Zee Rozgar Samachar

सैलरी अकाउंट पर भी मिलते हैं ढेरों फायदे, लेकिन बैंक आपको कभी नहीं बताएगा

कर्मचारी को सैलरी अकाउंट में जीरो क्वार्टली बैलेंस रखने की इजाजत होती है और साथ ही यह अकाउंट जीरो बैलेंस पर भी खोला जा सकता है. अमूमन बैंक में खाता खोलने के लिए 1000 रुपये डिपॉजिट करने होते हैं. इसके अलावा, साधारण अकाउंट के एटीएम इस्तेमाल करने पर दूसरे बैंक चार्ज करते हैं.

सैलरी अकाउंट पर भी मिलते हैं ढेरों फायदे, लेकिन बैंक आपको कभी नहीं बताएगा

नई दिल्ली: किसी भी कंपनी में नौकरी लगते ही सबसे पहले आपका सैलरी अकाउंट (Salary Account) बनाया जाता है. आप भी इस अकाउंट का सिर्फ सैलरी लेने के लिए ही इस्तेमाल करते हैं. लेकिन क्या आपको पता है कि आपके सैलरी अकाउंट के ढेरों फायदे हैं? क्योंकि आप इस अकाउंट का ज्यादा इस्तेमाल नहीं करते इसी लिए बैंक भी कभी आपको मिलने वाले फायदों के बारे में बताते नहीं हैं. आइए आज हम बताते हैं आपके सैलरी अकाउंट के क्या फायदे हैं...

1. खोल सकते हैं वेल्थ सैलरी अकाउंट
हमारी सहयोगी वेबसाइट zeebiz.com के अनुसार अगर आपके पास बहुत सारा पैसा है तो आप वैल्थ सैलरी अकाउंट भी खोल सकते हैं. इसके तहत बैंक आपको डेडिकेटिड वेल्थ मैनेजर देता है. यह मैनेजर आपके बैंक से जुड़े तमाम काम देखता है.

2. एम्प्लॉई बेनिफिट
कुछ बैंक पेरोल अकाउंट्स को क्रेडिट कार्ड देने, ओवरड्राफ्ट, सस्ते लोन, चेक, पे ऑर्डर व डिमांड ड्राफ्ट की फ्री रेमिटेंस, फ्री इंटरनेट ट्रांजेक्शंस जैसी सुविधाएं भी देते हैं.

3. सेविंग बैंक अकाउंट
अगर आपके बैंक को पता चले कि कुछ समय से आपके अकाउंट में सैलरी नहीं आ रही है तो आपको मिली तमाम सुविधाएं वापस ले ली जाती हैं और आपके बैंक अकाउंट को नॉर्मल सेविंग्स अकाउंट की तरह ही जारी रखा जाता है.

4. अकाउंट बदलना
एक बैंक से दूसरे बैंक में अकाउंट बदलने के लिए भी सैलेरी अकाउंट के मामले में बैंक इसका प्रोसेस आसान रखते हैं. बेशक वे इसमें कुछ शर्ते जरूर रखते हैं.

5. योग्यता
सैलरी अकाउंट खोलने के लिए आप किसी कॉरपोरेट बॉडी में कार्यरत होने चाहिए और आपकी कंपनी के उस बैंक से सैलेरी अकाउंट रिलेशनशिप होना जरूरी होता है. इसके साथ ही ग्राहक का उसी बैंक में कोई और खाता नहीं होना चाहिए.

6. अन्य सुविधाएं
बैंक आपको पर्सनलाइज्ड चेक बुक देता है, जिसके हर चेक पर आपका नाम छपा होता है. आप बिल भुगतान की सुविधा ले सकते हैं, नहीं तो फोन या इंटरनेट के जरिए पेमेंट्स कर सकते हैं. सेफ डिपॉजिट लॉकर, स्वीप-इन, सुपर सेवर फैसिलिटी, फ्री पेबल-एट-पार चेकबुक, मुफ्त इंस्टाअलर्ट्स, फ्री पासबुक और फ्री ईमेल स्टेटमेंट जैसी सुविधाएं भी बैंक देते हैं.

ये भी पढ़ें: सोना हुआ इतना सस्ता, धनतेरस पर बढ़ जाए भाव उससे पहले ही खरीद लीजिए

7. जीरो बैलेंस और मुफ्त एटीएम इस्तेमाल की सुविधा
कर्मचारी को सैलरी अकाउंट में जीरो क्वार्टली बैलेंस रखने की इजाजत होती है और साथ ही यह अकाउंट जीरो बैलेंस पर भी खोला जा सकता है. अमूमन बैंक में खाता खोलने के लिए 1000 रुपये डिपॉजिट करने होते हैं. इसके अलावा, साधारण अकाउंट के एटीएम इस्तेमाल करने पर दूसरे बैंक चार्ज करते हैं. नए नियमों के मुताबिक, सैलरी अकाउंट के एटीएम (ATM) से पैसा निकालने में दूसरे बैंक से 3 बार मुफ्त पैसे निकालने और अपनी ब्रांच पर मुफ्त में पैसे निकालने की सुविधा भी मिलती है. नए नियम के मुताबिक ये सुविधा कुछ ही बैंक एटीएम पर उपलब्ध है. जैसे कोटक महिंद्रा बैंक और फेडरेल बैंक जैसे छोटे बैंक में ये सुविधा देते हैं. एचडीएफसी (HDFC Bank) और आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank) एक तय लिमिट के बाद मुफ्त ट्रांजेक्शन नहीं देते.

VIDEO

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.