ब्रिक्स से लौट कर पीएम मोदी आए, भारत के लिए ये उपहार लाए

 ब्राजील के ब्रासीलिया शहर में पांच सदस्य देशों की बैठक में शिरकत करने प्रधानमंत्री मोदी पहुंचे थे. यहां कई अलग-अलग मुद्दों के साथ आतंकवाद से निपटने को लेकर चर्चा हुई. प्रधानमंत्री ने इस बैठक को सार्थक कहा है साथ ही विदेश मंत्रालय ने भी कहा है कि ब्रिक्स में भारत के संबंध मजबूत हुए हैं.

ब्रिक्स से लौट कर पीएम मोदी आए, भारत के लिए ये उपहार लाए

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिवसीय ब्रिक्स सम्मेलन से गुरुवार रात लौट आए. ब्राजील के ब्रासीलिया शहर में पांच सदस्य देशों की बैठक में शिरकत करने प्रधानमंत्री मोदी पहुंचे थे. यहां कई अलग-अलग मुद्दों के साथ आतंकवाद से निपटने को लेकर चर्चा हुई साथ ही व्यापार और प्रौद्योगिकी में उन्नत प्रगति के मुद्दे भी रखे गए. प्रधानमंत्री ने इस सम्मेलन को बहुत सार्थक करार दिया है.

उन्होंने कहा कि इस शिखर सम्मेलन के दौरान ब्रिक्स के सदस्य देशों ने व्यापार, नवोन्मेष, प्रौद्योगिकी एवं संस्कृति के क्षेत्रों में संबंधों को मजबूत बनाने पर चर्चा की. मोदी पांच सबसे उभरती अर्थव्यवस्थाओं- ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका की दो दिवसीय बैठक में हिस्सा लेने के लिए बुधवार को ब्राजील की राजधानी ब्रासीलिया पहुंचे थे.

ब्रिक्स में साधा गया अमेरिका की संरक्षण वाद नीति पर निशाना
सम्मेलन के दौरान पांच सबसे बड़ी उभरती अर्थव्यवस्थाओं ने संरक्षणवाद की खिलाफत में जरूरी मुद्दों पर चिंतन किया. इस दौरान उन्होंने अमेरिकी शुल्कों और एकतरफा कार्रवाई पर निशाना साधा. इस मौके पर तय किया गया कि भारत समेत सभी चारों सदस्य देश बहुपक्षवाद के समक्ष उत्पन्न अहम चुनौतियों से निपटेंगे.

एक संयुक्त घोषणा पत्र में ब्रिक्स के देशों- ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका ने कहा कि व्यापार में तनाव और नीतिगत अनिश्चतता का वैश्विक अर्थव्यवस्था में विश्वास, व्यापार, निवेश और वृद्धि पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है. उन्होंने कहा, ऐसे में यह जरूरी है कि सभी डब्ल्यूटीओ सदस्य एकतरफा और संरक्षणवादी उपायों से परहेज करें. उन्होंने कहा, हम नियमों पर आधारित, पारदर्शी, बिना किसी भेदभाव के, खुली, मुक्त एवं समावेशी अंतरराष्ट्रीय व्यापार के मूलभूत महत्व को दोहराते हैं. 

ब्रिक्स में मजबूत हुए भारत के संबंध 
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया, ब्रिक्स में आपसी संबंध मजबूत हुए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ब्रिक्स व अन्य ने 11वें सम्मेलन के सफल आयोजन में भाग लिया और इस दौरान ब्रिक्स देशों ने नये क्षेत्रों में सहयोग की तरफ कदम बढ़ाया और वैश्विक भविष्य का नेतृत्व करने के लिए अपने लिए महत्वाकांक्षी मार्ग निर्धारित किया.

मोदी ने गुरुवार को दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा से मुलाकात की और विभिन्न विषयों पर बातचीत भी की. उन्होंने ट्वीट किया, ब्रिक्स सम्मेलन के दौरान अपने मित्र राष्ट्रपति सिरिल रामाफोसा के साथ मुलाकात करके बहुत अच्छा लगा. हमने विभिन्न विषयों पर चर्चा की.

BRICS Summit: डंके की चोट पर PM मोदी ने पूरी दुनिया को बताया अगले 5 साल का सपना