मिल गई COVID-19 से संक्रमित होने वाली पहली Patient, China पर बढ़ा दुनिया का दबाव

माना जाता है कि पेशेंट सु कोरोना वायरस से संक्रमित होने वाली पहली महिला हैं. वह वुहान लैब से करीब ही रहती है और नवंबर 2019 में उसमें सेहत संबंधी रहस्‍यमयी स्थितियां दिखाईं दी थीं. 

मिल गई COVID-19 से संक्रमित होने वाली पहली Patient, China पर बढ़ा दुनिया का दबाव
(फाइल फोटो)

बीजिंग: कोरोना वायरस (Coronavirus) पैदा करने के आरोपों से बचने के लिए लगातार कोशिश कर रहे चीन (China) पर वैश्विक समुदाय का दबाव बढ़ता ही जा रहा है. अब कोरोना वायरस से संक्रमित होने वाली पहली पेशेंट सु को लेकर जबरदस्‍त तरीके से खोज-बीन चल रही है. माना जाता है कि यही वह चीनी महिला है जो इस वायरस से पहली बार संक्रमित हुई थी, जो कि वुहान (Wuhan) लैब से निकला था. 

नवंबर में इस महिला में दिखे थे लक्षण 

इस महिला के कोविड संक्रमित होने को लेकर सूत्रों का कहना है कि इस 61 वर्षीय महिला नवंबर में रहस्यमय स्थिति नजर आई थी. इसके ठीक होने के एक महीने बाद ही चीन ने विश्व स्वास्थ्य संगठन को कोविड​​​​-19 प्रकोप के बारे में सूचना दी थी. अब सारे सबूत इस ओर संकेत देते हैं कि कोविड -19 को वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी (WIV) में विकसित किया गया था. लिहाजा दुनिया चीन पर जमकर दबाव डाल रही है कि वह इस बात को लेकर अपनी स्थिति स्‍पष्‍ट करे. 

यह भी पढ़ें: Saudi Arabia: मस्जिदों के Loudspeakers को लेकर नया आदेश जारी, आवाज कम नहीं रखने वालों पर होगी कार्रवाई

लैब में बनाया गया है कोरोना वायरस 

द सन की रिपोर्ट के मुताबिक ब्रिटिश जासूसों ने का दावा किया है कि चीन द्वारा इस वायरस को विकसित करने की बात मानने योग्‍य है. वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन (Joe Biden) पहले ही इस मामले की गहराई से जांच करने का आदेश दे चुके हैं. इसके अलावा एक नए अध्ययन में भी दावा किया गया है कि कोरोना वायरस 'Engineered' था, यानी कि इसे बनाया गया है और इसका कोई प्राकृतिक पूर्वज नहीं है. द मेल ने अपनी रिपोर्ट में लिखा है कि कोरोना वायरस की उत्पत्ति की इन सभी थ्‍योरीज के बीच एक रहस्यमय महिला है जिसे 'Patient Su' के रूप में जाना जाता है.

चीनी अधिकारी ने गलती से किया खुलासा 

रिपोर्टों के अनुसार एक प्रमुख चीनी अधिकारी ने गलती से इस महिला के बारे में खुलासा कर दिया कि उसे ही इस घातक वायरस से संक्रमित (Infected) होने वाला पहला इंसान माना जाता है. इतना ही नहीं एक चीनी मेडिकल जर्नल में बताया गया है कि यह महिला वुहान लैब से करीब 3 मील की दूरी पर रहती है और वह नवंबर में COVID-19 से संक्रमित हो गई. उसे इलाज के लिए वुहान के पास स्थित रोंगजुन अस्पताल ले जाया गया था. ऐसे में महिला के निवास की WIV और चाइनीज सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल द्वारा संचालित एक अन्य सिक्‍योरिटी लैब से निकटता इस सिद्धांत को बल देती है कि कोरोना वायरस लैब से ही लीक हुआ है. इस बीच चीन ने इन आरोपों को नकारते हुए बाइडेन पर राजनीति करने का आरोप लगाया है.

VIDEO-

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.