Metro: दिल्ली मेट्रो में सफर करने वालों के लिए आई बड़ी जानकारी, अब यात्री डिब्बों के साथ होगा कुछ ऐसा
topStories1hindi1467620

Metro: दिल्ली मेट्रो में सफर करने वालों के लिए आई बड़ी जानकारी, अब यात्री डिब्बों के साथ होगा कुछ ऐसा

Metro Map: डीएमआरसी के निदेशक (इलेक्ट्रिकल) ओम हरि पांडेय और अल्सटॉम के प्रबंध निदेशक ओलिवर लॉसन की ओर इस कॉन्ट्रैक्ट के लिए हस्ताक्षर किए गए हैं. चौथे चरण में मजलिस पार्क-मौजपुर, जनकपुरी पश्चिम-आर के आश्रम और तुगलकाबाद-दिल्ली एयरोसिटी गलियारों का डीएमआरसी की ओर से प्राथमिकता से विकास किया जा रहा है.

Metro: दिल्ली मेट्रो में सफर करने वालों के लिए आई बड़ी जानकारी, अब यात्री डिब्बों के साथ होगा कुछ ऐसा

Delhi Metro Map: दिल्ली मेट्रो रेल निगम (DMRC) में अगर सफर करते हैं तो बड़ी जानकारी सामने आई है. दरअसल, DMRC ने चौथे चरण की मेट्रो विकास परियोजनाओं के लिए 312 यात्री डिब्बों की खरीद के संबंध में कॉन्ट्रैक्ट कर लिया है. डीएमआरसी के जरिए एक विनिर्माण कंपनी के साथ यह करार किया गया है. डीएमआरसी की ओर से कहा गया है कि इन यात्री डिब्बों की खरीद के लिए अल्सटॉम ट्रांसपोर्ट इंडिया लिमिटेड के साथ समझौता हुआ है.

इनका विकास

डीएमआरसी के निदेशक (इलेक्ट्रिकल) ओम हरि पांडेय और अल्सटॉम के प्रबंध निदेशक ओलिवर लॉसन की ओर इस कॉन्ट्रैक्ट के लिए हस्ताक्षर किए गए हैं. चौथे चरण में मजलिस पार्क-मौजपुर, जनकपुरी पश्चिम-आर के आश्रम और तुगलकाबाद-दिल्ली एयरोसिटी गलियारों का डीएमआरसी की ओर से प्राथमिकता से विकास किया जा रहा है.

निर्माण काम में देरी

इन पर काम दिसंबर, 2019 में शुरू हुआ था लेकिन कोरोना महामारी से जुड़ी पाबंदियों के कारण निर्माण कार्यों में देरी हुई. इन मेट्रो डिब्बों का इस्तेमाल चौथे चरण के प्राथमिकता गलियारों पर 52 मेट्रो ट्रेन के परिचालन में किया जाएगा. इनमें से 234 डिब्बे मजलिस पार्क-मौजपुर और जनकपुरी पश्चिम-आर के आश्रम गलियारों पर चलने वाली ट्रेनों के लिए होंगे.

चालक-रहित सुविधाओं से युक्त

इसके अलावा 78 डिब्बों का इस्तेमाल तुगलकाबाद-एयरोसिटी गलियारे पर किया जाएगा. डीएमआरसी ने कहा कि इन डिब्बों से सजी सभी मेट्रो ट्रेन चालक-रहित सुविधाओं से युक्त होंगी. इन डिब्बों का निर्माण अल्सटॉम के चेन्नई से सटे श्रीसिटी विनिर्माण संयंत्र में किया जाएगा. दिल्ली मेट्रो इस समय 391 किलोमीटर लंबे नेटवर्क पर मेट्रो सेवाओं का परिचालन कर रही है जिसमें नोएडा-ग्रेटर नोएडा गलियारा और गुरुग्राम की रैपिड मेट्रो भी शामिल है. (इनपुट: भाषा)

पाठकों की पहली पसंद Zeenews.com/Hindi - अब किसी और की ज़रूरत नहीं

Trending news