'कंगाल' पाकिस्तान इस मामले में भारत से 20 गुना पीछे, लेकिन करना चाहता है बराबरी

पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था लंबे समय से बुरे दौर से गुजर रही है.

'कंगाल' पाकिस्तान इस मामले में भारत से 20 गुना पीछे, लेकिन करना चाहता है बराबरी
वर्तमान में भारत का निर्यात 500 अरब डॉलर का है. (फाइल फोटो)

कराची: पाकिस्तान का निर्यात 2019 में बढ़कर 27 अरब डॉलर पहुंच जाने का अनुमान है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के एक शीर्ष वित्तीय सलाहकार ने यह बात कही. इमरान खान की अगुवाई वाली सरकार पिछले साल सत्ता में आने के बाद से बढ़ती महंगाई, नये करों और समग्र आर्थिक तस्वीर के चुनौतीपूर्ण आंकड़ों को लेकर दबावों का सामना कर रही है.

वाणिज्य, कपड़ा और औद्योगिक उत्पादन मामलों पर खान के सलाहकार अब्दुल रज्जाक दाऊद ने कहा कि सरकार ने इस साल के अंत तक 27 अरब डॉलर के निर्यात का लक्ष्य रखा है. दाऊद ने शनिवार को एक कार्यक्रम के दौरान कहा, “इस साल हम पाकिस्तान से सबसे अधिक निर्यात का आंकड़ा छू लेंगे और हमने करीब 27 अरब डॉलर के निर्यात का लक्ष्य रखा है.” 

बहुत जल्द ब्रिटेन को पीछे छोड़ भारत बन जाएगा विश्व की पांचवी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था

ऐसे में आप जरूर जानना चाह रहे होंगे कि भारत का निर्यात कितना है और हमारी अर्थव्यवस्था का आकार कितना बड़ा है. हाल ही में वाणिज्य मंत्री सुरेश प्रभु ने एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा था कि भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए अपार संभावनाएं हैं. आने वाले 7-8 सालों में हमारी अर्थव्यवस्था 5 हजार अरब डॉलर की हो जाएगी.

बात अगर निर्यात की करें तो वर्तमान में भारत का निर्यात 500 अरब डॉलर का है. यह  पाकिस्तान की तुलना में करीब 20 गुना ज्यादा है. सुरेश प्रभु ने तो यहां तक कहा कि सबकुछ ठीक रहा तो 2035 से पहले निश्चित तौर पर भारत की अर्थव्यवस्था 10 हजार अरब डॉलर की होगी.

2027 तक भारत की अर्थव्यवस्था 5000 अरब डॉलर की हो सकती है, मास्टर प्लान तैयार

एक ताजा रिपोर्ट के मुताबिक, भारत 2019 में दुनिया की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की सूची में ब्रिटेन को पीछे छोड़ सकता है. वैश्विक सलाहकार कंपनी पीडब्ल्यूसी की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि एक ही स्तर के विकास और कमोबेश समान आबादी की वजह से इस सूची में ब्रिटेन और फ्रांस आगे पीछे होते रहते हैं. लेकिन यदि भारत इस सूची में आगे निकलता है तो उसका स्थान स्थायी रहेगा. 

पीडब्ल्यूसी की वैश्विक अर्थव्यवस्था निगरानी रिपोर्ट में अनुमान लगाया गया है कि 2019 में ब्रिटेन की वास्तविक सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर 1.6 प्रतिशत, फ्रांस की 1.7 प्रतिशत तथा भारत की 7.6 प्रतिशत रहेगी. रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत और फ्रांस 2019 में ब्रिटेन को पीछे छोड़ देंगे. इससे वैश्विक रैंकिंग में ब्रिटेन पांचवें स्थान से फिसलकर सातवें पायदान पर पहुंच जाएगा.