अंधविश्वासः पालघर में तांत्रिक से Corona का इलाज कराने जुटे 25 लोग, पुलिस ने ठोंका जुर्माना

 महाराष्ट्र के पालघर जिले में पुलिस ने एक मकान में छापा मारने के बाद एक ‘तांत्रिक’ तथा एक और व्यक्ति को गिरफ्तार किया. इस मकान में लोग स्वस्थ होने की आस में बड़ी संख्या में एकत्रित हुए थे.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : May 15, 2021, 05:36 PM IST
  • पुलिस ने 25 लोगों पर लगाया मास्क न पहनने पर 12,500 रुपये जुर्माना
  • पुलिस ने ‘तांत्रिक’ और मकान के मालिक समेत 27 लोगों को पकड़ लिया
अंधविश्वासः पालघर में तांत्रिक से Corona का इलाज कराने जुटे 25 लोग, पुलिस ने ठोंका जुर्माना

नई दिल्लीः Corona ने एक तरफ जहां खौफनाक स्थिति बना रखी है. वहीं लोगों में इसे लेकर अजीब-अजीब भ्रम ने भी विकट परिस्थितियां खड़ी कर दी हैं. महामारी के साथ अंधविश्वास का जुड़ जाना, एक तो करेला दूजा नीम पर चढ़ा वाली कहावत को सच कर रहा है.

तंत्र-मंत्र के चक्कर में पड़ रहे लोग
दरअसल, कोरोना भगाने और इससे निजात पाने के लिए लोग तंत्र-मंत्र और तांत्रिक के चक्कर में पड़ जा रहे हैं. इससे लोग ठीक तो क्या ही होंगे उल्टे यह चक्कर महामारी फैलाने और कोविड गाइडलाइन की धज्जियां उड़ा दे रहा है.

दरअसल लोग भीड़ लगा रहे हैं. महाराष्ट्र के पालघर में ऐसा ही एक वाकया सामने आया, जहां पुलिस ने कड़ी कार्रवाई की है. 

यह भी पढ़िएः नदियों मे तैर रहे संक्रमितों के शव, क्या गंगा वॉटर सप्लाई से है कोरोना का खतरा-एक्सपर्ट से जानिए

पालघर में पुलिस ने की कार्रवाई
जानकारी के मुताबिक, महाराष्ट्र के पालघर जिले में पुलिस ने एक मकान में छापा मारने के बाद एक ‘तांत्रिक’ तथा एक और व्यक्ति को गिरफ्तार किया. इस मकान में लोग स्वस्थ होने की आस में बड़ी संख्या में एकत्रित हुए थे.

अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि विक्रमगढ़ तहसील के सकतोर गांव में स्थित एक मकान पर शुक्रवार दोपहर को छापा मारा गया.

यह भी पढ़िएः Corona in India: देश में फिर सामने आए 3 लाख से ज्यादा नए मामले, महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा मौतें

तांत्रिक और मकान-मालिक गिरफ्तार
पुलिस ने बताया कि उन्होंने वहां एकत्रित 25 लोगों से मास्क न पहनने के लिए 12,500 रुपये का जुर्माना वसूला. एक अधिकारी ने कहा, ‘‘एक खुफिया सूचना के आधार पर जिला ग्रामीण पुलिस ने मकान पर छापा मारा और पाया कि वहां कुछ अंधविश्वासी गतिविधियां चल रही थीं.

घटनास्थल पर महिलाओं समेत करीब 50 लोग एकत्रित थे.’’ छापे के दौरान कई लोग भाग गए लेकिन पुलिस ने ‘तांत्रिक’ और मकान के मालिक समेत 27 लोगों को पकड़ लिया. ‘तांत्रिक’ और मकान मालिक को बाद में गिरफ्तार कर लिया गया.

आस्था पर सवाल नहीं, लेकिन भीड़ जुटना गलत
दरअसल, बीते साल से कोरोना को लेकर कई तरह के धार्मिक अनुष्ठान करने या पूजा-व्रत करने की खबरें आ रही हैं. यूपी के महाराजगंज के एक गांव में ग्रामीणों के 9 दिनों का अनुष्ठान की खबरें हैं. वहीं वेस्ट यूपी के जिलों में जगह-जगह हवन की खबरें आ रही हैं. इनका उद्देश्य कोरोना भगाना है.

इन सभी मामलों में आस्था पर कोई चोट नहीं है, लेकिन लोग ऐसे मौके पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे. साथ ही पालघर जैसे अंधविश्वास वाले मामले बीमारी को और भयंकर रूप में बदल सकते हैं. 

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़