यूपी में लेखपालों की हड़ताल पर सरकार ने सख्‍त रुख अपनाने के दिए संकेत

तीन जुलाई से अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं प्रदेश के सभी लेखपाल.

यूपी में लेखपालों की हड़ताल पर सरकार ने सख्‍त रुख अपनाने के दिए संकेत
मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने दिया बयान.

इलाहाबाद : उत्‍तर प्रदेश में कई दिनों से चल रही लेखपालों की हड़ताल को खत्‍म कराने के लिए प्रदेश की योगी सरकार सख्‍त रुख अपना सकती है. यह संकेत प्रदेश सरकार के प्रवक्‍ता और मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने दिए हैं. रविवार को इलाहाबाद पहुंचे सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि प्रदेश में लेखपालों की हड़ताल से आम जनता को काफी परेशानी हो रही है. उनके मुताबिक सरकार आम जनता के हितों के लिए है. इसलिए वह जनहित में हड़ताल खत्‍म कराने के लिए सख्‍त रुख अपना सकती है.

इलाहाबाद में मीडिया से बातचीत करते हुए योगी सरकार के मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि योगी सरकार लेखपालों की चल रही हड़ताल के मामले में उनपर कड़ी कार्रवाई भी कर सकती है. हालांकि उन्‍होंने यह भी संकेत दिए कि लेखपालों से बातचीत के लिए रास्‍ते अभी भी खुले हुए हैं. लेखपाल बातचीत के जरिये अपनी बात सरकार के सामने रख सकते हैं. उन्‍होंने इलाहाबाद समेत पूरे प्रदेश में बढ़ रही आपराधिक घटनाओं पर भी प्रतिक्रिया दी. उन्‍होंने कहा कि कानून व्‍यवस्‍था बेहतर बनाने के लिए लगातार कदम उठाए जा रहे हैं. इसमें सुधार भी हो रहा है.

बता दें कि उत्‍तर प्रदेश के लेखपाल कई दिनों से अपनी समस्‍याओं के समाधान की मांग कर रहे हैं. अपनी मांगें पूरी ना होने पर उन्‍होंने तीन जुलाई से उन्‍होंने हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया था. हालांकि इससे पहले ही उन्‍होंने 23 जून से ऑनलाइन कामकाज भी बंद कर‍ दिया था. सरकार लगातार उनपर सख्‍ती दिखा रही है. इसके बावजूद वे हड़ताल खत्‍म नहीं कर रहे हैं. वहीं योगी सरकार हड़ताल से पैदा हो रही बाधाओं के मद्देनजर राजस्व लेखपालों की हड़ताल पर अगले 6 महीने के लिए प्रतिबंध लगाते हुए हड़ताल पर जाने वाले कर्मियों के विरुद्ध एस्मा के तहत कार्रवाई कराने के निर्देश दे चुकी है.