Zee Rozgar Samachar

चीन के सैन्य ठिकानों के ऊपर से गुजरा भारत का 'कौटिल्य', खौफ में आया 'ड्रैगन'

दुनिया भर में दादागीरी दिखाने वाला चीन भारत के 'कौटिल्य' से डर से  खौफ में आ गया है.  

चीन के सैन्य ठिकानों के ऊपर से गुजरा भारत का 'कौटिल्य', खौफ में आया 'ड्रैगन'

नई दिल्ली: दुनियाभर में दादागीरी दिखाने वाला चीन भारत के 'कौटिल्य' से डर से  खौफ में आ गया है. भारत का इमिसैट नाम का एक खुफिया सैटेलाइट चीन के कब्जे वाले तिब्बत के ऊपर से गुजरा है.  इस सैटेलाइट में 'कौटिल्य' नाम का ELINT यानी इलेक्ट्रॉनिक इंटेलिजेंस सिस्टम लगा हुआ है. इस सिस्टम की खूबी यह है कि वह हजारों किमी दूर अंतरिक्ष से जमीन पर एक मीटर तक के दायरे में हो रही गतिविधियों की भी साफ तस्वीरें खींच सकता है. 

बता दें कि इमिसैट स्वदेश में विकसित है. इस सैटेलाइट का निर्माण डिफेंस रिसर्च ऐंड डिवेलपमेंट ऑर्गनाइजेशनन (DRDO) ने किया है. यह सैटलाइट इंटेलिजेंस इनपुट जुटाने का काम करता है. इसकी खूबी यह है कि यह रक्षा क्षेत्र की अहम जानकारियां जुटा सकता है. इस सैटेलाइट का ELINT सिस्टम दुश्मन के क्षेत्र में ट्रांसमिशन के लिए इस्तेमाल होने वाले रेडियो सिग्नल्स को भी पढ़ लेता है.

सूत्रों के मुताबिक लद्दाख के पैंगोंग सो के फिंगर 4 को लेकर हुई भारत-चीन की बातचीत के बेनतीजा होने के एक ही दिन बाद यह सैटलाइट तिब्बत के उस हिस्से के ऊपर से गुजरा है. जो चीन की पीपल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के कब्जे में है. माना जा रहा है कि उसने तिब्बत में चीन से जुड़ी कई अहम जानकारियां जुटाई है.  इसमें तिब्बत में सैन्य मोर्चों के जमावड़े और अन्य ढांचागत परियोजनाओं की जानकारियां भी शामिल हैं. इस इलाके में EMISAT के गुजरने से चीन में हड़कंप मचा है. 

बता दें कि लद्दाख के दुर्गम इलाके में पिछले तीन महीने से चीन और भारत की सेनाएं आमने सामने खड़ी हैं. चीन ने लद्दाख के 4 इलाकों में घुसपैठ की थी. जिसमें वह तीन इलाकों में तो पीछे हटने के लिए राजी हो गया है. लेकिन पैंगोंग झील इलाके में वह कोई हामी नहीं भर रहा है. इसके उलट वह पैंगोंग झील और देपसांग के इलाके में अपनी सैन्य मौजूदगी मजबूत करने में लगा है. उसने शिनजियांग इलाके में भी अपनी सेना की मौजूदगी बढ़ा दी है. साथ ही तिब्बत और उससे सटे 7 एयरबेसों पर नए लड़ाकू विमान तैनात कर दिए हैं. चीन के नापाक मंसूबे देखकर भारत भी अपनी सुरक्षा तैयारियों को लगातार मजबूत करने में लगा हुआ है. 

ये भी देखें-

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.