SBI होम लोन ग्राहकों के लिए नया ऑफर, देखिए कितनी कम होगी EMI

SBI से होम लोन चल रहा है तो आपके लिए एक नया ऑफर है. जिससे आपके होम लोन की EMI का बोझ काफी हद तक कम हो सकता है. SBI अपने पुराने ग्राहकों को होम लोन एक्सटर्नल बेंचमार्क रेट (EBR) पर स्विच करने का मौका दे रहा है. इसके लिए कस्टमर को एक छोटी सी फीस देनी होती है.

SBI होम लोन ग्राहकों के लिए नया ऑफर, देखिए कितनी कम होगी EMI

नई दिल्ली: SBI से होम लोन चल रहा है तो आपके लिए एक नया ऑफर है. जिससे आपके होम लोन की EMI का बोझ काफी हद तक कम हो सकता है. SBI अपने पुराने ग्राहकों को होम लोन एक्सटर्नल बेंचमार्क रेट (EBR) पर स्विच करने का मौका दे रहा है. इसके लिए कस्टमर को एक छोटी सी फीस देनी होती है. इतना ही नहीं SBI महिला कर्जदाताओं को ब्याज दरों में 0.05 परसेंट का स्पेशल डिस्काउंट भी दे रहा है. जिन्होंने भी 2018 के पहले होम लोन लिया है, उनका लोन MCLR या बेस रेट से लिंक्ड है वो आज भी ऊंची ब्याज दरों पर लोन चुका रहे हैं. इस सिस्टम में ब्याज दरों में कटौती का असर दिखने में लंबा वक्त लग जाता है.

EBR में स्विच करने का फायदा
आजकल ज्यादातर बैंक्स रिजर्व बैंक के आदेश के बाद एक्सटर्नल बेंचमार्क लिंक्ड रेट्स (EBR) पर ही फ्लोटिंग दरों पर लोन दे रहे हैं, जो कि पहले MCLR या बेस रेट पर देते थे. ज्यादातर बैंकों ने अपने EBR को रेपो रेट से लिंक किया है. जिसका फायदा ये होता है कि रिजर्व बैंक जैसे ही रेपो रेट में कटौती या बढ़ोतरी का ऐलान करता है, तुरंत ही इसका असर अगली तिमाही से आपके होम लोन के रेट पर दिखाई देने लगता है, यानि आपकी EMI या तो घट जाती है या फिर बढ़ जाती है. EBR रिजर्व बैंक का एक बेहद पारदर्शी सिस्टम है. 

EBR, MCLR, बेस रेट में कितना फर्क
इस वक्त SBI के EBR लिंक्ड होम लोन की दरें 6.70 परसेंट से शुरू होती हैं, जबकि MCLR लिंक्ड होम लोन दरें 7.45 परसेंट से शुरू होती हैं और बेस रेट लिंक्ड होम लोन की दरें 7.85 परसेंट से शुरू होती हैं. होम लोन ज्यादातर लंबी अवधि के लिए ही लिया जाता है. ब्याज दरों में अंतर होने से आपकी EMI पर बहुत फर्क दिख सकता है. इसलिए अपने होम लोन को EBR में स्विच करना फायदेमंद हो सकता है. 

होम लोन को EBR में स्विच करने का तरीका 
अगर आप अपना SBI होम लोन MCLR या बेस रेट से EBR में शिफ्ट करना चाहते हैं तो अपने SBI ब्रांच जाएं. बैंक को एक एप्लीकेशन लिखकर दें. 5000 रुपये + GST की एक वन टाइम सर्विस चार्ज फीस चुकाएं, जो तकरीबन 5900 रुपये पड़ती है. 

EMI में कितनी होगी बचत  
मान लीजिए आपने 20 साल के लिए 20 लाख रुपये का होम लोन लिया है. MCLR पर 8.20 परसेंट ब्याज दर के हिसाब से आप 40,74,861 चुकाएंगे. जबकि EBR में शिफ्ट करने पर मान लीजिए आपका होम लोन 7.2 परसेंट होता है तो आप 37,79,280 चुकाते हैं. यानि इस पूरी अवधि के दौरान 2.95 लाख रुपये बचाते हैं. जो कि काफी बड़ी रकम है. 

VIDEO