• 542/542 लक्ष्य 272
  • बीजेपी+

    354बीजेपी+

  • कांग्रेस+

    90कांग्रेस+

  • अन्य

    98अन्य

टिकट न मिलने पर भोजपुरी एक्टर पवन सिंह ने कहा- 'BJP का समर्पित कार्यकर्ता हूं'

पवन सिंह ने कहा कि उन्होंने गरीबी को काफी करीब से देखा है, 9 वर्ष की आयु से ही उन्होंने संघर्ष किया है. आज इस मुकाम पर वे हैं, वहां भी खुद को एक आम आदमी समझते हैं. जो कुछ दिया है भोजपुरी भाषी दर्शकों श्रोताओं ने उन्हें दिया है. उन्हें इस बात का कभी घमंड नहीं होता कि वह स्टार है, सुपरस्टार हैं. 

टिकट न मिलने पर भोजपुरी एक्टर पवन सिंह ने कहा- 'BJP का समर्पित कार्यकर्ता हूं'
पवन सिंह ने कहा कि देश को एक सशक्त प्रधानमंत्री, एक सशक्त जननायक की आवश्यकता है (फोटो साभारः पवन सिंह, फेसबुक)

नई दिल्ली: मैं बीजेपी का समर्पित कार्यकर्ता हूं, मैंने किसी पद की लालसा में दल की सदस्यता नहीं ली थी. मैं देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश के नवनिर्माण में अपना अंशदान करना चाहता हूं. यह कहना है भोजपुरी के सुपरस्टार गायक और नायक पवन सिंह का. भोजपुरी सुपरस्टार पवन सिंह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी राष्ट्रवादी पार्टी है. कैडर की पार्टी, विचारधारा की पार्टी है. ईमानदार निष्ठावान कार्यकर्ताओं की पार्टी है. देश का वह हर नागरिक जो देश से प्रेम करता है, जिसके लिए मातृभूमि माता एक समान है, जो देश की सरहद को अपने सीने पर गोली खाकर सुरक्षित रखने की लालसा रखता है, उसकी पार्टी है बीजेपी. 

गरीबी को काफी करीब से देखा है
पवन सिंह ने कहा कि उन्होंने गरीबी को काफी करीब से देखा है, 9 वर्ष की आयु से ही उन्होंने संघर्ष किया है. आज इस मुकाम पर वे हैं, वहां भी खुद को एक आम आदमी समझते हैं. जो कुछ दिया है भोजपुरी भाषी दर्शकों श्रोताओं ने उन्हें दिया है. उन्हें इस बात का कभी घमंड नहीं होता कि वह स्टार है, सुपरस्टार हैं. आज भी खुद को एक आम आदमी ही मानते हैं. राजनीति में प्रवेश के सवाल पर उन्होंने कहा कि वे किसी पद की लालच में बीजेपी में शामिल नहीं हुए थे. हां, यह जरूर था कि भारतीय जनता पार्टी ने उन्हें संगठन में प्रचार प्रसार की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी, जिसे उन्होंने अपने कार्यक्रमों में से समय निकाल कर पूरा किया. 

इस बात कि जानकारी नहीं है
बीजेपी के द्वारा अंतिम समय में पश्चिम बंगाल से फाइनल टिकट कटवा दिए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा इस बात कि जानकारी नहीं है और न ही उन्हें लगता है कि किसी ने उनका टिकट कटवाया होगा. पार्टी ने जो भी निर्णय लिया होगा उचित लिया होगा. वह सुनी सुनाई किसी तरह की बातों में विश्वास नहीं करते, विरोधियों के प्रति भी मन में श्रद्धा रखते हैं. जो कोई भी उनके प्रति छल की मानसिकता रखता है, उसके दीर्घायु होने की वे कामना करते हैं. बिहार के क्षत्रिय संगठनों द्वारा उनके टिकट नहीं मिलने के बाद शुरू हुए आंदोलन को लेकर पवन सिंह ने कहा कि वे हाथ जोड़कर सभी से निवेदन करते हैं कि चुनाव के समय में सभी लोग भारतीय जनता पार्टी और उसके सहयोगी दलों के लिए कार्य करें. 

सुनी सुनाई बातों पर विश्वास नहीं करते
देश को एक सशक्त प्रधानमंत्री, एक सशक्त जननायक की आवश्यकता है. पूरा देश आज नरेंद्र मोदी जी के चेहरे को देखकर देश में मतदान कर रहा है. वह किसी निजी स्वार्थ के लिए राजनीति में नहीं आए. जनता ने उन्हें बहुत कुछ दिया है, जिसका वे आजीवन ऋणी रहेंगे. जो लोग उन्हें चाहते हैं, जो लोग उन्हें प्यार करते हैं. उनके अंदर रोष जरूर है पर वे सभी से हाथ जोड़कर निवेदन करते हैं कि किसी भी तरह के आंदोलन या बयानबाजी से बचें. हो सकता है कि विरोधियों की सुनियोजित साजिश चुनाव के इस घड़ी में उनको भड़काने के लिए किया गया हो. उन्होंने कहा कि वह भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के संपर्क में हैं, किसी तरह की सुनी सुनाई बातों पर विश्वास नहीं करते. 

झांसे में नहीं आते पवन सिंह
वे पार्टी के निष्ठावान कार्यकर्ता हैं और किसी भी तरह के तत्कालिक लाभ या प्रलोभन के लिए इसी तरह झांसे में नहीं आते. बातचीत के क्रम में पवन सिंह ने बताया कि क्षत्रिय संगठनों से उनका विशेष लगाव शुरू से ही रहा है, चाहे राजस्थान हो, दिल्ली हो, मध्य प्रदेश हो, उत्तर प्रदेश और बिहार व झारखंड हो या पश्चिम बंगाल हो, किसी भी क्षत्रिय संगठन के द्वारा आयोजित सामूहिक विवाह राष्ट्र निर्माण से जुड़े कार्यक्रमों में शिरकत करते रहते हैं. इसलिए उनके चाहने वाले लोगों की तादाद काफी है. लोगों को लगता होगा कि मुझे टिकट मिलना चाहिए. अपने चाहने वाले लोगों से निवेदन करना चाहते हैं कि इस घड़ी में राष्ट्र निर्माण के भागीदार बनें. 

मैं राजपूत हूं, पीछे से वार नहीं करता
पवन सिंह ने कहा कि फिलहाल वह पार्टी के लिए चुनाव प्रचार के लिए भी उपलब्ध हैं. पार्टी को अगर लगेगा कि उन्हें कहां-कहां इस्तेमाल किया जा सकता है. पार्टी जहां कहीं भी आदेश देगी, वे चुनाव प्रचार के लिए जाएंगे. फिलहाल उनकी आधा दर्जन से ज्यादा फिल्मों की शूटिंग चल रही है. बिहार में उनकी कई फिल्में छठे सातवें सप्ताह में अच्छा बिजनेस कर रही हैं. स्टेज शो भी चल रहे हैं. सामाजिक गतिविधियों में भी सक्रिय हैं. उन्हें कहीं से भी नहीं लगता है कि किसी व्यक्ति विशेष के द्वारा भारतीय जनता पार्टी में उनके साथ डबल क्रॉस किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि मैं राजपूत हूं, पीछे से वार नहीं करता. आन बान शान के लिए सर कटाना पसंद करता हूं, सर झुकाना नहीं. वे पूरी निष्ठा के साथ पार्टी से जुड़े हुए हैं और जुड़े रहेंगे.

भोजपुरी फिल्मों की और खबर पढ़ें