विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस के मौके पर एण्डटीवी के कलाकारों ने की बात

इस साल कोविड-19 की महामारी की वजह से हर किसी की जिंदगी पर गहरा प्रभाव पड़ा है. लोगों के सामने अनेक मुश्किलें आईं, विशेषकर पहले की तुलना में लोगो को सामाजिक जीवन से अलग-थलग होना पड़ा है और इसका सीधा असर लोगों की मानसिक समस्या में बढ़ोतरी के रूप में दिखाई दे रहा है.

मुंबई: विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस (वर्ल्ड मेंटल हेल्थ डे) पर एण्ड टीवी के कलाकार भाभीजी घर पर हैं की अंगूरी भाभी (शुभांगी अत्रे) और मनमोहन तिवारी (रोहिताश्व गौर), हप्पू की उलटन पलटन की कटोरी अम्मा (हिमानी शिवपुरी), गुड़िया हमारी सभी पे भारी की वंदना (जूही असलम), संतोषी मां सुनायें व्रत कथाएं की संतोषी मां (ग्रेसी सिंह) और इंद्रेश (आशीष कादयान) ने मानसिक स्वास्थ्य के महत्व और खुद को तनाव के दूर रखने के तरीकों पर बात की.

रोहिताश्व गौर (मनमोहन तिवारी) ने कहा कि मैं पढ़ने का बहुत शौकीन और हिंदी भाषा का बहुत बड़ा प्रशंसक हूं. इसलिए मैं हिंदी साहित्य पढ़ने में और स्क्रिप्ट और कविता लिखने में बहुत सारा समय बिताता हूं. वैज्ञानिक शोध ने भी यह प्रमाणित किया है कि 30 मिनट कोई किताब पढ़ने से तनाव घटता है और इसे रीडिंग थेरेपी के रूप में जाना जाता है. मैं सिर्फ यही कह सकता हूं कि मैं रीडिंग थेरेपी में बहुत ज्यादा मशरूफ रहता हूं, और यह मेरी बहुत मदद करता है. 

वहीं आगे बात करते हुए, हिमानी शिवपुरी (कटोरी अम्मा) ने कहा कि मैं सांस को नियंत्रित करने और ध्यान का अभ्यास करती हूं. क्योंकि इससे ध्यान केंद्रित करने में मदद मिलती है, मुझे सकारात्मक ऊर्जा मिलती है और मेरा तनाव दूर होता है. इस भाग-दौड़ भरी जिंदगी में मानसिक स्वास्थ्य की देखभाल कहीं पीछे रह गई है और उसका परिणाम हैं कई तरह की मानसिक बीमारियां. इसलिए अगर आप किसी भी एक्टिविटी से जुड़े रहते हैं और लगातार उसका अभ्यास करते हैं, तो तनाव कम करने और सकारत्मकता का अनुभव करने में आसानी होती है. 

संतोषी मां का किरदार निभा रही एक्ट्रेस ग्रेसी सिंह ने अपनी भावनाओं को व्यक्त करते हुए कहा कि इस महामारी में लोगो के अंदर घबराहट, तनाव और अवसाद की घटना बढ़ी है और यह चिंता का विषय है. अपनी दिनचर्या में शारीरिक व्यायाम, ध्यान और योग शामिल करें. आध्यात्मकि रूप से, मेडिटेशन और डांस मेरी जिंदगी का एक मुख्य हिस्सा है. ध्यान और डांस अपने तनाव को दूर करने का सबसे अच्छा तरीका है. यह मुझे शारीरिक रूप से स्वस्थ और आनंदित रखता है.

कट्टरपंथियों के डर से सलमान की एक्ट्रेस ने बॉलीवुड को कहा अलविदा?, लिंक पर क्लिक कर पढ़ें पूरी खबर.

 

जूही असलम (वंदना) ने कहा कि एक कलाकार, पत्नी और मां होना बड़ी जिम्मेदारी होती है. लेकिन मैं ‘अपना वक्त’ निकालना कभी नहीं भूलती और खुद को कई गतिविधियों में व्यस्त रखती हूं, जिससे मेरा मन शांत और प्रसन्न रहता है. मुझे कॉमेडी शो देखना बहुत पसंद है क्योंकि हंसी तनाव को खत्म करके दिमाग को एकाएक हल्का कर देती है. मानसिक स्वास्थ्य को अक्सर नजरअंदाज किया जाता है, लेकिन लोगो को अपने शारीरिक स्वास्थ्य के साथ-साथ मानसिक स्वास्थ्य का भी ध्यान रखना चाहिए.

आशीष कादयान (इंद्रेश) ने कहा कि एक कलाकार की जिंदगी काफी व्यस्त होती है, इसलिए अपने कामकाजी और निजी जीवन में संतुलन बिठाना जरूरी है. साथ ही अपने मन को सुकून देने वाली किसी गतिविधि में समय बिताना चाहिए. यह गतिविधि पढ़ने से लेकर, व्यायाम, मेडिटेशन यहां तक कि कुकिंग, डांसिंग, सिंगिंग या पेंटिंग कुछ भी हो सकता है. मानसिक स्वास्थ्य के लिए तनाव से दूर रहना बहुत ही महत्वपूर्ण है.

शुभांगी अत्रे (अंगूरी भाभी) ने कहा कि मानसिक तंदुरुस्ती बेहद जरूरी है क्योंकि इससे हमारे विचार, व्यवहार और भावनाएं अत्यंत प्रभावित होती हैं. मैं अपने व्यक्तिगत, भावनात्मक और आध्यात्मिक विकास के लिए योग का अभ्यास करती हूं. यह आत्म-विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और आपके दिमाग को पूरी तरह से शांत रखता है. मैं डांस का अभ्यास भी करती हूं क्योंकि इससे मुझे आनंद और उत्साह प्राप्त होता है.

देश और दुनिया की हर एक खबर अलग नजरिए के साथ और लाइव टीवी होगा आपकी मुट्ठी में. डाउनलोड करिए ज़ी हिंदुस्तान ऐप. जो आपको हर हलचल से खबरदार रखेगा... नीचे के लिंक्स पर क्लिक करके डाउनलोड करें-

Android Link - https://play.google.com/store/apps/details?id=com.zeenews.hindustan&hl=e...

iOS (Apple) Link - https://apps.apple.com/mm/app/zee-hindustan/id1527717234