रूस में पुतिन की पार्टी को संसद के निचले सदन में बहुमत

रूस के केंद्रीय चुनाव आयोग की ओर से प्रकाशित आंकड़ों के अनुसार, 99.94 प्रतिशत मतपत्रों की गिनती के साथ, यूनाइटेड रशिया ने 49.82 प्रतिशत मत हासिल किए.  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Sep 21, 2021, 09:43 AM IST
  • रूस में 450 सीटों पर हुए संसदीय चुनाव
  • शुक्रवार को आधिकारिक नतीजे घोषित होंगे
रूस में पुतिन की पार्टी को संसद के निचले सदन में बहुमत

मास्कोः देश की सत्ताधारी पार्टी यूनाइटेड रशिया ने संसद के निचले सदन में 'संवैधानिक बहुमत' बरकरार रखा है. स्टेट ड्यूमा चुनावों के शुरुआती नतीजों से इस बात के संकेत मिले हैं. यह पार्टी रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की है. 

दूसरे नंबर पर रही कम्युनिस्ट पार्टी
समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, देश के केंद्रीय चुनाव आयोग (सीईसी) की ओर से प्रकाशित आंकड़ों के अनुसार, 99.94 प्रतिशत मतपत्रों की गिनती के साथ, यूनाइटेड रशिया ने 49.82 प्रतिशत मत हासिल किए. रूस की कम्युनिस्ट पार्टी 18.93 प्रतिशत वोट हासिल करके दूसरे स्थान पर रही. 
उसके बाद लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी 7.55 प्रतिशत, ए जस्ट रशिया - पैट्रियट्स - फॉर ट्रुथ पार्टी 7.46 प्रतिशत का स्थान रहा.

हर पांच साल में होते हैं चुनाव
18 वर्षों में पहली बार, पांच राजनीतिक दलों ने राज्य ड्यूमा में प्रवेश करने के लिए पांच प्रतिशत की सीमा को पार किया. हर पांच साल में 450 सीटों को भरने के लिए मिश्रित चुनावी प्रणाली का इस्तेमाल किया जाता है. आधे सांसदों को पार्टी-सूची आनुपातिक प्रतिनिधित्व तंत्र द्वारा चुना जाता है और बाकी एकल जनादेश निर्वाचन क्षेत्रों में चुने जाते हैं.

यह भी पढ़िएः मोदी-बाइडन के बीच शुक्रवार को होगी द्विपक्षीय बैठक, संबंध मजबूत करने पर होगा जोर

चूंकि 99.95 प्रतिशत मतों की प्रक्रिया के बाद यूनाइटेड रशिया के उम्मीदवार 225 निर्वाचन क्षेत्रों में से 198 पर आगे चल रहे हैं, राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन द्वारा स्थापित सत्तारूढ़ पार्टी नए राज्य ड्यूमा में 300 से अधिक सीटों पर कब्जा कर सकती है.

51.68 प्रतिशत हुआ मतदान
कम्युनिस्ट पार्टी को वर्तमान की तुलना में उल्लेखनीय रूप से अधिक सीटें मिलेंगी, जबकि लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी के प्रतिनिधि लगभग आधे हो जाएंगे. देश भर में 51.68 प्रतिशत मतदान हुआ, जो 2016 के चुनावों में 47.88 प्रतिशत से अधिक था. 
सीईसी प्रमुख एला पामफिलोवा ने कहा कि 17-19 सितंबर को ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरह से हुए चुनावों के नतीजे शुक्रवार को आधिकारिक रूप से पुष्टि किए जाएंगे. बता दें कि चुनाव में बड़े पैमाने पर धांधली के भी आरोप लगे, लेकिन रूस के चुनाव आयोग ने इन आरोपों को ख़ारिज कर दिया.

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.  

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़