इंसानियत: रिश्तेदारों ने कोरोना के डर फेर लिया मुंह, तो मुस्लिम समाज के लोगों ने दिया अर्थी को कंधा

मेरठ में मुस्लिम समाज के लोगों ने एकता की मिसाल पेश करते हुए एक हिंदू समाज की महिला की लाश को ऐसे समय पर कंधा दिया , जब मरने वाली इस खातून के अपनों में कोरोना के खौफ देखा गया.

इंसानियत: रिश्तेदारों ने कोरोना के डर फेर लिया मुंह, तो मुस्लिम समाज के लोगों ने दिया अर्थी को कंधा

मेरठ: पूरा हिंदुस्तान इस समय कोरोना से जंग लड़ रहा है. खास बात यह है कि सभी धर्मों के लोग एक दूसरे के साथ मिलकर इस लड़ाई में अपना योगदान दे रहे हैं. ऐसी कई मिसाल देखनें को मिली हैं. ताजा खबर उत्तर प्रदेश के मेरठ से आई है. 

यहां पर मुस्लिम समाज के लोगों ने एकता की मिसाल पेश करते हुए एक हिंदू समाज की महिला की लाश को ऐसे समय पर कंधा दिया , जब मरने वाली इस खातून के अपनों में कोरोना के खौफ देखा गया.

जानकारी के मुताबिक मेरठ के हापुड़ स्टैंड पर स्थित रामनगर मोहल्ले में महिला की अर्थी को मुस्लिम समाज के लोगों ने कंधा दिया. मृतक महिला काफी दिनों से बीमार चल रही थी और आखिर में वो कोरोना से जंग हार गई. 

ये भी पढ़ें: दिल्ली में कोरोना का कहर जारी, क़ब्रिस्तानों में आने वाले जनाज़ों में 3 गुना हुआ इज़ाफ़ा

महिला की मौत के कोरोना होने के ख़ौफ़ से उसके रिश्तदार भी आगे आने से कतराते नजर आए. जिसके बाद मुस्लिम समाज के लोगों ने परिवार की मदद की और हिंदू रीति-रिवाज से महिला का अंतिम संस्कार कराया. 

ये भी पढ़ें: कपिल मिश्रा ने कमिश्नर से लगाई केजरीवाल की शिकायत, FIR दर्ज करने का किया आग्रह

 

महिला का अंतिम संस्कार मेरठ के सूरजकुंड शमशान घाट में हुआ. यहां भारी तादाद में मुस्लिम समाज के लोग पहुंचे और महिला की आत्मी की शांति के लिए दुआ की.

Zee Salam Live TV: