नई IPL टीमों की घोषणा के बाद सौरव गांगुली को क्यों देना पड़ा पद से इस्तीफा, जानिए

एटीके मोहन बागान आरपीएसजी वेंचर्स लिमिटेड (RPSG Group) के स्वामित्व वाली फुटबॉल टीम है. 

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Oct 27, 2021, 04:25 PM IST
  • आरपी-एसजी समूह ने खरीदी लखनऊ की टीम
  • ATK Mohun Bagan के निदेशक के पद से इस्तीफा
नई IPL टीमों की घोषणा के बाद सौरव गांगुली को क्यों देना पड़ा पद से इस्तीफा, जानिए

नई दिल्ली: बीसीसीआई ने अगले आईपीएल सीजन के लिए दो नई टीमों का ऐलान कर दिया है. लखनऊ और अहमदाबाद के नाम से दो नई फ्रेंचाइजी अगले सीजन से नजर आने वाली हैं. 

ATK Mohun Bagan के निदेशक के पद से इस्तीफा

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने ATK Mohun Bagan के पद से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने इसके पीछे कारण हितों के टकराव को बताया है. 

आपको बता दें कि एटीके मोहन बागान आरपीएसजी वेंचर्स लिमिटेड (RPSG Group) के स्वामित्व वाली फुटबॉल टीम है, जिसने सोमवार को एक रिकॉर्ड 7,090 करोड़ रुपये की बोली लगाकर आईफीएल की नई टीम खरीदी है. गांगुली को लगता है कि उनके प्रेसिडेंट रहते हुए अगर वे इस ग्रुप के साथ रहेंगे तो निष्पक्ष काम करने में उन्हें दिक्कत हो सकती है. 

आरपी-एसजी समूह ने खरीदी लखनऊ की टीम

सौरव गांगुली संभावित हितों के टकराव के विवाद से बचने के लिए एटीके मोहन बागान (ATK Mohun Bagan) के निदेशक के रूप में पद छोड़ने का फैसला किया है. आरपी-एसजी समूह कोलकाता के दिग्गज उद्योगपति संजीव गोयनका (Sanjiv Goenka) की कंपनी ने सबसे ज्यादा की बोली लगाकर लखनऊ की फ्रेंचाइजी (Lucknow Franchise) खरीदी है.

फुटबॉल क्लब के शेयरधारक भी हैं गांगुली

गौरतलब है कि पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने मोहन बागान में अपनी भूमिका से हटने की प्रक्रिया शुरू कर दी है. मोहन बागान भारतीय फुटबॉल के दो सबसे सम्मानित और लोकप्रिय क्लबों में से एक है, जो इंडियन सुपर लीग का हिस्सा है. मोहन बागान बोर्ड के निदेशकों में से एक होने के अलावा, गांगुली एक शेयरधारक भी हैं. 

बीसीसीआई को होगा अरबों का लाभ

आईपीएल की 2 नई टीमों का ऐलान हो गया. इसके साथ ही 2022 से आईपीएल में 8 के बजाए 10 टीमें एक-दूसरे के खिलाफ खेलती नजर आएंगी. ये टीम अहमदाबाद और लखनऊ हैं.

ये भी पढ़ें- Live Show से भगाए गए शोएब अख्तर, पाकिस्तानी एंकर को चुभा कड़वा सच

ऑक्शन में अहमदाबाद को सीवीसी कैपिटल ने 5600 करोड़ जबकि लखनऊ को आरपी संजीव गोयनका ग्रुप (RP Sanjiv Goenka Group) ने 7090 करोड़ रुपए में खरीदा. यानी दोनों टीम से बीसीसीआई (BCCI) को लगभग 12,690 हजार करोड़ रुपए मिले. हालांकि, ऐसा पहली बार नहीं होगा कि लीग में 10 टीम में होंगी.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

 

 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़