लखनऊ बिल्डिंग हादसा: सपा नेता शाहिद मंजूर का बेटा नवाजिश गिरफ्तार, यजदान बिल्डर्स पर भी कसेगा शिकंजा
topStories0hindi1543258

लखनऊ बिल्डिंग हादसा: सपा नेता शाहिद मंजूर का बेटा नवाजिश गिरफ्तार, यजदान बिल्डर्स पर भी कसेगा शिकंजा

Lucknow Building Collapse: रेस्कयू ऑपरेशन जारी है, बगल वाली बिल्डिंग खाली कराई गई है. अधिकारियों को हर संभव राहत देने के निर्देश दिए गए हैं.  सीएम ने बिल्डिंग हादसे की पूरी जानकारी ली है.  16 लोगों को बचाया गया...

लखनऊ बिल्डिंग हादसा: सपा नेता शाहिद मंजूर का बेटा नवाजिश गिरफ्तार, यजदान बिल्डर्स पर भी कसेगा शिकंजा

Lucknow Building Collapse: लखनऊ में मंगलवार शाम हादसे में वजीर हसन रोड स्थित पांच मंजिला अपार्टमेंट अलाया ताश के पत्तों की तरह ढह गई.  मलबे में तीस से ज्यादा लोग दब गए.  सूचना पर पुलिस, दमकल, एसडीआरएफ और सेना के जवानों ने रेस्क्यू ऑपरेशन कर अब तक 16 लोगों को बाहर निकाल अस्पताल में भर्ती कराया है.  बाकी फंसे लोगों को निकालने के लिए राहत-बचाव कार्य जारी है. हादसे की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी गठित की गई है. जिम्मेदार लोगों को चिन्हित करेगी कमेटी. इस हादसे में दो महिलाओं की मौत हो गई है. सपा नेता शाहिद मंजूर का बेटा नवाजिश गिरफ्तार कर लिया गया है. 

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, रेस्क्यू ऑपरेशन में अभी 5-6 घंटे और लग सकते हैं. अब तक 16 लोगों को बचाया जा चुका है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बिल्डिंग के मालिक सपा नेता और पूर्व कैबिनेट मंत्री शाहिद मंसूर के बेटे नवाजिश मंसूर को हिरासत में ले लिया गया. घटनास्थल पर आर्मी, NDRF-SDRF मौजूद है. सीएम योगी पल पल की अपडेट ले रहे हैं. 

लखनऊ हादसे में पहली मौत
लखनऊ हादसे में सपा प्रवक्ता अब्बास हैदर की माँ बेगम हैदर का निधन हो गया. उनको रेस्क्यू करके सिविल अस्पताल में लाया गया था. डॉक्टर्स के तमाम प्रयास के बाद भी उनको नहीं बचाया जा सका. बेगम हैदर  72 वर्ष की थी

पुलिस हिरासत में सपा एमएलए का बेटा

सपा विधायक शाहिद मंजूर के बेटे नवाजिश को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. शाहिद से पूछताछ के बाद  लखनऊ रवाना किया गया जहां पर पुलिस उससे पूछताछ करेगी.बताया जा रहा है कि जमीन का एग्रीमेंट नवाजिश के नाम पर है. एसपी सिटी पीयूष सिंह ने हिरासत में लेने की पुष्टि की है. यजदान बिल्डर ने ये इमारत बनाई थी.

हादसे के कारणों का लगा रहे पता

अलाया अपार्टमेंट गिरने के कारणों का पता लगाया जा रहा है. उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने बताया कि कारणों का पता लगने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है. अभी हमारी प्राथमिकता घायलों को जीवित बचाने की है. उन्हें बेहतर उपचार मुहैया कराने की है. सभी घायलों को मुफ्त इलाज उपलब्ध कराया जा रहा है. 

महिला को सकुशल बाहर निकाला गया
रेस्क्यू के दौरान एक महिला को सकुशल बाहर निकाला गया. ndrf व sdrf ने ताली बजाकर किया स्वागत. 12 घण्टे के ऑपरेशन के बाद संख्या बढ़कर 14 हो गई हैं. किचन में फंसी एक महिला को बाहर निकाला गया.

सभी को निकाला जाएगा सकुशल-डीएस चौहान
डीजीपी डीएस चौहान का कहना है कि सभी को सकुशल निकाला जाएगा. उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए ड्रिल किया जा रहा है. डीजीपी ने कहा कि प्राकृतिक आपदा से बिल्डिंग गिरने की आशंका है.

तत्काल मुकदमा पंजीकृत कराने के निर्देश
मंडलायुक्त डॉ रोशन जैकब ने लखनऊ विकास प्राधिकरण के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि हजरतगंज के वजीरगंज हसन रोड पर बने अलाया अपार्टमेंट के गिरने पर उसके भवन मालिक-मोहम्मद तारीफ, नवाज़िश शाहिद तथा साथ ही उस अपार्टमेंट के बनाए गए बिल्डर्स यजदान पर तत्काल मुकदमा पंजीकृत कराया जाए. मंडलायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि लखनऊ शहर में यजदान बिल्डर्स के द्वारा बनाई गई अन्य बिल्डिंगों का चिन्हाकन करके जांच करें तथा सर्वप्रथम दृष्टिया जांच करते हुए अवैध निर्माण की स्थिति मे तत्काल ध्वस्तीकरण कराया जाना प्राथमिकता पर सुनिश्चित किया जाए. 

राजनाथ सिंह ने भी ली घटना की जानकारी 

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि लखनऊ में अलाया अपार्टमेंट गिरने की घटना बेहद दुखद है, जिन्होंने अपनों को खोया है, उनके प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं. घटना के संदर्भ में जिलाधिकारी ने मुझे स्थिति की जानकारी दी है. राज्य सरकार की देखरेख में प्रशासन हरसंभव मदद में जुटा है. सभी घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं.

ये रही हादसे की पूरी जानकारी
लखनऊ (Lucknow News) में हजरतगंज की वजीरहसन रोड स्थित अलाया अपार्टमेंट (Lucknow Apartment Fell Down) गिर गया है. कई फैमिली भी दबे होने की सूचना मिली वजीर हसन रोड के लिए जिला प्रशासन की तरफ से जेसीबी रवाना की गई दो जेसीबी रवाना हुई. मौके पर मौजूद डिप्‍टी सीएम ब्रजेश पाठक का कहना है कि बताया जा रहा है कि चार मंजिला इमारत थी.  उन्‍होंने शुरू में बताया कि तीन लोगों के शव निकाले गए हैं लेकिन बाद में प्रशासन की ओर से कहा गया कि किसी की मौत नहीं हुई है. मौके पर पहुंचे डीएम सूर्यपाल गंगवार ने रास्‍ता खाली कराकर राहत और बचाव कार्य में लगे वाहनों को घटनास्‍थल तक पहुंचने में मदद की. अपार्टमेंट में सपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता हैदर अब्बास का परिवार भी मलबे में फंसा है. सपा विधायक रविदास मेहरोत्रा ने बताया कि राहत की बात यह है कि अभी वह जीवित हैं. समय पर कार्रवाई हो तो उन्‍हें सकुशल निकाला जा सकता है.

WATCH: लखनऊ हादसे में घायलों से मिलने अस्पताल पहुंचे डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक

Trending news