close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पर्यावरण के छोटे-छोटे कण हैं जलवायु परिवर्तन के जिम्मेदार

वैज्ञानिकों ने एक ऐसा छोटा सा कण ढूंढ निकाला है जो आकार में तो एक बाल का भी तेहरवां हिस्सा है लेकिन जलवायु परिवर्तन और प्रदूषण में एक बड़ी भूमिका निभाता है।

लंदन : वैज्ञानिकों ने एक ऐसा छोटा सा कण ढूंढ निकाला है जो आकार में तो एक बाल का भी तेहरवां हिस्सा है लेकिन जलवायु परिवर्तन और प्रदूषण में एक बड़ी भूमिका निभाता है।
डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार, हावर्ड विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने वायुमंडल में मौजूद कणों के शोध में ऐसे घातक वायु प्रदूषकों का अध्ययन किया जो वैसे तो हर जगह विद्यमान हैं लेकिन शहरों के उपर खास तौर पर पाए जाते हैं।
ये छोटे कण दरअसल रसायनिक क्रियाओं के लिए एक सतह उपलब्ध कराते हैं। ये रेडिएशन को परावर्तित करते हुए उसकी कुछ मात्रा अवशोषित भी कर लेते हैं। इस तरह ये वायु प्रदूषण और जलवायु परिवर्तन में एक बड़ी भूमिका निभाते हैं।
इस अध्ययन में यह भी पाया गया कि इन कणों की रसायनिक संरचना इनके जीवनकाल के दौरान बदलती रहती है। इनकी संरचना से ही रसायनिक क्रियाओं की दर तय होती है। इसके साथ ही यह संरचना यह भी तय करती है कि प्रकाश की कितनी मात्रा यह कण अवशोषित करेगा और कितनी को परावर्तित कर देगा।
संरचना में होने वाला यह बदलाव ही वायु प्रदूषण और पृथ्वी के गर्म होने की प्रक्रिया को प्रभावित कर सकते हैं।
रिपोर्ट पर काम करने वाले ब्रिटिश कोलंबिया विश्वविद्यालय के ऐलन बेर्टाम कहते हैं,‘अगर हम मानव स्वास्थ्य, क्षेत्रीय मौसम और वैश्विक जलवायु परिवर्तन पर इन कणों के प्रभाव का आकलन करना चाहते हैं तो हमें इनकी रासायनिक बनावट के साथ-साथ भौतिक गुणों और दूसरे कणों के साथ क्रियाओं का भी अध्ययन करना होगा। (एजेंसी)