7 जनवरी 2020 को बुलाया गया उत्तराखंड विधानसभा का विशेष सत्र, ये है खास वजह

स्पीकर प्रेमचंद अग्रवाल ने 7 जनवरी 2020 को विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया है. साथ ही एक दिवसीय सत्र के लिए अधिसूचना भी जारी कर दी है.  

7 जनवरी 2020 को बुलाया गया उत्तराखंड विधानसभा का विशेष सत्र, ये है खास वजह
7 जनवरी को एक दिन का विशेष सत्र आहूत किया जा रहा है.

देहरादून: उत्तराखंड विधानसभा का विशेष सत्र (Uttarakhand Assembly Special Session) 7 जनवरी को राजधानी देहरादून (Dehradun) में होगा.

विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल (Premchand Aggarwal) ने बताया कि 7 जनवरी को एक दिन का विशेष सत्र आहूत किया जा रहा है. प्रेमचंद अग्रवाल ने बताया कि केंद्र सरकार द्वारा संविधान में दी गई व्यवस्था के अनुसार अनुसूचित जाति और जनजाति के लिए अगले 10 साल के लिए आरक्षण बढ़ाने की व्यवस्था की गई है. इसे सभी राज्यों की विधानसभाओं से पारित कराया जाना जरूरी है. उन्होंने कहा कि इसलिए एक दिन का विशेष सत्र उत्तराखंड विधानसभा में भी आहूत किया जा रहा है.

गौरतलब है कि केंद्र सरकार द्वारा हाल ही में अनुसूचित जाति, जनजाति के लिए आरक्षण की अवधि को बढ़ाया गया है. इसे अब राष्ट्रपति ने अनुमोदन देना है. जिसके लिए सभी राज्यों की विधानसभाओं से इसे पारित कर केंद्र को भेजा जाना है.

बता दें कि संविधान की धारा 334 में SC/ST वर्ग को 10 साल के लिए आरक्षण का ही प्रावधान है. 10 साल पूरे होने के बाद संविधान में संशोधन के जरिए इसे अगले 10 साल के लिए बढ़ाया जाता रहा है. आखिरी बार 2009 में विधेयक पारित हुआ था. और आरक्षण का प्रावधान 25 जनवरी 2020 को समाप्त हो रहा है.

इसके लिए स्पीकर प्रेमचंद अग्रवाल ने 7 जनवरी 2020 को उत्तराखंड विधानसभा का विशेष सत्र बुलाया है. साथ ही एक दिवसीय सत्र के लिए अधिसूचना भी जारी कर दी है.