महंत मौत मामले में एसआईटी गठित, आज होगा नरेंद्र गिरी का पोस्टमॉर्टम

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि सोमवार को अपने मठ के एक कमरे में मृत पाये गए थे. पुलिस के मुताबिक, गिरि ने कथित तौर पर पंखे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Sep 22, 2021, 08:05 AM IST
  • पुलिस को मिला है एक सुसाइड नोट
  • पुलिस कर रही मामले की जांच
महंत मौत मामले में एसआईटी गठित, आज होगा नरेंद्र गिरी का पोस्टमॉर्टम

लखनऊ: उत्तर प्रदेश पुलिस ने अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष और श्रीमठ बाघंबरी गद्दी के महंत नरेंद्र गिरि की मृत्यु मामले की जांच के लिए मंगलवार को 18 सदस्यीय विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन किया और हरिद्वार में संत के एक शिष्य को हिरासत में ले लिया.

योगी बोले- सभी पहलुओं से हो रही जांच

इस बीच, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि महंत की मृत्यु से जुड़े सभी पहलुओं की जांच की जा रही है और दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी कहा कि उनकी सरकार मामले की हर तरह की जांच के लिए तैयार है. समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उच्च न्यायालय के किसी मौजूदा न्यायाधीश से मामले की न्यायिक जांच की मांग की.

महंत नरेंद्र गिरि की मृत्यु मामले की सीबीआई जांच के अनुरोध वाली एक याचिका इलाहाबाद उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश को भी भेजी गई है. अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि सोमवार को अपने मठ के एक कमरे में मृत पाये गए थे. पुलिस के मुताबिक, गिरि ने कथित तौर पर पंखे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. महंत के शव का पोस्टमार्टम बुधवार को किया जाएगा.

सुसाइड नोट में मानसिक रूप से परेशान होने की बात

पुलिस ने कहा कि एक कथित सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें महंत ने लिखा है कि वह मानसिक रूप से परेशान हैं और अपने एक शिष्य से व्यथित हैं. एक विज्ञप्ति के अनुसार, प्रयागराज एसएसपी द्वारा गठित 18 सदस्यीय विशेष जांच दल (एसआईटी) में दो क्षेत्राधिकारी शामिल होंगे.

इस बीच, लखनऊ में अपर पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने कहा कि राज्य पुलिस ने सोमवार रात हरिद्वार में संत के शिष्य आनंद गिरि को हिरासत में ले लिया. कुमार ने कहा कि आनंद गिरि के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज होने के बाद उन्हें हिरासत में लिया गया.

अधिकारी ने कहा कि मामले की 'निष्पक्ष और पारदर्शी' जांच जारी है और राज्य पुलिस मामले को संभालने में सक्षम है. सुसाइड नोट की सत्यता के बारे में कुमार ने कहा कि फॉरेंसिक विशेषज्ञ इसकी जांच कर रहे हैं.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़