CBSE: अब नहीं करना होगा एक साल का इंतजार, बोर्ड परीक्षा के बाद तुरंत होगी कंपार्टमेंट परीक्षा

CBSE बोर्ड ने दसवीं और बारहवीं कक्षा के छात्रों के लिए बड़ी घोषणा की है. सीबीएसई बोर्ड के छात्र अब शैक्षणिक वर्ष में ही कंपार्टमेंट परीक्षा दे सकेंगे. 

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Mar 22, 2021, 12:21 PM IST
  • जानिए क्या है सीबीएसई का नया नियम
  • सीबीएसई ने कम किया परीक्षा का पाठ्यक्रम
 CBSE: अब नहीं करना होगा एक साल का इंतजार, बोर्ड परीक्षा के बाद तुरंत होगी कंपार्टमेंट परीक्षा

नई दिल्ली: अब सीबीएसई बोर्ड के छात्रों को परीक्षा में कम नंबर आने पर निराश नहीं होना पड़ेगा. सीबीएसई बोर्ड ने इस वर्ष बोर्ड परीक्षा देने वाले छात्रों के लिए बड़ी घोषणा की है.

सीबीएसई के पुराने नियमों के अनुसार, अगर किसी छात्र को किसी एक विषय में अपने नंबरों में सुधार करना होता था, तो उसे कंपार्टमेंट परीक्षा देने के लिए एक वर्ष तक का इंतजार करना पता था.

सीबीएसई के नए नियमों के अनुसार, अब छात्र उसी शैक्षणिक वर्ष में ही कंपार्टमेंट परीक्षा दे सकेंगे.

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत यह नया नियम लागू किया गया है. सीबीएसई के इस फैसले का उद्देश्य छात्रों को अच्छे अंक लाने का एक और अवसर प्रदान करना है. 

जानिए क्या है नया नियम 

सीबीएसई के नए नियम के अनुसार, दसवीं और बारहवीं कक्षा के छात्रों के अब शैक्षणिक वर्ष में ही एक विषय अंकों में सुधार करने का मौका मिलेगा. 

सीबीएसई द्वारा जारी की गई सूचना के अनुसार, छात्रों के लिए कंपार्टमेंट परीक्षा का आयोजन मुख्य परीक्षाओं के आयोजन के तुरंत बाद किया जाएगा. 

छात्र एक विषय की मुख्य परीक्षा और कंपार्टमेंट परीक्षा में से जिसमें भी अधिक अंक हासिल करेगा, उसे ही मान्यता दी जाएगी. 

हालांकि कंपार्टमेंट परीक्षा देने वाले छात्रों को कंबाइन मार्कशीट जारी की जाएगी.

अगर कोई छात्र किन्हीं दो विषयों में कंपार्टमेंट परीक्षा देना चाहता है, तो उसे एक साल का इंतजार करना पडेगा. जब अगले शैक्षणिक वर्ष की मुख्य परीक्षाओं का आयोजन किया जाएगा, उसी दौरान छात्र कंपार्टमेंट परीक्षा भी दे सकेंगे.

नए नियम के अनुसार, छात्र केवल एक ही विषय की कंपार्टमेंट परीक्षा समान शैक्षणिक वर्ष में डे सकते हैं.  

यह भी पढ़िए: ICAI Final Result 2021: सीए परीक्षा के जनवरी सेशन का रिजल्ट हुआ जारी, जानिए कहां से देखें रिजल्ट

कम किया गया बोर्ड परीक्षा का पाठ्यक्रम

कोरोना महामारी के कारण देशभर में शैक्षणिक गतिविधियां प्रभावित हुईं थी. इस दौरान छात्रों पर मानसिक दबाव भी काफी बढ़ गया है.

इसे ध्यान में रखते हुए सीबीएसई बोर्ड ने छात्रों के लिए बोर्ड परीक्षा का पाठ्यक्रम 30 प्रतिशत तक कम किया है.

सीबीएसई ने इस बार परीक्षा पैटर्न में भी बदलाव करने का फैसला किया है. इस बार छात्रों की सहूलियत के लिए सीबीएसई ने 10 प्रतिशत अधिक बहुविकल्पीय प्रश्न रखने का फैसला किया है. 

यह भी पढ़िए: UP PGT/TGT Vacancy 2021: उत्तर प्रदेश शिक्षा सेवा चयन बोर्ड ने 15,198 पदों पर जारी किए आवेदन

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़