close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

OMG: ऑपरेशन थिएटर में डॉक्टर हुए हैरान, शख्स के पेट से निकला 3 किलो मेटल

अहमदाबाद के सिविल अस्पताल में राज्य का ऐसा पहला किस्सा सामने आया है, जिसमें डॉक्टरों द्वारा ऑपरेशन कर 452 मेटल की वस्तुओं को मरीज के पेट से निकाला गया है.

OMG: ऑपरेशन थिएटर में डॉक्टर हुए हैरान, शख्स के पेट से निकला 3 किलो मेटल
डॉक्टरों ने बताया कि जो व्यक्ति इस तरह धातु निगल जाता है, उस व्यक्ति को एकुफेजिया की बीमारी होना माना जाता है.

अहमदाबाद: गुजरात के अहमदाबाद के बापूनगर इलाके से एक ऐसा किस्सा सामने आया है, जिसे सुनकर लोग हैरान हुए बिना नहीं रह पा रहे हैं. जहां सामान्य इंसान कोई भी चीज निगलने से डरता है. वहीं, बापूनगर इलाके में रहने वाले एक 28 वर्षीय शख्स ने सिक्के, नटबोल्ट, कील, चम्मच, स्पार्क प्लग, हेयरपिन, सेफ्टी पिन समेत कुल 452 चीजें निगल लीं. यह किस्सा सुनने के बाद कोई भी इंसान विचलित हो जायेगा. आपको बता दें कि इस शख्स का ऑपरेशन कर डॉक्टरों ने इसके पेट से तीन किलो की धातु की वस्तुएं निकाली हैं. 

अहमदाबाद के सिविल अस्पताल में राज्य का ऐसा पहला किस्सा सामने आया है, जिसमें डॉक्टरों द्वारा ऑपरेशन कर 452 मेटल की वस्तुओं को मरीज के पेट से निकाला गया है. यह व्यक्ति मानसिक रोगी था, जिसका मेन्टल अस्पताल में इलाज चल रहा था. लेकिन अचानक ही उसे सांस लेने में समस्या होने लगी. उसके बाद उसे सिविल अस्पताल के ENT  वॉर्ड में इलाज के लिए भर्ती किया गया. इस व्यक्ति को पेट में दर्द भी हो रहा था. इसके बाद उसे सर्जिकल वॉर्ड में शिफ्ट किया गया. जब इस व्यक्ति का एक्स-रे किया गया, तब इस मरीज के पेट में कई धातु की वस्तुए होने की बात सामने आई.

तत्काल ही डॉक्टरों द्वारा इसका ऑपरेशन किया गया, जिसमें 78 स्क्रू, 17 बॉल पेन के ढक्कन, 19 कटर ब्लेड, 6 हेयरपिन, 8 सेफ्टी पिन, 26 नटबोल्ट और बाइक का स्पार्क प्लग, 36 पिन और निडल्स, बटन सेल, हेयरक्लिप, इयरिंग समेत कुल 452 चीजें निकाली गईं. डॉक्टरों ने बताया कि जो व्यक्ति इस तरह धातु निगल जाता है, उस व्यक्ति को एकुफेजिया की बीमारी होना माना जाता है. एकुफेजिया की बीमारी को मानसिकता की बीमारी माना जाता है और मरीज मेटल की चीजों को खाने की चीजे समझकर खा जाता है. डॉक्टरों का मानना है कि यह मरीज पिछले 6 महीने से इस तरह की वस्तुएं खा रहा था. 

 

ऑपरेशन के बाद इस मरीज को ICU में डॉक्टरों की देखरेख में रखा गया है. जहां इसकी हालत स्थिर बताई जा रही है. डॉक्टर कल्पेश परमार, डॉक्टर वशिष्ठ जलाल, रेसीडेंट डॉक्टर निसर्ग शाह और रेसिडेंट डॉक्टर आकाश पटेल की टीम द्वारा इस ऑपरेशन को सफलतापूर्वक अंजाम दिया गया. तीन घंटे तक चले इस ऑपरेशन में मरीज के पेट से सारी चीजें निकाल ली गईं. बता दें कि दो साल पहले भी इसी व्यक्ति के पेट का ऑपरेशन कर पेट से मेटल की कई चीजें निकाली गई थीं. इस बार इस व्यक्ति के पेट से तीन किलो धातु निकाला गया, जो पहली बार हुआ है.