Share Market निवेशकों के लिए जरूरी खबर! 1 अगस्त से बंद हो जाएगा Demat Account, अगर नहीं किया KYC अपडेट

Demat Account Update: जो लोग शेयर मार्केट में निवेश करते हैं, डेट सिक्योरिटीज खरीदते हैं, उन्हें आज ही अपना kyc अपडेट करवा लेना है, इसके बाद उन्हें मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है.   

Share Market निवेशकों के लिए जरूरी खबर! 1 अगस्त से बंद हो जाएगा Demat Account, अगर नहीं किया KYC अपडेट

नई दिल्ली: Demat Account Update: अगर आप शेयर बाजार में पैसा लगाते हैं और आपके पास डीमैट अकाउंट  है या ट्रेडिंग अकाउंट है तो ये खबर आपके लिए है. क्योंकि अगर आपने अपना KYC 31 जुलाई तक अपडेट नहीं किया तो आपका अकाउंट डीएक्टिवेट हो जाएगा. 

31 जुलाई तक KYC अपडेट करें

डिपॉजिटरीज नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड  (NSD) और सेंट्रल डिपॉजिटरीज सर्विसेज लिमिटेड (CDSL) की ओर से 7 अप्रैल 2021 और 5 अप्रैल 2021 को जारी सर्कुलर में कहा गया था कि अकाउंट होल्डर्स  के लिए 6 KYC जानकारियां देनी हैं. ये जानकारियां हैं- नाम, पता, PAN, मोबाइल नंबर, ई-मेल आईडी और इनकम रेंज. 

ये भी पढ़ें- 7th Pay Commission: HBA का फायदा लेने वाले केंद्रीय कर्मचारी सावधान! नियम तोड़ने वालों पर कार्रवाई की तैयारी

6 KYC जानकारियां अपडेट करनी हैं

1 जून 2021 के बाद खोले गए नए अकाउंट्स के लिए सभी 6 जानकारियां अनिवार्य कर दी गई हैं. जबकि मौजूदा अकाउंट्स के लिए मार्केट रेगुलेटर सेबी ने डिपॉजिटर्स से कहा है कि वो सभी 6 KYC को अपडेट करें और जहां जरूरी हो क्लाइंट्स सूचित करें कि वो इसे अपडेट करें.

PAN को वेरिफाई करें 

सर्कुलर में कहा गया है कि सिक्योरिटीज मार्केट में ट्रांजैक्शन के लिए क्लाइंट्स की ओर से PAN जमा करने की अनिवार्यता स्वीकृत छूट के साथ जारी रहेगी, निवेशकों से कहा गया है कि वो PAN कार्ड को इनकम टैक्स की वेबसाइट पर जाकर वेरिफाई कर लें. अगर PAN कार्ड आधार से लिंक नहीं है तो PAN कार्ड को वैलिड नहीं माना जाएगा. 

ये जानकारियां भी अपडेट करें 

सभी खाताधारकों को अलग से मोबाइल नंबर और ई-मेल एड्रेस देना होगा. हालांकि लिखित डेक्लेरेशन देने के बाद खाताधारक अपने परिवार को मोबाइल नंबर और ई-मेल एड्रेस अपडेट कर सकता है. परिवार से आशय खुद, जीवनसाथी, निर्भर माता-पिता और बच्चों से है. 

परिवार की जानकारी भी अपडेट कराएं 

अगर एक से ज्यादा डीमैट अकाउंट में एक ही मोबाइल नंबर या ईमेल आईडी पाई गई और परिवार की जानकारी भी अपडेट नहीं है, तो ऐसे डीमैट अकाउंट होल्डर्स को 15 दिन का नोटिस देकर उनसे मोबाइल नंबर, ई-मेल आईडी बदलाव फॉर्म या रिक्वेस्ट लेटर जमा करने के लिए कहना होगा. अगर वो ऐसा करने में नाकाम रहते हैं तो ऐसे खातों को नॉन-कंप्लायंट्स में डाल दिया जाएगा. खाताधारकों को डिपॉजिटर्स को अपनी इनकम रेंज, इंडिविजुअल और नॉन-इंडिविजुअल रूप में अलग अलग बतानी होगी. इंडिविजु्अल्स के लिए इनकम रेंज 1 लाख रुपये से लेकर 25 लाख रुपये तक की रेंज वाले शामिल हैं. जबकि नॉन इंडिविजुअल की रेंज 1 करोड़ रुपये से ऊपर तक की है.  

ये भी पढ़ें- भूल जाओ महंगा पेट्रोल! ये इलेक्ट्रिक साइकिलें फुल चार्ज में चलेंगी 100 किलोमीटर! कीमत भी है काफी कम

LIVE TV

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.