close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जासूसी के लिए माफी मांगने से अमेरिका का इनकार

भारत समेत विभिन्न देशों के दूतावासों की जासूसी करने को लेकर अपने सहयोगियों और साझीदारों की आलोचना का सामना कर रहे अमेरिका ने इस संबंध में माफी मांगने से इनकार करते हुए दलील दी है कि वह उसी तरह विदेशी खुफिया जानकारी एकत्र करता है जैसे कि सभी अन्य देश करते हैं।

वाशिंगटन : भारत समेत विभिन्न देशों के दूतावासों की जासूसी करने को लेकर अपने सहयोगियों और साझीदारों की आलोचना का सामना कर रहे अमेरिका ने इस संबंध में माफी मांगने से इनकार करते हुए दलील दी है कि वह उसी तरह विदेशी खुफिया जानकारी एकत्र करता है जैसे कि सभी अन्य देश करते हैं।
विदेश विभाग के प्रवक्ता पैट्रिक वेंट्रेल ने कल यहां दैनिक संवाददाता सम्मेलन में कहा, हम कथित खुफिया गतिविधियों के बारे में सार्वजनिक तौर पर टिप्पणी नहीं करेंगे। जहां तक नीति की बात है, हमने पहले ही यह स्पष्ट कर दिया है कि अमेरिका उसी तरह खुफिया जानकारी एकत्र करता है जिस तरह सभी देश करते हैं। उन्होंने कहा, हमारे कई देशों के साथ मज़बूत संबंध हैं। हम इस बात पर चर्चा राजनयिक माध्यम से जारी रखेंगे।
इस बीच वाशिंगटन में भारतीय दूतावास ने कोई जवाब नहीं दिया जिसमें उसने पूछा था कि क्या उसे अमेरिका द्वारा दूतावास की जासूसी करने की जानकारी है और क्या राजदूतों ने यह मामला अमेरिका के सामने उठाया है। वेंट्रेल ने भी इस सवाल का कोई सीधा जवाब नहीं दिया कि क्या उसे अन्य देशों से केाई शिकायत मिली है। उन्होंने कहा, मैं राजनयिक स्तर पर हुई वार्ता की चर्चा नहीं करना चाहता। हम इस बारे में संबंधित देशों से प्रत्यक्ष और निज़ी तौर पर बात करेंगे। (एजेंसी)