क्यों खूनी साबित हो रहा है दिल्ली-बिहार रूट, अब बस-कार की टक्कर में पांच मरे

जनकारी के मुताबिक, बिहार स्टेट ट्रांसपोर्ट की वोल्वो बस आगरा से 40 यात्रियों को लेकर बिहार के मुजफ्फरपुर जा रही थी. वहीं, लखनऊ से तेज रफ्तार कार दिल्ली की ओर जा रही थी. सोमवार देर रात करीब 12:45 बजे रोडवेज बस अचानक अनियंत्रित हो गई और दूसरी लेन पर चल रही कार को टक्कर मारते हुए रेलिंग तोड़कर पुल से नीचे जा गिरी. 

क्यों खूनी साबित हो रहा है दिल्ली-बिहार रूट, अब बस-कार की टक्कर में पांच मरे

लखनऊ: 24 घंटे के भीतर लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे फिर भीषण हादसे की चपेट में आ गया. कानपुर के बिल्हौर स्थित मकनपुर कस्बे में सोमवार देर रात एक अनियंत्रित रोडवेज बस ने एसयूवी कार को टक्कर मार दी. इस हादसे में पांच लोगों की मौत हो गई जबकि 20 लोग घायल हुए हैं. पुलिस यह जानने का प्रयास कर रही है कि बस की स्टेयरिंग फेल हुई या चालक को झपकी आई.

इन दो बिन्दुओं पर पड़ताल चल रही है. भिड़ंत इतनी जोरदार थी कि कार में सवार पांच लोगों की मौके पर ही मौत हो गई. हादसे में 20 लोग घायल बताए जा रहे हैं. घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. पिछले 24 घंटे के भीतर लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर ये दूसरा भीषण सड़क हादसा है.

कार के परखचे उड़ गए
जनकारी के मुताबिक, बिहार स्टेट ट्रांसपोर्ट की वोल्वो बस आगरा से 40 यात्रियों को लेकर बिहार के मुजफ्फरपुर जा रही थी. वहीं, लखनऊ से तेज रफ्तार कार दिल्ली की ओर जा रही थी. सोमवार देर रात करीब 12:45 बजे रोडवेज बस अचानक अनियंत्रित हो गई और दूसरी लेन पर चल रही कार को टक्कर मारते हुए रेलिंग तोड़कर पुल से नीचे जा गिरी.

टक्कर इतनी जोरदार थी कि कार के परखचे उड़ गए. कार में सवार पांच लोगों की मौके पर ही मौत हो गई. जबकि बस में बैठे 20 यात्री गंभीर रूप से घायल हैं.

कार में मरने वाले चार लोग दिल्ली के
कानपुर के एसपी ग्रामीण प्रद्युम्न सिंह ने बताया कि हादसे में पांच लोगों के मरने की पुष्टि हो चुकी है. कार सवार चार लोगों की पहचान हो चुकी है. सनी (35), मुकेश (40), राम शंकर व सुरजीत, की मौत हो गई. वहीं, कार दिल्ली की सुनीता सिंह के नाम हैं. लग्जरी कार को टक्कर मारने के बाद बस जब आगरा एक्सप्रेस वे की रेलिंग तोड़ती हुई नीचे सड़क पर गिरी तो वह पहियों के बल सीधी ही गिरी.

इससे बड़ा हादसा होने से बच गया. अगर बस उल्टी गिरती तो कुछ भी हो सकता था और सभी सवारियों की जान को खतरा बढ़ जाता. 

आखिर हादसों की वजह क्या है?
यमुना एक्सप्रेस वे हो या आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे, दोनों ही रूट पिछले दो महीनों से खूनी, साबित हो रहे हैं. हादसों की जांच के आदेश दिए जाते हैं लेकिन कोई नतीजा नहीं आ पाता है. रात में होने वाले हादसों का एक बड़ा कारण यह हो सकता है कि ड्रइवर को झपकी आई हो. दरअसल रात 12 से 2 बजे के बीच का समय नींद का होता है.

बस चालकों पर समय  से यात्रा पूरी करने का तनाव होता है, इसलिए  कई बार वह दिन में सो भी लें, तब भी रात को नींद आती ही है. लिहाजा हादसे होते हैं. कई मामलों में (छोटे पहिये वाली गाड़ी में) टायर में हवा का दबाव अधिक होने से वह रोड पर चलते-चलते घिस जाता है और बर्स्ट हो जाता है. इससे गाड़ी अनियंत्रित हो जाती है. 

रविवार को हुए हादसे में 7 लोगों की मौत
एसयूवी से पुलिस अंदाजा लगा रही है कि टक्कर इतनी भीषण थी कि कार में सेफ्टी बैलून खुलने के बावजूद उसमें सवार किसी की जान नहीं बच सकी. इससे पहले रविवार देर शाम आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस पर उन्नाव के पास ट्रक और मारुति वैन की आपस में टक्कर हो गई. दुर्घटना के बाद वैन में आग लग गई. वैन में आग लगने के कारण 7 लोगों की जिंदा जलकर मौत हो गई थी.

बेकाबू कार ने पेट्रोल पंप के स्टाफ को रौंदा , देखिए वायरल वीडियो