नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में मतदान कल, सुरक्षा बल सतर्क

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बस्तर और राजनांदगांव क्षेत्र में विधानसभा चुनाव के तहत सोमवार को भारी सुरक्षा के बीच पहले दौर का मतदान होगा।

रायपुर : छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित बस्तर और राजनांदगांव क्षेत्र में विधानसभा चुनाव के तहत सोमवार को भारी सुरक्षा के बीच पहले दौर का मतदान होगा। मतदान शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने के लिए सुरक्षाबलों को अत्यंत सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं। राज्य के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने आज यहां भाषा को बताया कि पहले चरण में 18 सीटों के लिए सोमवार को होने जा रहे मतदान के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया है । इसमें बाहर से आए हुए बल भी शमिल हैं।
अधिकारियों ने बताया कि राज्य में इन बलों को नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में जाने से पहले प्रशिक्षण दे दिया गया है तथा उन्हें छोटी-छोटी बातों का ख्याल रखने के लिए कहा गया है। उन्होंने बताया कि पुलिस को जानकारी मिली है कि मतदान के दौरान गड़बड़ी फैलाने के लिए नक्सली बड़ी संख्या में क्षेत्र में बारूदी सुरंग बिछा रहे हैं तथा मतदान केंद्रों के करीब भी वे किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में हैं। अधिकारियों ने बताया कि क्षेत्र में ज्यादातर मतदान केंद्र स्कूलों में बनाए गए हैं। पुलिस दल को मतदान केंद्रों के पास बारूदी सुरंग निकालने का अभियान चलाने के लिए कहा गया है। वहीं यहां ब्लैक बोर्ड समेत सभी जगहों की छानबीन करने के लिए कहा गया है।
पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पुलिस दलों को कहा गया है कि वे भीड़ से दूर रहे क्योंकि नक्सलियों की ‘स्माल एक्शन’ टीम स्कूली छात्रों के रूप में पुलिस दल पर हमला कर सकती है। पुलिस जवानों को मोबाइल टॉवर सिग्नल के लिए दूर जाने से मना किया गया है तथा नित्यकर्म भी सुरक्षा के बीच करने के लिए कहा गया है।
राज्य के पुलिस महानिदेशक रामनिवास ने भाषा से कहा कि राज्य में चुनाव की घोषणा के साथ ही नक्सलियों ने बहिष्कार की घोषणा कर दी है। नक्सली क्षेत्र में मतदान को प्रभावित करने के लिए उत्पात मचा सकते हैं। रामनिवास ने कहा कि राज्य में निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान के लिए पर्याप्त संख्या में पुलिस बल के जवानों को तैनात किया गया है। पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद है तथा सतर्क है। जवानों को सुरक्षा नियमों का पूरी तरह से पालन करने की हिदायत दी गई है।
राज्य के बस्तर और राजनांदगांव क्षेत्र के आठ जिलों की 18 विधानसभा सीटों के लिए कल 11 नवंबर को मतदान होगा जिसमें बस्तर क्षेत्र के सात जिलों में 12 सीटें हैं तथा राजनांदगांव जिले में छह सीटें हैं। बस्तर क्षेत्र के 12 तथा राजनांदगांव की एक विधानसभा सीट पर सुबह सात बजे से दोपहर बाद तीन बजे तक मतदान होगा। वहीं पांच अन्य सीटों पर सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे तक मतदान कराया जाएगा ।
प्रथम चरण में कुल 143 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इनमें से सबसे ज्यादा राजनांदगांव और जगदलपुर में 14-14 तथा सबसे कम कोंटा में चार उम्मीदवार हैं। पहले चरण में 29 लाख 33 हजार दो सौ मतदाता हैं जिनमें से पुरूष मतदाताओं की संख्या 14 लाख 53 हजार 730 तथा महिला मतदाताओं की संख्या 14 लाख 78 हजार 659 है। वहीं 811 सेवा मतदाता हैं।
प्रथम चरण में कुल मतदान केंद्र 4142 हैं जिनमें से 1517 मतदान केंद्र संवेदनशील तथा 1311 मतदान केंद्र अति संवेदनशील हैं। वहीं 2700 मतदान केंद्रों में कैमरे लगाए जा रहे हैं। राज्य में पहले चरण में 167 मतदान केंद्रों को अन्य स्थानों पर स्थानांतरित किया गया है। वहीं मतदान दलों को ले जाने के लिए 192 हेलीकॉप्टर का प्रस्ताव दिया गया है। इस दौरान रायपुर में एक एयर एंबुलेंस की भी व्यवस्था की गई है। (एजेंसी)