ज़ी स्पेशल

सामाजिक न्याय पर 13 प्वाइंट रोस्टर का हमला

सामाजिक न्याय पर 13 प्वाइंट रोस्टर का हमला

सरकार की तरफ से भले ही उच्चतम न्यायालय में पुर्नविचार याचिका दाखिल करने या संविधान संसोधन लाने का आश्वासन दिया जा रहा हो लेकिन अनुसूचित जाति, जनजाति और पिछड़े तबके की नाराजगी कम होती दिखाई नहीं पड़ रही है.

विनय जायसवाल | Feb 23, 2019, 03:28 PM IST
डियर जिंदगी: गंभीरता और स्‍नेह!

डियर जिंदगी: गंभीरता और स्‍नेह!

बच्‍चों के हृदय को जितना संभव हो स्‍नेह, प्रेम, आत्‍मीयता से भरा जाए. यही प्रेम मूल को ‘सूद’ के साथ लौटाकर लाएगा.

दयाशंकर मिश्र | Feb 22, 2019, 08:35 AM IST

अन्य ज़ी स्पेशल

सामाजिक न्याय पर 13 प्वाइंट रोस्टर का हमला

सामाजिक न्याय पर 13 प्वाइंट रोस्टर का हमला

सरकार की तरफ से भले ही उच्चतम न्यायालय में पुर्नविचार याचिका दाखिल करने या संविधान संसोधन लाने का आश्वासन दिया जा रहा हो लेकिन अनुसूचित जाति, जनजाति और पिछड़े तबके की नाराजगी कम होती दिखाई नहीं पड़ रही है.

विनय जायसवाल | Feb 23, 2019, 03:28 PM IST
डियर जिंदगी: गंभीरता और स्‍नेह!

डियर जिंदगी: गंभीरता और स्‍नेह!

बच्‍चों के हृदय को जितना संभव हो स्‍नेह, प्रेम, आत्‍मीयता से भरा जाए. यही प्रेम मूल को ‘सूद’ के साथ लौटाकर लाएगा.

दयाशंकर मिश्र | Feb 22, 2019, 08:35 AM IST
Badminton: साइना, सिंधु, कश्यप, समीर का नेशनल चैंपियनशिप खेलना अच्छा संकेत

Badminton: साइना, सिंधु, कश्यप, समीर का नेशनल चैंपियनशिप खेलना अच्छा संकेत

इस बार नेशनल चैंपियनशिप में महिला सिंगल्स से पहले पुरुष सिंगल्स का मुकाबला हुआ. ऐसा पहली बार हुआ कि महिलाओं का फाइनल बाद में खेला गया. 

नामवर सिंह: हिन्दी आलोचना की वाचिक परंपरा के अंतिम शिखर

नामवर सिंह: हिन्दी आलोचना की वाचिक परंपरा के अंतिम शिखर

एक आलोचक के रूप में, नामवर सिंह की किताबों से अधिक उनके व्यक्तित्व का मूल्यांकन होता रहा है... उनके समूचे व्यक्तित्व में एक शैलीगत भव्यता के दर्शन होते हैं.

डॉ. दिलीप शाक्य | Feb 21, 2019, 02:20 PM IST
सीहोर का गांव दे रहा सीख- 'पानी बनाया तो नहीं, लेकिन बचाया जा सकता है'

सीहोर का गांव दे रहा सीख- 'पानी बनाया तो नहीं, लेकिन बचाया जा सकता है'

सुबह स्कूल जाने वाले बच्चों का काफी वक्त स्कूल के पास ही लगे हैंडपंप के पास खड़े होने में बीत जाता है. मुश्किल से चलने वाला ये हैंडपंप कई बार चलाने पर एक लोटा पानी निकालता है.

पंकज रामेंदु | Feb 21, 2019, 11:26 AM IST
शहीदों की शहादत को शत-शत नमन

शहीदों की शहादत को शत-शत नमन

आतंकी जानवरों ने तमाम उम्मीदों को खत्म कर दिया. असंख्य घरों के चिरागों को बुझा दिया.

रेखा गर्ग | Feb 21, 2019, 11:10 AM IST
डियर जिंदगी: दर्द के सहयात्री!

डियर जिंदगी: दर्द के सहयात्री!

दर्द से उबरना भी एक उपचार है. अगर सही तरह से दुख से बाहर नहीं निकला जाए तो यह ताउम्र अमरबेल की तरह हमारी आत्‍मा पर सवार रहता है.

दयाशंकर मिश्र | Feb 21, 2019, 08:06 AM IST
इमरान खान के आतंकी पाकिस्तान के सामने नया भारत, धारा-370 रद्द हो

इमरान खान के आतंकी पाकिस्तान के सामने नया भारत, धारा-370 रद्द हो

पीओके पर संसद के सर्वसम्मत प्रस्ताव का सम्मान हो- सन् 1994 में कांग्रेस की नरसिम्हा राव सरकार के दौरान संसद ने सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित करके पाक अधिकृत कश्मीर को भारत का अभिन्न हिस्सा बताया था.

विराग गुप्ता | Feb 20, 2019, 04:03 PM IST
नामवर सिंह स्मृति: 'आलोचना वाद भी है, विवाद और संवाद भी'

नामवर सिंह स्मृति: 'आलोचना वाद भी है, विवाद और संवाद भी'

यों तो हिंदी के प्राय: सभी बड़े लेखक और आलोचक गांवों से ही चलकर आए हैं पर रामविलास शर्मा और नामवर जी के बोल-व्यवहार और लहजे में गांव शायद ही कभी अनुपस्थित रहा हो.

