इलाके के लोगों को काट रहे थे कुत्ते, हाईकोर्ट ने 2 सांसदों को किया सस्पेंड, दी ये सजा

इससे पहले सुनवाई के दौरान सरकारी वकील ने कहा था कि कुत्तों के काटने की घटना से एमपी का कोई लेना-देना नहीं है.

इलाके के लोगों को काट रहे थे कुत्ते, हाईकोर्ट ने 2 सांसदों को किया सस्पेंड, दी ये सजा
फाइल फोटो

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के सूबा सिंध की असेंबली के दो सदस्यों को इस वजह से सस्पेंड कर दिया गया क्योंकि वे अपने क्षेत्रों में कुत्तामार मुहिम की निगरानी संजीदगी से नहीं कर रहे थे. असेंबली सदस्यों के सस्पेंशन का ऑर्डर सिंध हाई कोर्ट की 2 सदस्यी बेंच ने सुनाया है. बेंच में जस्टिस आफताब अहमद और जस्टिस फहीम सिद्दीकी शामिल थे. 

अदालत ने अपने आदेश में कहा है कि मेंबर्स ऑफ असेंबली असेंबली अपने इलाकों के लोगों को सहूलियतें मुहैया कराने में नाकाम रहे हैं. साथ ही अदालत ने अन्य जिलों के मेंबर्स को भी कहा है कि उनको सस्पेंड किया जा सकता है. 

यह भी पढ़ें: महिला टीचर टीचर ने जबरन 13 साल के स्टूडेंट से रचाई शादी, फिर क्या हुआ?

इससे पहले सुनवाई के दौरान सरकारी वकील ने कहा था कि कुत्तों के काटने की घटना से एमपी का कोई लेना देना नहीं है. इस पर अदालत ने कहा कि हमें पता है, हमारा मुंह न खुलवाया तो बेहतर होगा. लोगों की सुरक्षा करना विधानसभा के सदस्यों की जिम्मेदारी है. अदालत ने कहा कि हमें मालूम है कि यह अफसर फंड से किसे कमीशन देते हैं. 

यह भी पढ़ें: CM तीरथ सिंह के जीन्स वाले बयान अमिताभ बच्चन की नातिन ने सुनाई खरी-खरी, जानिए क्या कहा

इतना ही नहीं अदालत ने यह भी कहा कि कुत्ते के काटने की घटना जिस इलाके में हुई वहां का एमपी सीनेट चुनाव के दौरान भी वोट नहीं डाल सकेगा. साथ ही घटना पेश आने वाले इलाके के अफसरान की तनख्वाह बंद हो और सरप्लस में रखा जाएगा. 

ZEE SALAAM LIVE TV