इस FORMULA से पास होंगे यूपी बोर्ड के 10वीं और 12वीं के STUDENTS, जानिये कैसे और कहाँ से जुटाए जाएंगे नंबर्स

इंटरमीडिएट के लिए हाई स्कूल के 50%  दर्ज़ा 11 के 40% और दर्ज़ा 12वीं प्री बोर्ड के 10%  नंबर्स को जोडकर नतीजे तय किये जाएंगे. वहीं हाई स्कूल के लिए दर्जा 9 के 50%  दर्ज़ा 10 प्री बोर्ड के 50% नंबर लिए जाएंगे

 इस FORMULA से पास होंगे यूपी बोर्ड के 10वीं और 12वीं के STUDENTS, जानिये कैसे और कहाँ से जुटाए जाएंगे नंबर्स
अलामती तस्वीर

लखनऊ: उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद् और इंटरमीडिएट के छात्रों को बिना इम्तहान लिए पास करने का फॉर्मूला शिक्षा महकमा ने तैयार कर लिया है. इतवार को इस फॉर्मूला को जारी कर दिया गया है. इसके तहत इंटरमीडिएट के लिए हाई स्कूल के 50%  दर्ज़ा- 11 के 40% और दर्ज़ा- 12वीं प्री बोर्ड के 10% नंबर्स को जोडकर नतीजे तय किये जाएंगे. वहीं हाई स्कूल के लिए दर्जा- 9 के 50%  दर्ज़ा -10 प्री बोर्ड के 50% नंबर लिए जाएंगे. हाई स्कूल इम्तहान में कुल 29,94,312 तलबा ने रजिस्ट्रेशन कराया है जबकि इंटरमीडिएट के इम्तहान में कुल 26,10,316 स्टूडेंट्स पंजीकृत हुए हैं.

ऐसा होगा 12वीं के रिजल्ट का गणित
सालाना /छहमाही इम्तहान,  दर्ज़ा -12 की प्री-बोर्ड इम्ताहन और प्रैक्टिक्ल सब्जेक्ट्स के नंबर्स दस्तेयाब हैं. इन नंबर्स के बिना पर साल 2021 की इण्टरमीडिएट परीक्षा के तलबा के नंबर्स तय करने का फार्मूला नीचे है.
गैर प्रैक्टिक्ल विषय (यानी जिन सब्जेक्ट्स में प्रैक्रिक्ल एग्जाम नही होते हैं) जिनका पूर्णांक 100 नंबर्स का होता है.
1. क्लास -10 बोर्ड एग्जाम के कुल प्राप्तांक के औसत का 50 फीसदी. औसत का कैलकुलेशन कक्षा-10 के सभी सब्जेक्ट्स के कुल नंबर्स को कुल सब्जेक्ट्स की तादाद यानी 6 से तकसीम करके कैलकुलेट किया जायेगा.
2. क्लास -11  के सालाना एग्जाम में मुंसलिक विषय विशेष के 100 नंबर्स के कुल के 40 फीसदी अंक. 
3. क्लास -12 की प्री-बोर्ड इम्तहान में मुंसलिक विषय विशेष के 100 नंबर्स  के पूर्णांक के 10प फीसदी नंबर्स.
उपर दिए तरीके से तीनों नंबर्स को जोड़कर मुताल्लिका तलबा के विषयवार नंबर्स तय किये जाएंगे. 

इस तरह से इसे समझिये 
अगर किसी स्टूडेंट ने क्लास -10 की सालाना लिखित इम्तहान में 600 में से 300 नंबर्स हासिल किये हैं, तब उसका औसत नंबर 300/6=50 नंबर होगा. इसमें से 50 फीसदी देयता के मुताबिक उसे 25 नंबर दिया जाएगा. दर्ज़ा -11 में किसी मजमून विशेष में अगर उसे 100 नंबर में से 60 मिले हैं, तब उसका 40 फीसदी 24 नंबर होगा. इसी तरह प्रीबोर्ड एग्जाम से क्लास-12 में उस मजमून में उसे 50 नंबर मिले हैं तब उसका 10 फीसदी 5 नंबर होगा. इस तरह उसके कुल नंबर 25+24+5=54 नंबर होंगे. 

