Singhu Border Murder: किसान आंदोलन के मंच के पास युवक की बेरहमी से हत्या, हाथ काटकर लटकाया शव

 कुंडली सिंघु बॉर्डर इलाके में शुक्रवार सुबह किसान आंदोलन के मंच के पास एक युवक का शव लटका हुआ मिला. युवक का दाहिना हाथ कटा था. 

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Oct 15, 2021, 11:59 AM IST
  • पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लिया
  • एफएसल टीम ने मौके से जुटाए सबूत
Singhu Border Murder: किसान आंदोलन के मंच के पास युवक की बेरहमी से हत्या, हाथ काटकर लटकाया शव

नई दिल्लीः नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों के सिंघु बॉर्डर स्थित धरनास्थल पर एक युवक का शव मिला है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, युवक की बेरहमी से हत्या की गई. उसके बाद शव को लटका दिया गया. पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लिया और उसे सरकारी अस्पताल की मोर्चरी में रखवा दिया है. मृतक की पहचान नहीं हो सकी है.

धारदार हथियार से हमले के मिले निशान
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कुंडली सिंघु बॉर्डर इलाके में शुक्रवार सुबह किसान आंदोलन के मंच के पास एक युवक का शव लटका हुआ मिला. युवक का दाहिना हाथ कटा था. उसके शरीर पर धारदार हथियार से हमले के निशान मिले. पुलिस ने शव को नीचे उतारा और अपने कब्जे में ले लिया. वहीं, एफएसएल टीम भी मौके पर पहुंची. टीम ने घटनास्थल से सबूत इकट्ठा किए. पुलिस मामले की जांच कर रही है. 

अज्ञात के खिलाफ पुलिस ने दर्ज की FIR
डीएसपी हंसराज ने बताया कि शुक्रवार सुबह 5 बजे सूचना मिली कि कुंडली, सोनीपत मार्ग पर किसानों के धरनास्थल पर एक युवक का हाथ पैर कटा हुआ शव लटकाया गया है.

घटना के पीछे किसका हाथ है, इसकी जानकारी नहीं है. अज्ञात के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. घटना के संबंध में वायरल हो रहा वीडियो जांच का विषय है. पुलिस मामले की जांच कर रही है. 

घटना का वीडियो हो रहा वायरल
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सिंघु बॉर्डर पर जिस जगह पर शव लटकाया गया है, वहां का एक वीडियो वायरल हो रहा है. वीडियो के बैकग्राउंड में आतंकी जरनैल सिंह भिंडरावाले की भी फोटो दिखाई दे रही है.  हालांकि, वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं की जा सकी है. 

कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहा प्रदर्शन

बता दें कि तीन कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली के अलग-अलग बॉर्डर पर विशेष रूप से हरियाणा, पंजाब और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसान धरने पर बैठे हैं. धरने पर बैठे किसानों के विरोध प्रदर्शन को लगभग एक साल हो गया है. वे तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग कर रहे हैं.

यह भी पढ़िएः विजयादशमी पर संघ प्रमुख मोहन भागवत ने की शस्त्र पूजा, बोले- विभाजन का दर्द अब भी बाकी

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़