Corona बोहरान पर PM मोदी ने की हाईलेवल मीटिंग, डोर-टू-डोर टेस्टिंग और ऑक्सीजन सप्लाई पर दिया ज़ोर

वज़ीरे आज़म नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने आशा और आंगनबाड़ी मुलाज़िमों को Covid-19 के खिलाफ लड़ाई में तमाम तहर के ज़रूरी वसाएल से लैस करने और देही इलाकों में Oxygen की मुनासिब फराहमी करने का हुक्म दिया. 

Corona बोहरान पर PM मोदी ने की हाईलेवल मीटिंग, डोर-टू-डोर टेस्टिंग और ऑक्सीजन सप्लाई पर दिया ज़ोर
फाइल फोटो

नई दिल्ली: वज़ीरे आज़म नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने एक आला सतही बैठक में मुल्क में Coronavirus की मौजूदा सूरते हाल और वैक्सीनेशन हुमिम (Vaccination Drive) जायज़ा लिया. इस दौरान सबसे ज्यादा कोरोना से मुत्तासिर इलाकों में कोरोना टेस्ट ( का दायरा बढ़ाने, मुकामी लेवल पर रोकथाम की हिकमते अमली पर काम करने के साथ ही देही इलाकों में घर-घर जाकर जांच करने और वहां हेल्थ से मुतअल्लिक वसाइल को बढ़ाने पर ज़ोर दिया.

'देही इलाकों में ऑक्सीजन की कमी न हो'
वज़ीरे आज़म नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने आशा और आंगनबाड़ी मुलाज़िमों को Covid-19 के खिलाफ लड़ाई में तमाम तहर के ज़रूरी वसाइल से लैस करने और देही इलाकों में Oxygen की मुनासिब फराहमी करने का हुक्म दिया.

ये भी पढ़ें: मुस्लिम अकसरियती मलेरकोटला को ज़िला बनाने पर भड़के CM योगी, बताया ग़ैर-कानूनी

याद रहे  है कि कोविड-19 की दूसरी लहर के बीच मुल्क भर में कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते मामलों के मद्देनजर मोदी लगातार बैठकें कर रहे हैं और हालात को काबू करने के लिए फरमान जारी कर रहे हैं.

कोरोना की शरह में कमी
पीएमओ के मुताबिक, आज की मीटिंग में वज़ीरे आजम को मुल्क में कोरोना (Corona) की ताजा हालत से वाकिफ कराया गया और उन्हें यह भी बताया गया कि अभी अभी हर हफ्ता 1.3 करोड़ लोगों की जांच हो रही है जबकि पिछले साल मार्च में हर हफ्ता जांच का आंकड़ा 50 लाख था. बयान के मुताबिक, वज़ीरे आज़म को बताया कि लोगों के ठीक होने की दर के साथ ही संक्रमण दर में भी कमी दर्ज की गई है. 

ये भी पढ़ें: असम के इन इलाकों में हो सकती है 'तालाबंदी', आर्थिक तौर पर कमजोर लोगों को देंगे पैसे

टेस्ट बढ़ाने पर ज़ोर
अफसरों ने बैठक में वज़ीरे आज़म को रियासत और जिलावार लेवल पर कोविड-19 की मौजूदा हालत, जांच, ऑक्सीजन की फराहमी, हेल्थ ढांचे और वैक्सीनेशन की रूपरेखा के बारे में बताया गया. इस दौरान वज़ीरे आज़म ने कहा, 'जिन रियासतों के जिन जिलों में संक्रमण के मामले ज्यादा हैं, वहां कंटनमेंट जोन की हिकमते अमली वक्त की मांग है. PM ने ऐसे इलाकों में RT-PCR और रैपिड एंटीजन जांच (Rapid antigen test) तेज करने के हुक्म दिए. 

Zee Salam Live TV: