ऐसे दीपक जलाने से हर इच्छा होगी पूरी, जानिए 20 उपाय

दीपक जलाना सनातन धर्म की बेहद अहम परंपरा है. हर पूजा-पाठ और अनुष्ठान में दीपक जलाया जाता है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि किस अवसर पर कौन सा दीपक जलाया जाना चाहिए.   

ऐसे दीपक जलाने से हर इच्छा होगी पूरी, जानिए 20 उपाय

देव पूजन के समय दीपक तो सभी प्रज्जवलित करते हैं. लेकिन मनुष्य की इच्छाएं अनंत होती हैं. सभी अलग अलग तरह की मनोकामनाओं की पूर्ति के लिए देवताओं का पूजन करते हैं. ऐसे में विभिन्न प्रकार के अनुष्ठानों के लिए अलग अलग तरह के दीपक जलाए जाने का प्रावधान है. भविष्य पुराण में इसका विस्तार से वर्णन है.  

आईए आपको बताते हैं कि किस विशिष्ट मनोकामना में देव पूजन में किस तरह के दीपक जलाने का विधान है-

1. आर्थिक लाभ के लिए नियम पूर्वक घर के मंदिर में शुद्ध घी का दीपक जलाना चाहिए.

2. शत्रु पीड़ा से राहत के लिए भैरव जी के सामने सरसों के तेल का दीपक जलाना चाहिये.

3.भगवान सूर्य की पूजा में घी का दीपक जलाना चाहिए.

4.शनि के लिए सरसों के तेल का दीपक जलाना चाहिए.

5.पति की दीर्घायु के लिए गिलोय के तेल का दीपक जलाना चाहिए.

6.राहु तथा केतु के लिए अलसी के तेल का दीपक जलाना चाहिए.

7.किसी भी देवी या देवता की पूजा में गाय का शुद्ध घी तथा एक फूल बत्ती या तिल के तेल का दीपक आवश्यक रूप से जलाना चाहिए.

8.भगवती जगदंबा दुर्गा देवी की आराधना के समय एवं माता सरस्वती की आराधना के समय तथा शिक्षा-प्राप्ति के लिए दो मुखों वाला दीपक जलाना चाहिए.

9.भगवान गणेश की कृपा-प्राप्ति के लिए तीन बत्तियों वाला घी का दीपक जलाना चाहिए.

10.भैरव साधना के लिए सरसों के तेल का चौमुखी दीपक जलाना चाहिए.

11. मुकदमा जीतने के लिए पांच मुखी दीपक जलाना चाहिए.

12.भगवान कार्तिकेय की प्रसन्नता के लिए गाय के शुद्ध घी या पीली सरसों के तेल का पांच मुखी दीपक जलाना चाहिए.

13.भगवान शिव की प्रसन्नता के लिए आठ तथा बारह मुखी दीपक पीली सरसों के तेल का दीपक जलाना चाहिए.

14.भगवान विष्णु की प्रसन्नता के लिए सोलह बत्तियों का दीपक जलाना चाहिए.

15.लक्ष्मी जी की प्रसन्नता केलिए घी का सात मुखी दीपक जलाना चाहिए.

16.भगवान विष्णु की दशावतार आराधना के समय दस मुखी दीपक जलाना चाहिए.

17.इष्ट-सिद्धि तथा ज्ञान-प्राप्ति के लिए गहरा तथा गोल दीपक प्रयोग में लेना चाहिए.

18.शत्रुनाश तथा आपत्ति निवारण के लिए मध्य में से ऊपर उठा हुआ दीपक प्रयोग में लेना चाहिए.

19.लक्ष्मी-प्राप्ति के लिए दीपक सामान्य गहरा होना चाहिए. 

20.हनुमानजी की प्रसन्नता के लिए तिकोने दीपक का प्रयोग करना चाहिए और उसमें चमेली के तेल का प्रयोग करना चाहिए.
(भविष्य पुराण से संकलित)

ये भी पढ़ें- माता सती ने भगवान शिव से मांगा अनोखा वरदान

ये भी पढ़ें- द्वैत में अद्वैत का दर्शन कराती हुई राम और हनुमान की ज्ञानपूर्ण कथा

देश और दुनिया की हर एक खबर अलग नजरिए के साथ और लाइव टीवी होगा आपकी मुट्ठी में. 

डाउनलोड करिए ज़ी हिंदुस्तान ऐप. जो आपको हर हलचल से खबरदार रखेगा...

नीचे के लिंक्स पर क्लिक करके डाउनलोड करें-

Android Link - https://play.google.com/store/apps/details?id=com.zeenews.hindustan&hl=en_IN

iOS (Apple) Link - https://apps.apple.com/mm/app/zee-hindustan/id1527717234