close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अफगानिस्तान के खिलाफ विश्व कप में आगाज करेगा ऑस्ट्रेलिया, नजरें स्मिथ और वार्नर पर

ऑस्ट्रेलिया के स्टार बल्लेबाजों पर गेंद से छेड़खानी मामले में एक साल का प्रतिबंध लगाया गया था लेकिन इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी के बाद से दोनों शानदार फार्म में हैं.

अफगानिस्तान के खिलाफ विश्व कप में आगाज करेगा ऑस्ट्रेलिया, नजरें स्मिथ और वार्नर पर
इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी के बाद से दोनों शानदार फार्म में हैं. (फाइल फोटो)

लंदन: पांच बार की चैंपियन ऑस्ट्रेलिया विश्व कप (World Cup 2019) में शनिवार को अफगानिस्तान के खिलाफ अपने अभियान का आगाज करेगी तो सभी की नजरें स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर पर लगी होंगी. ऑस्ट्रेलिया के स्टार बल्लेबाजों पर गेंद से छेड़खानी मामले में एक साल का प्रतिबंध लगाया गया था लेकिन इंटरनेशनल क्रिकेट में वापसी के बाद से दोनों शानदार फार्म में हैं.

विश्व कप से ठीक पहले इंडियन प्रीमियर लीग में वार्नर ने सर्वाधिक 692 रन बनाये जबकि स्मिथ ने इंग्लैंड के खिलाफ अभ्यास मैच में शतक जमाया. गत चैम्पियन टीम के लिये पिछला साल उतार चढाव से भरा रहा लेकिन आरोन फिंच की अगुवाई में टीम सही समय पर फार्म में लौटी है. इस बार भी वह खिताब के प्रबल दावेदारों में से है.

पांच मैचों की वनडे सीरीज में भारत को 3-2 से हराने वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम ने स्मिथ और वार्नर का बांहे खोलकर स्वागत किया. उन्हें हालांकि इंग्लैंड के प्रशंसकों की हूटिंग का सामना करना पड़ सकता है. पूर्व कप्तान स्मिथ को अभ्यास मैच के दौरान ‘धोखेबाज’ जैसे ताने सुनने पड़े थे.

यह भी पढ़ें- World Cup 2019: बेन स्टोक्स ने मैच में लपका अनोखा कैच, VIDEO देख रह जाएंगे दंग

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ब्रेट ली को इस जोड़ी से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद है लेकिन उन्होंने कहा कि इंग्लैंड में दोनों को सहनशीलता से काम लेना होगा.

ली ने कहा, ‘‘उन्हें कुछ साबित नहीं करना है . वे दोनों ऑस्ट्रेलिया के लिये फिर खेलकर ही बहुत खुश है . ऑस्ट्रेलियाई टीम ने दिल खोलकर उनका स्वागत किया है लेकिन इंग्लैंड में उन्हें छींटाकशी का सामना करना पड़ेगा और इसके लिये सब्र से काम लेना होगा.’’

ऑस्ट्रेलिया के पास पैट कमिंस और मिशेल स्टार्क जैसे तेज गेंदबाज है जिनका साथ देने के लिये जासन बेहरेनडोर्फ, नाथन कूल्टर नाइल और केन रिचर्डसन होंगे. स्पिनर एडम जाम्पा और नाथन लियोन गेंदबाजी को विविधता देते हैं. उन्होंने इंग्लैंड और श्रीलंका के खिलाफ अभ्यास मैचों में अच्छा प्रदर्शन किया.

दूसरी ओर अफगानिस्तान का यह दूसरा विश्व कप है. सहायक देश से पूर्णकालिक क्रिकेट देश का दर्जा पाने की अफगानिस्तान की कहानी परीकथा जैसी है.

विश्व कप से दो महीने पहले अफगानिस्तान टीम का कप्तान बदला गया. असगर अफगान की जगह गुलबदन नायब को कप्तान बनाया गया जिससे टीम के सीनियर खिलाड़ी खफा हो गए थे . अब हालांकि टीम का पूरा फोकस विश्व कप पर है .

मुख्य चयनकर्ता दौलत खान अहमदजइ ने कहा, ‘‘गुलबदन ने कहा है कि वह विश्व कप में असगर के अनुभव का पूरा इस्तेमाल करेगा. अब टीम एकजुट है. इस तरह के बदलाव टीम में होते हैं.’’

अफगानिस्तान ने अभ्यास मैच में पाकिस्तान को हराकर अपने तेवर जाहिर कर दिये थे. अहमदजइ ने कहा, ‘‘2015 विश्व कप में टीम में राशिद और मुजीब नहीं थे लेकिन इस बार हमारी टीम मजबूत है और हम उलटफेर जरूर करेंगे.’’

(इनपुट-भाषा)