डियर जिंदगी: अनुभव की खाई में गिरे हौसले!

डियर जिंदगी: अनुभव की खाई में गिरे हौसले!

अनुभव, जिंदगी का ऐसा तत्‍व है, जिस पर हमारा न्यूनतम नियंत्रण है. लेकिन इसके बाद भी हमने फैसलों की फ्रेंचाइजी उसे दी हुई है. 

दयाशंकर मिश्र | Feb 20, 2019, 08:34 AM IST
डियर जिंदगी: बच्‍चे को 'न' कहना!

डियर जिंदगी: बच्‍चे को 'न' कहना!

बच्‍चे जितने प्रेम, स्‍नेह से न सुनेंगे. उसे ग्रहण करेंगे, जीवन में संघर्ष की धूप का सामना भी उतनी ही आसानी से कर पाएंगे.

दयाशंकर मिश्र | Feb 19, 2019, 08:55 AM IST
डियर जिंदगी: प्रेम दृष्टिकोण है…

डियर जिंदगी: प्रेम दृष्टिकोण है…

हम अपने जीवन को सुखद, सरल, सरस बनाना चाहते हैं, तो प्रेम को अपना स्‍वभाव बनाना होगा. उसको दूसरों के नजरिए, स्‍वभाव के भरोसे नहीं छोड़ा जा सकता!

दयाशंकर मिश्र | Feb 18, 2019, 08:50 AM IST
डियर जिंदगी: बच्‍चों के बिना घर!

डियर जिंदगी: बच्‍चों के बिना घर!

बच्‍चों के पढ़ाई के लिए बाहर जाते ही माता-पिता में खालीपन देखा जा रहा है. जैसे किसी ने उनकी मुस्‍कान गिरवी रख दी हो कि खुश रहना मना है.

दयाशंकर मिश्र | Feb 15, 2019, 08:52 AM IST
प्रेम और प्रेम दिवस!

प्रेम और प्रेम दिवस!

आज के लोग कहते पाए जाते हैं कि तबके प्रेमियों में साहस नहीं होता था. बेशक Kiss और Hug का साहस नहीं होता था क्योंकि प्रेमिका के लिए दिल में सम्मान होता था.

मैत्रेयी पुष्पा | Feb 14, 2019, 03:18 PM IST
डियर जिंदगी: रास्‍ता बुनना!

डियर जिंदगी: रास्‍ता बुनना!

जिंदगी के प्रति थोड़ी कंजूसी भी जरूरी है, जिससे इसे दूसरों से नफरत, असहमति के नाम पर खर्च होने से बचाया जा सके!

दयाशंकर मिश्र | Feb 14, 2019, 11:37 AM IST
आखिर किसने छीन लिया है घरेलू क्रिकेट का सुख-चैन

आखिर किसने छीन लिया है घरेलू क्रिकेट का सुख-चैन

जिस देश का घरेलू क्रिकेट लोकप्रियता के मामले में बेहाल हो रहा हो, उस देश का क्रिकेट आगे जाकर नीचे जरूर गिरेगा.

सुशील दोषी | Feb 13, 2019, 02:48 PM IST
डियर जिंदगी: ‘ कड़वे ’ की याद!

डियर जिंदगी: ‘ कड़वे ’ की याद!

हम अपनी बहुत ‘छोटी’ दुनिया के अनुभव को जब बहुत बड़ी धरती पर लागू करने की कोशिश करते हैं, तो इससे हमारा दृष्टिकोण बहुत बाधित होता जाता है.

दयाशंकर मिश्र | Feb 13, 2019, 09:47 AM IST
डियर जिंदगी: अरे! कितने बदल गए...

डियर जिंदगी: अरे! कितने बदल गए...

बच्‍चे बहुत तेज़ी से सीखते, समझते और नई चीज़ के लिए तैयार होते हैं. विडंबना यह है कि बड़े होते ही हम अपना ही सबसे अनमोल गुण बिसरा देते हैं.

दयाशंकर मिश्र | Feb 12, 2019, 08:05 AM IST
डियर जिंदगी: सबकुछ ठीक होना!

डियर जिंदगी: सबकुछ ठीक होना!

संदेह, प्रेम की कमी से हम रिक्‍त, रूखे और कठोर होते जाते हैं. धीरे-धीरे यह हमारा स्‍थाई बनता जाता है. चित्‍त में जो भाव ठहर जाए, वह आसानी से नहीं बदलता.

दयाशंकर मिश्र | Feb 11, 2019, 08:54 AM IST
जेल में जफर: जिसे न जमीन मिली, न कलम

जेल में जफर: जिसे न जमीन मिली, न कलम

रंगून में अंग्रेजों की कैद में रहते हुए उन्होंने ढेरों गजलें लिखीं. बतौर कैदी अंग्रेजों ने उन्हें कागज-कलम तक मुहैया नहीं की थी. तब यह क्रांतिकारी शासक कोयले और जली हुई तीलियों से जेल की दीवारों पर गजलें लिखने लगा. दीवार पर लिखी गई उनकी यह मशहूर गजल आज भी खूब याद की जाती है और जिंदगी की हकीकत के करीब है.

वर्तिका नंदा | Feb 10, 2019, 04:12 PM IST