SBI ने फिर दिया जबरदस्त तोहफा: Home Loan हुआ सस्ता, जानिए कितने का होगा फायदा

बैंक ने यहां जारी विज्ञप्ति में कहा है कि एक साल की अवधि की MCLR दर को 7.25 प्रतिशत से घटाकर 7 प्रतिशत कर दिया गया है. बैंक की ओर से लगातार 13वीं बार एमसीएलआर दर में कटौती की गई है. 

SBI ने फिर दिया जबरदस्त तोहफा: Home Loan हुआ सस्ता, जानिए कितने का होगा फायदा
फाइल फोटो

नई दिल्ली: लॉकडाउन खुलने की शुरुआत के बीच एक शानदार खबर आपके लिए आई है. देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने लोन पर लिए जाने वाले ब्याज में एक बार फिर कटौती करने का ऐलान किया है. SBI ने सोमवार को कहा कि वह 10 जून से अपनी कोष की सीमांत लागत आधारित ब्याज दर (MCLR) में 0.25 प्रतिशत की कटौती करेगा.

ऐसे होगा आपको फायदा
बैंक ने यहां जारी विज्ञप्ति में कहा है कि एक साल की अवधि की MCLR दर को 7.25 प्रतिशत से घटाकर 7 प्रतिशत कर दिया गया है. बैंक की ओर से लगातार 13वीं बार एमसीएलआर दर में कटौती की गई है. स्टेट बैंक इससे पहले बाहरी बेंचमार्क से जुड़ी ऋण दर (ईबीआर) के साथ ही रेपो दर से जुड़ी कर्ज की ब्याज दर (आरएलएलआर) में एक जुलाई से 0.40 प्रतिशत कटौती की घोषणा कर चुका है. बैंक ने ईबीआर दर को जहां 7.05 प्रतिशत से घटाकर 6.65 प्रतिशत सालाना कर दिया है वहीं रेपो दर से जुड़ी ब्याज दर को 6.65 प्रतिशत से घटाकर 6.25 प्रतिशत कर दिया गया है.

बैंक की विज्ञप्ति में कहा गया है, 'इस हिसाब से एमसीएलआर दर से जुड़े आवास ऋण की समान मासिक किस्त की राशि में 421 रुपये की कमी आयेगी वहीं ईबीआर, आरएलएलआर से जुड़े आवास ऋण की मासिक किस्त में 660 रुपये की कमी आयेगी. यह गणना 30 साल की अवधि के 25 लाख रुपये तक के आवास ऋण पर की गई है.'

ये भी देखें...

रिजर्व बैंक ने 22 मई को रेपो दर में 0.40 प्रतिशत की कटौती कर उसे चार प्रतिशत कर दिया. उसके बाद ही स्टेट बैंक ने बाह्य मानकों से जुड़ी कर्ज की ब्याज दर और रेपो दर से जुड़े कर्ज की दर में यह कटौती की.

पंजाब नेशनल बैंक, बैंक आफ इंडिया और यूको बैंक जैसे कुछ अन्य बैंकों ने भी रेपो दर और एमसीएलआर दरों से जुड़ी बयाज दरों में कटौती की है. स्टेट बैंक ने अपनी आधार दर को 0.75 आधार अंक घटाकर 7.40 प्रतिशत कर दिया. पहले यह 8.15 प्रतिशत पर थी. यह कटौती 10 जून से प्रभावी होगी.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.