दिल्ली में इन जगहों पर जाने से बचें, बुरे हैं हालात

दिल्ली के कई इलाकों में धारा 144 लागू कर दी गई है. स्थितियां कितनी बुरी है कि पुलिस ने यह फरमान जारी किया है कि इन क्षेत्रों में ज्यादा बाहर न निकलें. उन क्षेत्रों में  पुलिस का पहरा तो है ही साथ ही इंटरनेट सेवाओं को भी बंद कर दिया गया है.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Dec 19, 2019, 01:50 PM IST
    • दिल्ली पुलिस पीआरओ ने की व्यवस्था बनाए रखने की अपील
    • कौन-कौन से हैं वह प्रभावित इलाके
    • इन क्षेत्रों में बंद है इंटरनेट सेवाएं
दिल्ली में इन जगहों पर जाने से बचें, बुरे हैं हालात

दिल्ली: पिछले कुछ दिनों से नागरिकता संशोधन कानून का विरोध गले की हड्डी बन चुका है, जो गले से नीचे ही नहीं उतर रहा और न ही बाहर ही आ पा रहा है. दिल्ली की स्थिति को देखते हुए कई जगहों पर धारा 144 लागू कर दी गई है.

दिल्ली पुलिस ने यह संदेश सार्वजनिक किया है कि जिन जगहों पर धारा 144 लगाई गई है, वहां किसी भी तरह का हंगामा खड़ा न करें. उन्होंने प्रोटेस्ट करने वाले लोगों को भी इत्तेला किया है कि वे उन जगहों को छोड़ कर ही अपना विरोध प्रदर्शन करें. वरना मजबूरन उन्हें कोई एक्शन लेना होगा. 

दिल्ली पुलिस पीआरओ ने की व्यवस्था बनाए रखने की अपील

दिल्ली पुलिस के पीआरओ एमएस रंधावा ने लोगों से अपील की व्यवस्था बनाए रखने में मदद करें. किसी भी तरह के हिंसा से अशांति फैल रही है.

उन्होंने कुछ जगहों को वेरीफाई किया और कहा कि इन क्षेत्रों में जरा सावधानी बरतें.  दिल्ली पुलिस ने कुछ क्षेत्रों को चिन्हित कर बताया और कहा कि यहां ज्यादा हंगामा करने की जरा सी कोशिश पर भी तुरंत कार्रवाई की जाएगी. 

कौन-कौन से हैं वह प्रभावित इलाके

  • दिल्ली- मथुरा रोड और कालिंदी कुंज के बीच ट्रैफिक बंद
  • साउथ एक्सटेंशन, आश्रम,में ट्रैफिक जाम 
  • नोएडा से दिल्ली DND पर ट्रैफिक धीमा 
  • नोएडा से DND, अक्षरधाम के रास्ते दिल्ली जा सकते हैं
  • मथुरा रोड से नोएडा के लिए आश्रम चौक होते हुए जाएं
  • DND या नोएडा लिंक रोड होते हुए नोएडा जा सकते हैं

इन क्षेत्रों में बंद है इंटरनेट सेवाएं

इसके अलावा एक सूची भी जारी की गई है जहां पर इंटरनेट सुविधाओं को बंद कर दिया गया है. मंडी हाउस, सीलमपुर, जाफराबाद, शाहीन बाग, मुस्तफाबाद, जामिया, बवाना और उत्तरी दिल्ली के अलावा मध्य जिलों में  भी डाटा सेवाओं को बंद रखा गया है. एयरटेल से लेकर जिओ तक सभी टेलिकॉम कंपनियों को यह नोटिस भेज दिया गया है. 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़