यूपी में IMA ने हड़ताल वापस ली, काम पर लौटे डॉक्टर

सपा विधायक और जूनियर डाक्टरों के बीच संघर्ष के बाद पिछले छह दिन से चली आ रही डाक्टरों की हड़ताल प्रदेश शासन द्वारा एस्मा लगाए जाने और हाईकोर्ट के आदेश के बाद समाप्त हो गयी है ।

कानपुर: सपा विधायक और जूनियर डाक्टरों के बीच संघर्ष के बाद पिछले छह दिन से चली आ रही डाक्टरों की हड़ताल प्रदेश शासन द्वारा एस्मा लगाए जाने और हाईकोर्ट के आदेश के बाद समाप्त हो गयी है ।
इंडियन मेडिकल ऐसोसिएशन कानपुर के अध्यक्ष ने कहा कि आईएमए ने अपनी हड़ताल वापस ले ली और हम आज से काम पर है । उधर गणेश शंकर विदयार्थी मेडिकल कालेज कानपुर के प्रिसिंपल का कहना है कि आज से सभी फैकल्टी टीचर अपने अपने विभागों में आ गए हैं और धीरे धीरे मेडिकल कालेज की व्यवस्था सामान्य हो रही है ।
आज दोपहर करीब 12 बजे सभी गिरफ्तार 24 जूनियर डाक्टर जेल से बाहर आ गये है और उनका इस समय उर्सला हास्पिटल में मेडिकल किया जा रहा है । लेकिन मेडिकल कालेज के जूनियर डाक्टर अभी भी काम पर नही लौटे है । उनका कहना है कि सभी 24 जूनियर डाक्टरों के उपर लगाये गये संगीन आपराधिक मामले हटाये जायें तभी वह काम पर वापस आयेंगे । इस बीच खबर मिली है कि मेडिकल कालेज के प्राचार्य डा नवनीत कुमार ने आईएमए की अध्यक्ष और मेडिकल कालेज की मेडिसिन विभाग की प्रमुख डा आरती लाल चंदानी को उनके मेडिसिन विभाग के प्रमुख पद से हटा दिया है लेकिन इस बात की पुष्टि न तो डा कुमार कर रहे है और न ही डा चंदानी ।
कानपुर जेल जहां मेडिकल छात्र बंद थे वहां छात्रों को जेल से बाहर निकलवाने पहुंची इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की अध्यक्ष डा आरती लाल चंदानी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि आईएमए ने अपनी हड़ताल वापस ले ली है और सभी डाक्टर आज से काम पर वापस आ गये है । उन्होंने कहा कि वह खुद मेडिकल कालेज में अपने विभाग में हाजिरी देकर यहां छात्रों को छुड़वाने आयी हैं ।
उधर मेडिकल कालेज से खबर मिली है कि प्रिसिंपल डा नवनीत कुमार ने इस आंदोलन की मुखिया और आईएमए की अध्यक्ष डा आरती लाल चंदानी को उनके मेडिसिन विभाग के प्रमुख के पद से हटा दिया गया है लेकिन इस बात पर डा चंदानी और डा नवनीत कुमार ने कुछ भी बात करने से इंकार कर दिया । कालेज के सूत्रों के मुताबिक जूनियर डाक्टर इस बात पर अड़े है कि जब तक उनके साथियों पर लगाये गये आपराधिक मुकदमें वापस नही होते हंै वह काम पर नही लौटेंगे । इस पर प्रिसिंपल डा कुमार का कहना है कि जूनियर डाक्टरों को समझाने की कोशिश की जा रही है और वह भी जल्द ही काम पर लौट आयेंगे ।
उधर मेडिकल कालेज के डाक्टरों का एक प्रतिनिधि मंडल कल रात समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव से भी मिलने गया था जहां उन्होंने डाक्टरों की मांगों पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करने का आश्वासन दिया था । गौरतलब है कि पिछली 28 फरवरी को सपा विधायक इरफान सोलंकी और जूनियर डाक्टरों के बीच संघर्ष के बाद कानपुर मेडिकल कालेज समेत प्रदेश के सभी मेडिकल कालेजों में डाक्टरों ने हड़ताल कर दी थी । (एजेंसी)