SHOCK! बिजली का बिल नहीं भरा तो लगेगा झटका! प्री-पेड में बदल जाएगा स्‍मार्ट मीटर और फिर...

Electricity Bill: अगर आप बिजली की बिल भरने में अक्सर लापरवाही बरतते हैं तो इसका खामियाजा आपको भुगतना पड़ सकता है. उत्तर प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड (UPPCL) ने स्मार्ट मीटर बकाएदारों के लिए खिलाफ एक्शन लेने की तैयारी शुरू कर दी है.

ज़ी न्यूज़ डेस्क | Jan 27, 2021, 12:05 PM IST
1/4

बिजली का बिल नहीं भरने वालों पर सख्ती

fail to pay electricity bill cost you more

एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (EESL) की वेबसाइट के मुताबिक उत्तर प्रदेश में अबतक 1120145 स्मार्ट लगाए जा चुके हैं. स्मार्ट लगाने का काम यूपी समेत पूरे देश में तेजी से चल रहा है. स्मार्ट मीटर के जरिए बिजली की चोरी रोकने में मदद मिलेगी और बिजली वितरण कंपनियों की आय भी बढ़ेगी. इसलिए उत्तर प्रदेश सरकार अब उन कंपनियों के खिलाफ सख्त रवैया अपनाने जा रही है जो वक्त पर अपना बिजली का बिल नहीं भरते हैं. 

2/4

प्रीपेड मीटर में तब्दील हो जाएगा स्मार्ट मीटर

smart meter will convert in prepaid meter

उत्तर प्रदेश पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड ने स्मार्ट मीटर बकायेदारों के खिलाफ कार्रवाई करने की तैयारी शुरू कर दी है. जिन बकायेदारों ने लगातार पांच महीने तक बिजली का बिल जमा नहीं किया है तो उनका स्मार्ट मीटर अपने आप ही प्री-पेड में तब्दील हो जाएगा. सेंट्रल सर्वर उपभोक्ता का कनेक्शन ऑनलाइन प्री-पेड मीटर में बदल देगा. स्मार्ट मीटर के प्री-पेड होने पर बिजली उपभोक्ता बिना रीचार्ज कराए बिजली का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे. जो सबसे ज्यादा परेशानी वाली ये है कि एक बार मीटर का कनेक्शन प्री-पेड होने पर उसे दोबारा पोस्टपेड में बदला नहीं जा सकेगा. UPPCL ने स्मार्ट मीटर में इस नए फीचर को जोड़ा है. ताकि उपभोक्ता बिल का भुगतान समय से करें. इससे कॉरपोरेशन को राजस्व मिलने की उम्मीद है साथ ही उपभोक्ता भी बकाए के झंझट से मुक्त रहेंगे. 

3/4

'अगले कुछ दिनों में प्रस्ताव को लागू करेंगे'

feature will be launched in coming days

स्मार्ट मीटर के इस नए फीचर की जानकारी ऊर्जा निगम के चेयरमैन ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में अफसरों को दी. उन्होंने बताया कि शक्तिभवन स्थित स्मार्ट मीटर का सेंट्रल सर्वर बकाया बढ़ने पर खुद ही फैसला लेकर कनेक्शन को पोस्ट पेड से प्री-पेड में बदल देगा. इस प्रस्तावित फीचर को अगले कुछ दिनों में लॉन्च कर दिया जाएगा. ऊर्जा निगम के मुताबिक शहर के सभी चार खंडों में पिछले साल स्मार्ट मीटर लगाने की शुरुआत हुई. स्मार्ट मीटर लगाने का जिम्मा लार्सन एंड टूब्रो (L&T) कंपनी को सौंपा गया. 56 हजार से ज्यादा स्मार्ट मीटर लगाए जा चुके हैं. 

4/4

उपभोक्ताओं ने की स्मार्ट मीटर को लेकर शिकायत

complain against smart meter

उपभोक्ताओं ने बिजली निगम की ओर से मांगे गए फीडबैक में सबसे ज्यादा शिकायत स्मार्ट मीटर की गति को लेकर की है. आरोप है कि स्मार्ट मीटर तेज चल रहे हैं. शिकायत के बाद भी अफसर कोई सुनवाई नहीं कर रहे हैं. यूपी की राजधानी लखनऊ में स्मार्ट मीटर वाले 2700 से ज्यादा बकायेदार लगातार कई महीने से बिजली का बिल नहीं जमा कर रहे हैं. बिजली निगम ने इनकी सूची बना ली है. 'बकाया न जमा करने वाले स्मार्ट मीटर वाले उपभोक्ताओं को प्रीपेड में बदलने की तैयारी की जा रही है. स्मार्ट मीटर में ऐसी सुविधा है. इसके बाद उपभोक्ता पहले रीचार्ज करेंगे. फिर बिजली का उपभोग करेंगे. ऐसा होने से बिजली निगम का राजस्व बढ़ेगा'