हाईस्कूल के नतीजों का पैटर्न 
हाईस्कूल इम्तहान में 70 नंबर के लिखित एग्जाम और 30 नंबर के इंटरनल  जांच इम्तहान में कुल 100 नंबर के एग्जाम होते हैं. साल 2021 के इंटरनल मूल्यांकन एग्जाम के नंबर, क्लास -9 के सालाना इम्तहान के 70 नंबर्स की लिखित परीक्षा और क्लास -10 के 70 नंबर्स की लिखित प्री-बोर्ड परीक्षा के नंबर्स बोर्ड की वेबसाइट पर अपलोड है, जिनके बिना पर साल 2021 के  हाईस्कूल एग्जाम के स्टूडेंट्स के नंबर्स को तय करने का फार्मूला नीचे दर्ज है. 
1. क्लास -9 के  70 नंबर्स के सालाना विषयवार लिखित एग्जाम का 50 फीसदी नंबर. 
2. क्लास -10 के 70 नंबर्स के प्री-बोर्ड विषयवार लिखित एग्जाम का 50 फीसदी नंबर. 
3. साल 2021 में स्कूली सतह पर सम्पादित 30 नंबर्स के इंटरनल जांच एग्जाम के नंबर्स . 
ऊपर समझाए गए तरीके के बाद हासिल तीनो नंबर्स को जोड़कर मुताल्लिका तलबा के विषयवार नंबर्स तय किये जाएंगे. 

इस तरह से इसे समझिये
अगर किसी तालिब इल्म ने क्लास -9 के सालाना लिखित इम्तहान में 70 नंबर में से 60 नंबर हासिल किये हैं, तब 50 फीसदी के मुताबिक उसके 30 नंबर लिये जायेंगे. क्लास -10 के प्री-बोर्ड लिखित इम्तहान में 70 नंबर में से 40 नंबर हासिल किये हैं, तब 50 फीसदी देयता के मुताबिक उसके 20 नंबर  लिये जायेंगे. इंटरनल मूल्यांकन में अगर उसने 30 नंबर में से 28 पायें हैं, तब उस स्टूडेंट को कुल नंबर 30+20+28=78 हासिल होंगे. 

इंटरनल के नंबर्स नहीं हैं तो क्या होगा? 
अगर स्टूडेंट्स के दर्ज़ा -12 की प्रैक्टिकल इम्तहान / दर्ज़ा -10 के इंटरनल  के नंबर नहीं हैं, तो ऐसी हालत में सभी स्टूडेंट्स को उस ख़ास मजमून के लिये लिखित इम्तहान के लिए तयशुदा अमल से हासिल नंबर को उस विषय विशेष के टोटल नंबर के आधार पर समानुपातिक तौर से गिनती कर प्रैक्टिकल इम्तहान के नंबर दिए जायेंगे.
 
12वीं के जिस किसी भी स्टूडेंट (व्यक्तिगत/संस्थागत) के क्लास -11 के  दोनो इम्तहानों (सालाना और छमाही ) या क्लास-12 के प्री-बोर्ड परीक्षा और  हाईस्कूल के जिस किसी भी स्टूडेंट (व्यक्तिगत/संस्थागत) के दर्ज़ा -9 के सालाना इम्तहान या क्लास-10 के प्री-बोर्ड इम्तहान के नंबर मौजूद नहीं होंगे, उन्हें बिना नंबर के सामान्य तौर पर प्रोमोट कर दिया जायेगा.
 
1. किसी स्टूडेंट को सालाना, छमाही, प्री-बोर्ड इम्तहान के ज्यादा से ज्यादा 03 विषयों तक नंबर न मिलने पर उस इम्तहान के बाकी मजमीन के टोटल नंबर का औसत उन तीन मजमून में दिया जायेगा. 
2. लिखित इम्तहान में कम से कम पासिंग नंबर हासिल नहीं होने पर  लेकिन इन्टर्नल प्रैक्टिकल परीक्षा में पास होने की हालत में स्टूडेंट्स को बिना नंबर के सामान्य प्रमोशन दे दिया जाएगा. 
3. प्रैक्टिकल सब्जेक्ट्स में क्लास 9/10/11/12 के मौजूद नम्बर को बोर्ड के  लिखित इम्तहान के तयशुदा नम्बर पर स्केल करके प्रैक्टिकल / इन्टर्नल  के नंबर (जो भी लागू होते हैं) से जोड़ा जायेगा. साल 2021 के इम्तहान में पास  हुये स्टूडेंट्स की मेरिट लिस्ट नहीं तैयार करायी जायेगी. 
4. बोर्ड ने कहा है कि साल 2021 के पंजीकृत सभी परीक्षार्थी, जो अंक सुधार के लिए दोबारा इम्तहान में शामिल होना चाहते हैं, उन्हें अगले बोर्ड इम्तहान  में फीस दिये बिना, नंबर सुधार के लिए एक या एक से ज्यादा, कितने भी सब्जेक्ट्स के इम्तहान में बैठने का मौका दिया जायेगा और उनके इम्तहान के नतीजे को साल 2021 का ही माना जायेगा. 

Zee Salaam Live Tv