2016 में तौसीफ के मामा ने किया था इंस्पेक्टर का अपहरण, अब SIT करेगी पूछताछ

एसआईटी (SIT) के सूत्रों के मुताबिक, तौसीफ का सगा मामा गुरुग्राम में साल 2016 में पुलिस इंस्पेक्टर का अपहरण कर चुका है और इस मामले में भोंडसी जेल में सजा काट रहा है. 

2016 में तौसीफ के मामा ने किया था इंस्पेक्टर का अपहरण, अब SIT करेगी पूछताछ

बल्लभगढ़: फरीदाबाद पुलिस ने निकिता के हत्या के आरोपी तौसीफ को गुरुवार को कोर्ट में पेश किया. उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. इस मामले से जुड़े दूसरे आरोपी रेहान को कल पेश किया जाएगा. बता दें कि नि​किता हत्याकांड (Nikita Murder Case)  में एसआईटी (SIT) अब आरोपी तौसीफ के मामा से पूछताछ करेगी.

एसआईटी के सूत्रों के मुताबिक, तौसीफ का सगा मामा गुरुग्राम में साल 2016 में पुलिस इंस्पेक्टर का अपहरण कर चुका है और इस मामले में भोंडसी जेल में सजा काट रहा है. तौसीफ के मामा इस्लामुद्दीन को 12 साल की सजा सुनाई गई है.

एसआईटी के सूत्रों की मानें तो तौसीफ की अपने मामा से भी बातचीत होती थी. जेल में बंद मामा से एसआईटी जल्द पूछताछ करेगी.

पीड़ित परिवार से मिलने पहुंची करणी सेना
दूसरी तरफ करणी सेना (Karni Sena) का एक दल पीड़ित परिवार से बल्लभगढ़ मिलने पहुंचा. करणी सेना के सूरमजपाल अम्मू ने कहा कि​ निकिता ने अपने धर्म को बचाने के लिए अपना बलिदान दिया है. अब हिंदुस्तान में लव जेहाद (Love Jihad) नहीं होगा. आज राहुल, सोनिया के बारे में ज्यादा नहीं बोलना चाहता.

ये भी पढ़ें- निकिता की जिंदगी में नासूर बन चुका था तौसीफ, पढ़ें Ground Report

इसके साथ सूरजपाल अम्मू ने कहा कि जो चैनेल ये मुद्दा उठा रहे हैं, उनका धन्यवाद करना चाहता हूं. लेकिन अब हम बर्दाश्त नहीं करेंगे, मैं मांग करता हूं कि इसका फैसला जल्द हो. मैं मांग करता हूं कि परिवार को न्याय मिले. अभी न कोई मौलाना बोल रहा है, न प्रियंका राहुल बोल रहे हैं, दही जम गई गई मुंह में. इंडिया गेट और बॉलीवुड से कोई बोल नहीं रहा है. हम छोड़ेंगे नहीं, फरीदाबाद चौक पर इसे फांसी दी जाए.

निकिता मर्डर केस में तीसरी गिरफ़्तारी
बल्लभगढ़ से एक बड़ी खबर यह भी है कि निकिता मर्डर केस में तीसरी गिरफ़्तारी हुई है.  हत्यारे तौसीफ को देसी कट्टा मुहैया कराने वाला अपराधी अजरु को नूंह ज़िले से गिरफ़्तार किया गया है. फरीदाबाद क्राइम ब्रांच की यह एक और बड़ी उपलब्धि है.

अग्रवाल कॉलेज के बाहर धरने पर बैठे छात्र-छात्राओं को पुलिस ने हटाया
निकिता हत्याकांड के विरोध में अग्रवाल कॉलेज के बाहर छात्र धरने पर बैठे थे लेकिन पुलिस ने यहां बैठे छात्र-छात्राओं को बलपूर्वक धरना स्थल से हटा दिया. देर रात 1 बजे बल्लभगढ़ पुलिस ने टेंट को उखाड़ा और अपने साथ लेकर चले गए.

ये भी देखें-