इंग्लैंड को हराकर ऑस्ट्रेलिया ने जीता महिला टी-20 वर्ल्ड कप

आस्ट्रेलिया की महिला क्रिकेट टीम ने लगातार तीसरी बार ट्वेंटी-20 विश्व खिताब जीत लिया है। रविवार को शेर-ए-बांग्ला स्टेडियम में खेले गए फाइनल मुकाबले में आस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को छह विकेट से हराया।

मीरपुर (ढाका) : आस्ट्रेलिया की महिला क्रिकेट टीम ने लगातार तीसरी बार ट्वेंटी-20 विश्व खिताब जीत लिया है। रविवार को शेर-ए-बांग्ला स्टेडियम में खेले गए फाइनल मुकाबले में आस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को छह विकेट से हराया। इंग्लैंड ने आस्ट्रेलिया के सामने 106 रनों का लक्ष्य रखा था, जिसे उसने 15.1 ओवरों में चार विकेट खोकर हासिल कर लिया। कप्तान मेग लेनिंग ने सबसे अधिक 44 रनों का योगदान दिया। आस्ट्रेलिया ने 2010 और 2012 में भी यह खिताब जीता था।
लेनिंग और एलिस पेरी (नाबाद 31) ने तीसरे विकेट के लिए 50 गेंदों पर 60 रनों की साझेदारी करते हुए आस्ट्रेलिया की जीत पक्की की। लक्ष्य का पीछा करते हुए आस्ट्रेलिया की शुरूआत अच्छी नहीं रही। उसने सलामी बल्लेबाज जेस जोनासेन (15) का विकेट 17 रन के कुल योग पर ही गंवा दिया। जोनासेन ने 10 गेंदों की पारी में दो चौके और एक छक्का लगाया।
इसके बाद एलिस विलानी (12) और कप्तान ने दूसरे विकेट के लिए 24 रनों की साझेदारी की। विलानी का विकेट 44 के कुल योग पर जेनी गुन ने लिया। विलानी ने 17 गेंदों पर एक चौका लगाया। लेनिंग और पेरी बड़ी सहजता से टीम को जीत की ओर ले जा रही थीं लेकिन 104 के कुल योग पर लेनिंग अपनी नासमझी के कारण विकेट गंवा बैठीं। लेनिंग ने 30 गेंदों पर चार चौके और दो छक्के लगाए। लेनिंग का विकेट नताले स्कीवर ने लिया। इसके बाद 15वें ओवर की अंतिम गेंद पर स्कीवर ने एलेक्स ब्लैकवेल (0) को आउट कर आस्ट्रेलिया को एक और झटका दिया।
तब तक स्कोर बराबर हो चुका था। अगले ओवर की पहली गेंद पर हालांकि पेरी ने एक रन लेते हुए अपनी टीम को जीत दिला दी। पेरी ने 32 गेंदों पर तीन चौके और एक छक्का लगाया। इंग्लिश टीम ने 2009 में टूर्नामेंट के पहले संस्करण का खिताब जीता था। 2012 में वह एक बार फिर फाइनल में पहुंची थी लेकिन आस्ट्रेलिया ने उसे हराकर अपने खिताब की रक्षा की थी।
इससे पहले, टॉस जीतकर गेंदबाजी करते हुए आस्ट्रेलिया ने सारा कोएत (16-3), रिनी फारेल (27-2) तथा एलिस पेरी (13-2) की उम्दा गेंदबाजी के दम पर इंग्लिश टीम को 20 ओवरों में आठ विकेट पर 105 रनों पर सीमित कर दिया। इंग्लैंड की ओर से हीदर नाइट ने सबसे अधिक 29 रन बनाए जबकि सारा टेलर ने 18 और कप्तान चार्लोट एडवर्ड्स ने 13 रन जोड़े। इसके अलावा एमी जोंस ने 12 रन बनाए। अन्य कोई बल्लेबाज दहाई तक नही पहुंच सकी।
नाइट की 24 गेंदों की पारी में तीन चौके शामिल हैं जबकि टेलर ने 25 गेंदों पर एक चौका लगाया और एडवर्ड्स ने 19 गेंदों का सामना कर गेंद को दो बार सीमा रेखा के बाहर भेजा। इंग्लैंड की ओर से एक भी छक्का नहीं लग सका। (एजेंसी)