सीरीज जीतने के बाद रवि शास्त्री बोले- इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि बल्लेबाज कौन है, बस...

भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे और अंतिम वनडे में एकतरफा जीत हासिल करते हुए सीरीज पर 2-1 से कब्जा जमा लिया.

सीरीज जीतने के बाद रवि शास्त्री बोले- इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि बल्लेबाज कौन है, बस...
मैच के बाद कोच रवि शास्त्री ने टीम इंडिया के खिलाड़ियों को जमकर सराहना की.

बेंगलुरू: भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरे और अंतिम वनडे में एकतरफा जीत हासिल करते हुए सीरीज पर 2-1 से कब्जा जमा लिया. भारत की ओर से उपकप्तान रोहित शर्मा (119) और कप्तान विराट कोहली (89) ने शानदार बल्लेबाजी का प्रदर्शन करते हुए सात विकेट से जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई. दोनों बल्लेबाजों ने जीत की आधारशिला रखी और उसे अंजाम तक श्रेयस अय्यर ने पहुंचाया जिन्होंने नाबाद 44 रन की पारी खेली. भारत ने ऑस्ट्रेलिया के 287 रनों के लक्ष्य को 47.3 ओवरों में तीन विकेट खोकर हासिल कर लिया.  

मैच के बाद कोच रवि शास्त्री ने टीम इंडिया के खिलाड़ियों को जमकर सराहना की. शास्त्री ने कहा, "लड़कों ने कमाल का चरित्र दिखाया है. चरित्र मैं इसलिए कह रहा हूं क्योंकि मुंबई में शिकस्त खाने के बाद, लगातार दो मैच जीत लिए. उनमें विश्वास था कि वे ऐसा कर सकते हैं. ये दोनों मैच एक दिन के अंतराल पर जीते हैं, इसलिए यह बड़ी उपलब्धि है. आज के मैच के रोहित और विराट जब मैदान पर उतरे, तब उनके दिमाग में था कि वे ऐसी टीम के खिलाफ खेल रहे हैं जो हमेशा विकेट की तलाश में रहती है. दोनों ने जिम्मेदारीपूर्वक बल्लेबाजी की." 

श्रेयस अय्यर की तारीफ करते हुए शास्त्री ने कहा, "जिस तरह से श्रेयस ने पारी का समापन किया, उससे साफ है कि उसका भविष्य सुखद रहने वाला है. श्रेयस का आत्मविश्वास इस पारी के बाद और बढ़ जाएगा. क्रिकेट का गेम भले ही 130 साल पुराना हो लेकिन यॉर्कर अभी भी पूरी दुनिया में सबसे बेस्ट बॉल है. इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि बल्लेबाज कौन है? यॉर्कर के खिलाफ यदि आप प्लान को सही ढंग को लागू करते हैं तो फायदा होगा. सैनी बहुत अच्छा कर रहा है. नए खिलाड़ियों को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ काफी कुछ सीखने को मिला. मुझे टीम पर गर्व है."