मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश के बाद पहाड़ से मैदान तक पसरी ठंड

गुरुवार शाम को दिल्ली-एनसीआर में भी बारिश हुई. इसके बाद यहां भी मौसम ठंडा हो गया. बुधवार को जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के उच्च पर्वतीय इलाकों में बर्फबारी और मैदानी क्षेत्रों में भारी बारिश होने के कारण अचानक ठंड बढ़ गई थी. 

मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश के बाद पहाड़ से मैदान तक पसरी ठंड

नई दिल्लीः मौसम ने करवट ले ली है और इसी के साथ सर्दी का शबाब पर चढ़ना शुरू हो चुका है. हालांकि यह काफी देरी से है, फिर भी मौसम के इस बदलाव ने खुशनुमा अहसास कराया है.  पिछले 24 घंटों के दौरान देशभर के कई इलाकों में मौसम में बदलाव आया है. इस दौरान हल्की से मध्यम बारिश हुई है. जम्मू और कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में भारी बारिश के साथ बर्फबारी भी हुई है. इसके अलावा उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश के अलग-अलग इलाकों में ओला गिरने की भी जानकारी मिली है. 

गुरुवार शाम को दिल्ली-एनसीआर में भी बारिश हुई. इसके बाद यहां भी मौसम ठंडा हो गया. पिछले दिनों मौसम विभाग ने भी 28 नवंबर के बाद वेस्टर्न डिस्टरबेंस और मौसम में बदलाव की बात कही थी.  पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी थोड़ी बारिश हुई. पिछले 24 घंटों के दौरान भारत में दक्षिणी तटीय तमिलनाडु में हल्की से मध्यम वर्षा हुई है. देश के उत्तरी भागों में मुख्य रूप से हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पश्चिम उत्तर प्रदेश और दिल्ली-एनसीआर इलाक में हल्की बारिश देखी गई. हरियाणा, पंजाब, पश्चिम उत्तर प्रदेश, दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र और उत्तरी राजस्थान के कुछ हिस्सों में न्यूनतम तापमान में 2-3 डिग्री की वृद्धि हुई है. 

पहाड़ों पर बर्फबारी, निचले इलाकों में बारिश
बुधवार को जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के उच्च पर्वतीय इलाकों में बर्फबारी और मैदानी क्षेत्रों में भारी बारिश होने के कारण अचानक ठंड बढ़ गई थी. इसका असर मैदानी इलाकों में देखने को मिल रहा था.

बारिश के कारण जम्मू-कश्मीर के रामबन जिले में हुए भूस्खलन से जम्मू-श्रीनगर हाईवे बंद हो गया है और हजारों वाहन जगह-जगह फंस गए हैं. कश्मीर को पुंछ से जोड़ने वाला मुगल रोड और किश्तवाड़ को अनंतनाग से जोड़ने वाला सिंथनटॉप मार्ग बंद होने से कश्मीर का देश से सड़क संपर्क इस समय कटा हुआ है. श्रीनगर-लेह हाईवे भी बंद है.

माइक्रोमैन मुकुल डे से मिलिए, जिनकी कारीगरी के कायल हैं खुद राष्ट्रपति

महागुंसटॉप में डेढ़ फीट बर्फ पड़ी
मौसम विभाग ने भविष्यवाणी की थी कि पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव के चलते 27 नवंबर से अधिकांश इलाकों में बर्फबारी और बारिश हो सकती है. बुधवार तड़के से ही गुलमर्ग समेत कश्मीर वादी के सभी उच्च पर्वतीय इलाकों में बर्फबारी और निचले इलाकों में बारिश शुरू हो गई. गुलमर्ग में छह इंच, सोनमर्ग में आठ इंच, साधनाटॉप के निकट दो फीट और महागुंसटॉप में डेढ़ फीट ताजा बर्फ पड़ी. वहीं, श्रीनगर, जम्मू, कठुआ, ऊधमपुर में तड़के शुरू हुई बारिश दिनभर जारी रही.

गुलमर्ग, लेह और कारगिल का न्यूनतम तापमान क्रमश: माइनस 3.5, 7.3, और 4.2 डिग्री सेल्सियस रहा. वहीं, कुपवाड़ा में सर्वाधिक 36.1 एमएम बारिश रिकॉर्ड की गई. कटड़ा में माता वैष्णो देवी के लिए हेलीकाप्टर सेवा बार-बार प्रभावित होती रही.

सत्यशोधक समाज के जनक ज्योतिबा फुले, जिन्होंने नारी शिक्षा का बिगुल फूंका