयास (धारा 307), धमकाना (धारा 506), आपराधिक साजिश (धारा 120B) में एफआईआर दर्ज की है. ये एफआईआर सीबीआई लखनऊ के एंटी करप्शन ब्रांच ने दर्ज की. 

केंद्र से मंजूरी मिलते ही CBI ने शुरू की जांच, FIR में सेंगर उसके भाई सहित 10 नामजद आरोपी
सीबीआई ने तीन धाराओं में केस दर्ज किया है.

लखनऊ: उन्नाव रेप पीड़िता का रविवार को रायबरेली में हुए कार एक्सीडेंट मामले में सीबीआई ने बीजेपी से निष्काशित विधायक कुलदीप सेंगर और उसके भाई समेत 10 को लोगों के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज की है. इसके अलावा एफआईआर में 15 से 20 अज्ञात लोगों पर भी आरोप लगाया गया है. आपको बता दें कि रेप पीड़िता के चाचा ने हादसे के बाद पुलिस में शिकायत दी थी. 

चार धाराओं में दर्ज हुआ केस
जानकारी के मुताबिक, सीबीआई ने हत्या (धारा 302), हत्या का प्रयास (धारा 307), धमकाना (धारा 506), आपराधिक साजिश (धारा 120B) में एफआईआर दर्ज की है. ये एफआईआर सीबीआई लखनऊ के एंटी करप्शन ब्रांच ने दर्ज की. 

केंद्र ने मंगलवार को दी मंजूरी
आपको बता दें कि मंगलवार को केंद्र सरकार ने उन्नाव रेप के आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ दर्ज मुकदमे की मुख्य गवाह के साथ रविवार को रायबरेली में हुए सड़क हादसे की जांच सीबीआई से कराने को मंजूरी दे दी थी. इस हादसे में रेप पीड़िता और उसका वकील बुरी तरह घायल हो गई, जबकि पीड़िता की चाची, मौसी और ड्राइवर की मौके पर ही मौत हो गई थी. पीड़िता की चाची मुकदमे की गवाह थी.

लाइव टीवी देखें

CM योगी ने केंद्र से की थी सिफारिश
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंजूरी के बाद प्रदेश के गृह विभाग ने घटना के दूसरे ही दिन सोमवार को सीबीआई जांच की सिफारिश करते हुए केंद्र सरकार को पत्र भेज दिया था. केंद्र सरकार ने मंगलवार को प्रदेश सरकार का ये अनुरोध स्वीकार कर लिया. साथ ही हादसे के संबंध में रायबरेली के गुरुबख्शगंज थाने में क्राइम नंबर 305/2019 पर दर्ज मुकदमे की जांच सीबीआई को स्थानान्तरित कर दी.