close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

स्वास्थ्य खराब होने के बावजूद गृहमंत्री शाह ने NSG कमांडोज का हौसला अफजाई किया

आतंकवाद विरोधी गतिविधियों और हाईजैकिंग जैसे हालात से निपटने वाली स्पेशल फोर्स यूनिट NSG का आज स्थापना दिवस है. इस मौके पर स्वास्थ्य खराब होने के बावजूद गृहमंत्री अमित शाह जवानों का हौसला अफजाई किया.

स्वास्थ्य खराब होने के बावजूद गृहमंत्री शाह ने NSG कमांडोज का हौसला अफजाई किया
NSG स्थापना दिवस समारोह में गृहमंत्री अमित शाह

नई दिल्ली: भारत की स्पेशल फोर्स यूनिट 'राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड' (एनएसजी) के स्थापना दिवस के मौके पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया. जिसमें देश के गृहमंत्री अमित शाह समेत कई आला अधिकारियों ने शिरकत किया. इस अवसर पर गृहमंत्री ने देश के वीर जवानों का हौसला बुलंद किया. 

दरअसल, अमित शाह की तबीयत खराब है, जिसकी जानकारी उन्होंने खुद सोशल मीडिया के माध्यम से दी है. इसके बावजूद उन्होंने गृहमंत्री के दायित्व को समझते हुए एनएसजी के कार्यक्रम में वीर सपूतों को हौसला अफजाई करने पहुंच गए. इस दौरान उन्होंने भारत की अहमियत को बताया. 

नीचे पढ़ें- अमित शाह की 5 बड़ी बातें

1). गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि NSG के कामांडरों को अभी तक तीन अशोक चक्र, दो कीर्ति चक्र, चार शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया है और यही बताता है कि देश की सुरक्षा में NSG का योगदान कितना महत्वपूर्ण है.

2). उन्होंने कहा कि अभी-अभी आतंकवाद के संपूर्ण उन्मूलन के लिए देश के प्रधानमंत्री मोदी जी ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटा कर देश को आतंकवाद और कश्मीर को हमेशा के लिए सुरक्षित करने के लिए एक बहुत बड़ा कदम उठाया है. दुनिया में शायद ही कोई ऐसा देश होगा जिसने इतनी लंबी लड़ाई आतंकवाद के खिलाफ लड़ी होगी. देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में हमारी आतंकवाद के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति अटल और अडिग है. 

3). शाह ने अपनी सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए बताया कि एनएसजी 2014 से कई नए तकनीकी प्रवर्तन से लैस है. एनएसजी की क्षमताओं को इनसे मदद मिली है, लेकिन हम जानते हैं कि हम केवल कमांडरों की बहादुरी, देशभक्ति और जुनून से जीत हासिल कर सकते हैं.

4). अमित शाह ने कहा कि आतंकवाद की स्थिति को देखते हुए, हमारी सरकार ने 2016 में NSG के 5वें क्षेत्रीय हब को स्थापित करने का निर्णय लिया. यह पहले ही शुरू हो चुका है और कार्य में है. कई अन्य बातों के अलावा, NSG के सैनिकों ने माउंट एवरेस्ट को ऊंचा कर दिया है और शीर्ष पर भारतीय ध्वज को स्थापित किया.

5). गृहमंत्री ने ये भी कहा कि मुझे पता है कि एनएसजी साल भर में 24x7 किसी भी चुनौती को लेने के लिए तैयार है. हम उनकी तत्परता के कारण देश की आंतरिक सुरक्षा को लेकर निश्चिंत हैं.

क्या है NSG?

  • NSG की स्थापना: 1984
  • NSG का मुख्यालय: दिल्ली

राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (NSG) भारत की एक स्पेशल फोर्स यूनिट है. इसका मुख्य काम आतंकवाद विरोधी गतिविधियों जैसे आतंकी हमले, हाईजैकिंग आदि से निपटना है. इसके अलावा ये सूनिट देश के वीवीआईपी लोगों को सुरक्षा मुहैया कराती है. ये यूनिट पूरी तरह केंद्रीय अर्द्धसैनिक बल की तरह काम करती है. 

NSG के जवानों की ट्रेनिंग

NSG में शामिल हुए जवानों की ट्रेनिंग बेहद ही कठिन और चुनौतीपूर्ण होती है. NSG के जवानों के लिए स्पेशल ट्रेनिंग दी जाती है. भारतीय सेना और अर्द्धसैनिक बलों में से चुनिंदा जवानों को ही स्पेशल ट्रेनिंग देकर इस स्पेशल फोर्स यूनिट में शामिल किया जाता है. एक तय समय के बाद उन्हें वापस उनके दल में भेज दिया जाता है.

दरअसल, इन दिनों देश में चुनावी सीजन का पारा हाई है. दो राज्य में विधानसभा चुनाव के लिए कशमकश का दौर जारी है. अमित शाह देश के गृहमंत्री होने के साथ-साथ भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी है. उन्होंने एक वीडियो के जरिए ये जानकारी दी है कि उन्हें हरियाणा विधानसभा चुनाव में प्रचार के लिए जाना था. लेकिन अस्वस्थ होने के कारण नहीं जा सका.